Saturday, May 8, 2021
Home संस्कृति खजुराहो के मंदिर प्रांगण में 44 साल बाद हो रहा है नृत्य...

खजुराहो के मंदिर प्रांगण में 44 साल बाद हो रहा है नृत्य समारोह

अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन नगरी खजुराहो में 42 साल बाद मंदिर प्रांगण में नृत्य महोत्सव का आयोजन किया गया है।


अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन नगरी खजुराहो में 42 साल बाद मंदिर प्रांगण में नृत्य महोत्सव का आयोजन किया गया है। राज्य की संस्कृति, पर्यटन और आध्यात्म मंत्री ऊषा ठाकुर ने इसका उद्घाटन किया। बीते सालों में यह समारोह मंदिर प्रांगण के बाहर होता था। ऊषा ठाकुर ने शनिवार रात को 47वें खजुराहो नृत्य समारोह का शुभारंभ कन्या पूजन एवं दीप प्रज्‍जवलित कर किया। इस बार के आयोजन की मुख्य विशेषता यह है कि 44 वर्षों के बाद 47वां महोत्सव मां जगदंबा और कंदरिया महादेव मंदिर के प्रांगण में शुरू हुआ। अभी तक यह समारोह मंदिर प्रांगण के बाहर हेाता था मगर पीछे मंदिर नजर आते थे, इस बार यह समारोह मंदिर प्रांगण में ही हो रहा है।

मुख्य अतिथि और मंत्री ऊषा ठाकुर ने कहा कि कोविड-19 को मुक्ति का संदेश देता यह भारत न सिर्फ आर्थिक उपार्जन की गतिविधियों को सु²ढ़ कर रहा है, अपितु सामान्य जीवन की ओर अग्रसर हो रहा है। खजुराहो चंदेलकालीन अमूल्य धरोहर की गाथा है। यह भारतीय मूल दर्शन का चित्रण है। इसमें अर्थ, धर्म, काम और मोक्ष विद्यमान हैं। खजुराहो शाक्य, शिव और वैष्णव के अद्भुत संगम की स्थली है। 1838 में ब्रिटिश कैप्टन बट ने खजुराहो को तलाशा। यह 1986 में यूनेस्को में दर्ज हुआ।
 

khujraho
खजुराहो के मंदिर । ( Wikimedia Commons )

यह भी पढ़ें: बंगाल में सियासी घमासान के बीच उठ रहे हैं कई नए मुद्दे

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खजुराहो नृत्य समारोह को लेकर दिए अपने वर्चुअल संदेश में कहा, “इस बार का नृत्य समारोह अपने आप में अनूठा है। यह मंदिर प्रांगण में 44 वर्षों बाद हो रहा है। इसका आयोजन 1975 में शुरू हुआ। खजुराहो सिर्फ समारोह ही नहीं है अपितु यह उपासना, साधना और आराधना भी है।” उन्होंने कहा कि खजुराहो आयोजन के 50 वर्ष पूरे होने पर इसके आयोजन को भव्यता प्रदान की जाएगी।

संस्कृति विभाग के प्रमुख सचिव शिवशेखर शुक्ला ने खजुराहो नृत्य समारोह का ब्यौरा दिया। इस अवसर पर उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत एवं कला अकादमी भोपाल द्वारा ललित कला पुरस्कार की 10 विभिन्न क्षेत्रों के लिए मूर्धन्य प्रतिभाओं को पुरस्कार प्रदान कर शाल-श्रीफल से उनका सम्मान किया गया। प्रत्येक पुरस्कारों के लिए 51 हजार रूपए की राशि दी गई। आभार प्रदर्शन संस्कृति विभाग के संचालक अदिति जोशी ने माना। (आईएएनएस)
 

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,640FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी