DCGI ने भारत बायोटेक इंट्रानैसल वैक्सीन के तीसरे चरण के परीक्षण को मंजूरी दी

0
26
DGCI ने भारत बायोटेक इंट्रानैसल वैक्सीन के तीसरे चरण के परीक्षण को मंजूरी दी। [Pixabay]

हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक (Bharat Biotech) को बुधवार को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) से अपने इंट्रानैसल कोविड वैक्सीन को बूस्टर शॉट के रूप में परीक्षण करने के लिए “सैद्धांतिक” मंजूरी मिल गयी है। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया की विषय विशेषज्ञ समिति (Subject Experts Committee) ने इंट्रानैसल वैक्सीन के लिए “चरण 3 श्रेष्ठता अध्ययन और चरण 3 बूस्टर खुराक अध्ययन” परीक्षण करने के लिए ‘सैद्धांतिक रूप से’ मंजूरी दी है।

भारत बायोटेक ने पिछले हफ्ते इसकी मंजूरी मांगी थी और उन लोगों के लिए बूस्टर खुराक का प्रस्ताव दिया था जिन्हें पहले से ही कोविशील्ड (Covishield) और कोवैक्सिन (Covaxin) के टीके लगाए जा चुके हैं।

मंगलवार को समिति ने वैक्सीन निर्माता के इस आवेदन पर चर्चा करने के लिए एक बैठक की थी, जिसके बाद SEC ने कंपनी से बूस्टर स्टडी के लिए प्रोटोकॉल जमा करने को कहा है।

एक सूत्र का कहना है कि भारत बायोटेक (Bharat Biotech) का लक्ष्य 5,000 स्वस्थ विषयों पर क्लिनिकल परीक्षण करना है, जिनमें आधे या 2,500 व्यक्ति जिन्हें कोविशील्ड प्राप्त हुआ है और अन्य 2,500 जिन्हें कोवैक्सिन दिया गया है शामिल होंगे।

बता दें कि इंट्रानैसल बूस्टर (Intranasal COVID vaccine) खुराक दूसरी डोज के लगभग छह महीने बाद दी जाएगी। सूत्र के अनुसार, क्लिनिकल ट्रायल के बाद मार्च तक भारत में नेजल बूस्टर वैक्सीन लॉन्च होने की संभावना है।

यह भी पढ़ें : वाराणसी में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनज़र एक बार फिर शुरू किया जाएगा BHU स्थित DRDO अस्पताल

गौरतलब है 25 दिसंबर को राष्ट्र को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जल्द ही देश में नेजल वैक्सीन विकसित करने का आश्वासन दिया था। (आईएएनएस)

Input: IANS ; Edited By: Manisha Singh

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here