Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
ओपिनियन

मृत्यु की खबर पर भी जहर घोलने से नहीं कतराते ये तथाकथित ‘एक्टिविस्ट’

वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना की मृत्यु के पश्चात तथाकथित एक्टिविस्ट शरजील उस्मानी ऐसा घृणात्मक बयान दिया है, जिसके लिए उन्हे हर तरफ से आलोचनाएं ही मिल रही हैं।

दिवंगत वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना।(सोशल मीडिया)

आज दोपहर को एक दुखद खबर सामने आई कि मीडिया जगत के जाने-माने वरिष्ठ पत्रकार ‘रोहित सरदाना‘ अब इस दुनिया में नहीं रहे। इस बात की पुष्टि की है ज़ी न्यूज़ के वरिष्ठ पत्रकार सुधीर चौधरी ने जिन्होंने ट्विटर के जरिए इस खबर को साझा किया। जिन्होंने लिखा कि “अब से थोड़ी पहले जीतेन्द्र शर्मा का फ़ोन आया। उसने जो कहा सुनकर मेरे हाथ काँपने लगे।हमारे मित्र और सहयोगी रोहित सरदाना की मृत्यु की ख़बर थी।ये वाइरस हमारे इतने क़रीब से किसी को उठा ले जाएगा ये कल्पना नहीं की थी।इसके लिए मैं तैयार नहीं था।ये भगवान की नाइंसाफ़ी है..”

वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना की मृत्यु का कारण ‘कार्डियक अरेस्ट’ बताया जा रहा है। इससे 1 हफ्ते पहले वह कोरोना संक्रमण की चपेट आ गए थे। इसके बाद से ही ट्विटर पर रोहित सरदाना की दिवंगत आत्मा को शांति मिले ऐसी प्रार्थनाएं की जा रही है। #RohitSardana ट्विटर पर ट्रेंडिंग पर है। इसी कड़ी में केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने भी ट्वीट कर रोहित सरदाना की आत्मा को शांति मिले ऐसी प्रार्थना की है।

केंद्रीय मंत्री की तरह अन्य प्रसिद्ध चेहरों ने भी ऐसी ही प्रार्थनाओं करते हुए ट्वीट साझा किए हैं। किन्तु, इसी बीच हमारी नजर एक ऐसे ट्वीट पर पड़ी जिसमें जहर और घृणा के इलावा और कुछ नहीं दिख रहा था। वह ट्वीट था कट्टरवादी सोच और हिन्दुओं को गाली देने वाले तथाकथित एक्टिविस्ट शरजील उस्मानी का जिसने अपने ट्वीट में लिखा कि “मनोरोगी, विकृत असत्यभाषी और नरसंहार कराने वाला जो वह था, को पत्रकार के रूप में नहीं पहचाना जाना चाहिए।”

यह भी पढ़ें: क्या हिन्दुओं को बदनाम करके ये (Sharjeel Usmani) बचाएंगे इस्लाम को?

इस ट्वीट के आने के बाद शरजील उस्मानी पर आलोचनाओं का अम्बार लग गया। उसे तरह-तरह से गालियां दी जा रहीं हैं। एक ट्विटर यूज़र ने उस्मानी को, मृत्यु पर घृणा फैलाने पर जम कर लताड़ा है। उन्होंने ट्वीट में लिखा “तुम्हारे जैसे जाहिलों को तुम्हारा खुदा भी इंसान नहीं मानता होगा, गलती हो गई जो तुम्हें धरती पर भेज दिया। शर्म नहीं आती, किसी के देहांत पर इस तरह की घृणास्पद टिप्पणी करते हुए। बदतमीज कहीं के, तुम्हारी घटिया मानसिकता साफ झलक रही है।”

यह वही शरजील उस्मानी है जिसने एक कार्यक्रम में कहा था कि “हिन्दुस्तान में हिन्दु समाज सड़ चुका है।” शरजील उस्मानी जैसे एक्टिविस्ट का साथ दे रहे हैं लिब्रलधारी मीडिया के तथाकथित पत्रकार और एक्टिविस्ट जिन्हे यह लगता है कि दिवंगत पत्रकार रोहित सरदाना की मृत्यु कर्मा का खेल है क्योंकि उन्होंने किसान आंदोलन में रची जा रही खालिस्तानी षड्यंत्र का मुद्दा उठाया था।

Popular

कोहली ने आज ट्विटर के जरिए एक बयान में इसकी घोषणा की। (IANS)

वर्तमान में भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे बड़े खिलाड़ी और कप्तान विराट कोहली ने गुरूवार को घोषणा की कि वह इस साल अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 विश्व कप के बाद टी20 प्रारूप की कप्तानी छोड़ेंगे। उनका ये एलान करोड़ो दिलो को धक्का देने वाला था क्योंकि कोहली को हर कोई कप्तान के रूप में देखना चाहता है । कई दिनों से चल रहे संशय पर विराम लगाते हुए कोहली ने आज ट्विटर के जरिए एक बयान में इसकी घोषणा की। कोहली ने बताया कि वह इस साल अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 विश्व कप के बाद टी20 के कप्तानी पद को छोड़ देंगे।

ट्वीट के जरिए उन्होंने इस यात्रा के दौरान उनका साथ देने के लिए सभी का धन्यवाद दिया। कोहली ने बताया कि उन्होंने यह फैसला अपने वर्कलोड को मैनेज करने के लिए लिया है। उनका वर्कलोड बढ़ गया था ।

Keep Reading Show less

मंगल ग्रह की सतह (Wikimedia Commons)

मंगल ग्रह पर घर बनाने का सपना हकीकत में बदल सकता हैं। वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष यात्रियों के खून, पसीने और आँसुओ की मदद से कंक्रीट जैसी सामग्री बनाई है, जिसकी वजह से यह संभव हो सकता है। मंगल ग्रह पर छोटी सी निर्माण सामग्री लेकर जाना भी काफी महंगा साबित हो सकता है। इसलिए उन संसाधनों का उपयोग करना होगा जो कि साइट पर प्राप्त कर सकते हैं।

मैनचेस्टर विश्वविद्यालय के अध्ययन में यह पता लगा है कि मानव रक्त से एक प्रोटीन, मूत्र, पसीने या आँसू से एक यौगिक के साथ संयुक्त, नकली चंद्रमा या मंगल की मिट्टी को एक साथ चिपका सकता है ताकि साधारण कंक्रीट की तुलना में मजबूत सामग्री का उत्पादन किया जा सके, जो अतिरिक्त-स्थलीय वातावरण में निर्माण कार्य के लिए पूरी तरह से अनुकूल हो।

Keep Reading Show less

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (instagram , virat kohali)

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री का लोहा इन दिनों हर जगह माना जा रहा है । इसी क्रम में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान मार्क टेलर ने कहा है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री हाल के दिनों में टेस्ट क्रिकेट के महान समर्थक और प्रमोटर हैं। साथ ही उन्होंने कोहली की तारीफ भी की खेल को प्राथमिकता देते हुए वो वास्तव में टेस्ट क्रिकेट खेलना चाहते हैं।"
ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान मार्क टेलर ने इस बात पर अपनी चिंता व्यक्त की ,कि भविष्य में टेस्ट क्रिकेट कब तक प्राथमिकता में रहेगा। उन्होंने कहा, "चिंता यह है कि यह कब तक जारी रहेगा। उनका यह भी कहना है किइसमें कोई संदेह नहीं है कि जैसे-जैसे हम बड़े होते जाते हैं और नई पीढ़ी आती है, मेरे जैसे लोगों को जिस तरह टेस्ट क्रिकेट से प्यार है यह कम हो सकता है और यह हमारी पुरानी पीढ़ी के लिए चिंता का विषय है।"

\u0930\u0935\u093f \u0936\u093e\u0938\u094d\u0924\u094d\u0930\u0940 भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी और वर्तमान कोच रवि शास्त्री (wikimedia commons)

Keep reading... Show less