Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
देश

‘वैक्सीन रजिस्ट्रेशन’ के बहाने लोगों से साइबर धोखाधड़ी

भले ही अधिकारी आने वाले हफ्तों में कोरोनोवायरस के खिलाफ टीकाकरण करने के लिए तैयार हों, लेकिन असामाजिक तत्व उत्तर प्रदेश के निवासियों को फोन कर वैक्सीन पंजीकरण के बहाने उनसे व्यक्तिगत जानकारियां मांग रहे हैं। इस तरह की धोखाधड़ी के कई मामले अधिकारियों के संज्ञान में सामने आए हैं। गोरखपुर, देवरिया, बस्ती, मऊ, गाजीपुर,

 भले ही अधिकारी आने वाले हफ्तों में कोरोनोवायरस के खिलाफ टीकाकरण करने के लिए तैयार हों, लेकिन असामाजिक तत्व उत्तर प्रदेश के निवासियों को फोन कर वैक्सीन पंजीकरण के बहाने उनसे व्यक्तिगत जानकारियां मांग रहे हैं। इस तरह की धोखाधड़ी के कई मामले अधिकारियों के संज्ञान में सामने आए हैं। गोरखपुर, देवरिया, बस्ती, मऊ, गाजीपुर, और प्रतापगढ़ में बड़ी संख्या में लोगों को आधार नंबर, बैंक खाता और बीमा पॉलिसी विवरण जैसे महत्वपूर्ण व्यक्तिगत विवरण देने के लिए साइबर अपराधियों द्वारा फोन किया गया है।

इन साइबर धोखाधड़ी में भोले-भाले लोगों के फंसने की आशंका के कारण, स्वास्थ्य और पुलिस अधिकारियों ने अब जनता से इनके जाल में नहीं फंसने और किसी भी जानकारी को साझा नहीं करने की अपील की है।


एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, “स्वास्थ्य विभाग लोगों को पंजीकरण या टीकाकरण के लिए कोई फोन नहीं कर रहा है। फ्रंटलाइन वॉरियर्स का टीकाकरण संभवत: जनवरी 2021 के तीसरे सप्ताह में शुरू होगा।”

यह भी पढ़ें: क्या वैक्सीन कोरोनावायरस के प्रकार-भेद के लिए उपयोगी है?

उन्होंने कहा, “वैक्सीन के लिए पंजीकरण के नाम पर किसी को कोई विवरण प्रस्तुत करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि लोग साइबर अपराध का शिकार हो सकते हैं। कोविड-19 टीकाकरण के लिए पंजीकरण के नाम पर धोखाधड़ी के कई मामले हमारे संज्ञान में आए हैं।”

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक दावा शेरपा ने कहा, “टीकाकरण के लिए पंजीकरण के नाम पर ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले प्रकाश में आए हैं। इसलिए, मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे इस तरह के झांसे में न आएं।”(आईएएनएस)

Popular

पराग अग्रवाल, ट्विटर सीईओ (Twitter)

जैक डोर्सी की जगह ट्विटर के नए भारतीय मूल के सीईओ पराग अग्रवाल (Parag Agrawal) को मंगलवार को अपने ही प्लेटफॉर्म पर 11 साल पुराने एक ट्वीट के लिए ट्रोल किया गया, जिसमें नस्लवाद के ऊपर टिप्पणी की गई थी। 2010 में, जब वह ट्विटर के कर्मचारी भी नहीं थे, तब अग्रवाल ने अमेरिका में नस्लवाद और इस्लामोफोबिया का मजाक उड़ाते हुए एक कॉमेडियन का हवाला दिया था।

अग्रवाल ने 26 अक्टूबर, 2010 को पोस्ट किए गए ट्वीट में कहा था, "अगर वे मुसलमानों और चरमपंथियों के बीच अंतर नहीं करने वाले हैं, तो मैं गोरे लोगों और नस्लवादियों के बीच अंतर क्यों करूं?"

इस पर सवाल उठाते हुए, कोलोराडो के चौथे कांग्रेसनल डिस्ट्रिक्ट का प्रतिनिधित्व करने वाले रिपब्लिकन केन बक ने पूछा कि कैसे उपयोगकर्ता ट्विटर के नए सीईओ पर सभी के साथ समान व्यवहार करने पर भरोसा कर सकते हैं।

हालांकि, अग्रवाल ने एक यूजर को अपनी टिप्पणी स्पष्ट करने में जल्दबाजी की। उन्होंने पोस्ट किया, "मैं द डेली शो से आसिफ मांडवी को उद्धृत कर रहा था। आप जो लेख पढ़ रहे हैं वह मेरी वर्तमान मानसिक स्थिति के लिए बहुत गहरा लगता है।"

Keep Reading Show less

उत्तर प्रदेश में इस योजना से लगभग 10 छात्रों को फायदा मिलेगा। (Wikimedia Commons)

उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath) जल्द ही राज्य में छात्रों को स्मार्टफोन और टैबलेट(Smartphone And Tablet) के मुफ्त वितरण के प्रबंधन के लिए डीजी शक्ति पोर्टल(DIGI Shakti Portal) लॉन्च करेंगे। पहली खेप में कुल 2.5 लाख टैबलेट और 5 लाख स्मार्टफोन बांटे जाएंगे। वितरण दिसंबर के दूसरे सप्ताह से शुरू हो जाएगा।

छात्रों के लिए राहत के रूप में, उन्हें मुफ्त स्मार्टफोन और टैबलेट प्राप्त करने के लिए कहीं भी पंजीकरण करने की आवश्यकता नहीं है। महाविद्यालयों द्वारा छात्रों का डाटा विश्वविद्यालय को दिया जा रहा है और छात्रों का डाटा फीडिंग विश्वविद्यालय स्तर पर ही किया जा रहा है। अभी लगभग 27 लाख छात्रों का डाटा पोर्टल पर अपलोड किया जा चुका है। शेष अन्य छात्रों की डाटा फीडिंग की प्रक्रिया में भी तेजी लाई जा रही है।

Keep Reading Show less

जी. किशन रेड्डी, पर्यटन मंत्री [Wikimedia Commons]

कोरोना महामारी के दौरान जहां लोग बेरोजगार हो रहे हैं , ऐसे समय में देश में रोजगार के नए अवसर दे रहा पर्यटन मंत्रालय। पर्यटन मंत्री जी. किशन रेड्डी (G. Kishan Reddy) के अनुसार फिलहाल देश में पर्यटन क्षेत्र का योगदान लगभग 15 फीसदी है।

पर्यटन मंत्री जी. किशन रेड्डी (G. Kishan Reddy) ने कहा, साल 2017-18, 2018-19 और 2019-20 के लिए तीसरे पर्यटन उग्रह खाते (टीएसए) के अनुसार देश के कुल रोजगार में पर्यटन क्षेत्र का योगदान लगभग 15 फीसदी है। पर्यटन के कारण लगभग 228 मिलियन नौकरियां प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष दोनों तरह से देश के लोगों ने हासिल की।

Keep reading... Show less