Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
देश

केंद्र सरकार बिहार के 10 जिलों में कराएगी जलवायु अनुकूल खेती

केंद्र सरकार पर्यावरण संरक्षण के लिए देश भर के विभिन्न जिलों में जलवायु अनुकूल खेती कराएगी जिसमे बिहार के 10 जिलें शामिल हैं।

केंद्र सरकार बिहार के 10 जिलों में कराएगी जलवायु अनुकूल खेती। (Wikimedia Commons)

देश में पर्यावरण संरक्षण(Climate Conservation) के लिए केंद्र सरकार(Central Government) ने एक और कदम उठाया है। केंद्र सरकार बिहार के 10 जिलों में जलवायु अनुकूल खेती(Climate Friendly Farming) शुरू करने वाली है। इसके लिए केंद्रीय कृषि अनुसन्धान परिषद(Central Council of Agricultural Research) ने देश भर के जिलों का चयन कर लिया है जिसमे बिहार(Bihar) के 10 जिले शामिल हैं। केंद्र द्वारा जलवायु अनुकूल खेती के लिए बिहार के दरभंगा, पूर्वी चम्पारण, पश्चिमी चम्पारण, सीवान, सहरसा, लखीसराय, किशनगंज, भागलपुर, नालंदा और सीतामढ़ी जिले समेत 10 जिलों को शामिल किया गया हैं।

सरकार का मानना है है कि जलवायु में हो रहे परिवर्तन का प्रभाव खेती पर भी पड़ा है, जिससे किसानों को नुकसान उठाना पड़ा है। ऐसे में जलवायु अनुकूल खेती कारगर पहल हो सकती है।

उल्लेखनीय है पूर्व से ही बिहार सरकार राज्य के कई जिलों में जलवायु अनुकूल खेती प्रारंभ कर चुकी है, जिसका लाभ भी किसानों को मिल रहा है। ऐसे में केंद्र की योजना राज्य सरकार की शुरू की गई योजना से अलग होगी। केंद्र की इस योजना में खेती के साथ पशुपालन और उद्यान से जुड़ी गतिविधियों को जलवायु के अनुकूल बनाया जाएगा।

बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर के प्रसार शिक्षा निदेशक डॉ. आर के सोहाने बताते हैं कि राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही जलवायु अनुकूल खेती योजना से अतिरिक्त इस योजना को नेशनल इनोवेशन इन क्लाइमेट रिसिलियेंट एग्रीकल्चर (निकरा) योजना नाम दिया गया है।

उन्होंने कहा कि निकरा द्वारा सभी चयनित जिलों के कृषि विज्ञान केंद्र इस योजना को संचालित करेंगे, जबकि बिहार कृषि विश्वविद्यालय योजना की निगरानी करेगा।


यह भी पढ़ें- भगवान कृष्ण गुजराती बनकर द्वारकाधीश के रूप में लोकप्रिय हुए-पुरुषोत्तम रुपाला

उन्होंने बताया कि इसमें वैज्ञानिकों की सलाह भी किसानों को दी जाएगी। बिना जुताई की खेती, कृषि यंत्र, तकनीक से संबंधित जानकारियां किसानों के बीच प्रचारित किया जाएगा।

Input-IANS; Edited By- Saksham Nagar

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें

Popular

5 राज्यों के विधानसभा चुनावों की तारीख़ की घोषणा के बाद कार्यकर्तओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पहला सवांद कार्यक्रम (Wikimedia Commons)


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपने संसदीय क्षेत्र वारणशी के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से बातचीत की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा कार्यकर्ताओं से बात करते हुए कहा कि "उन्हें किसानों को रसायन मुक्त उर्वरकों के उपयोग के बारे में जागरूक करना चाहिए।"

नमो ऐप के जरिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान बताया कि नमो ऐप में 'कमल पुष्प" नाम से एक बहुत ही उपयोगी एवं दिलचस्प सेक्शन है जो आपको प्रेरक पार्टी कार्यकर्ताओं के बारे में जानने और अपने विचारों को साझा करने का अवसर देता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नमो ऐप के सेक्शन 'कमल पुष्प' में लोगों को योगदान देने के लिए आग्रह किया। उन्होंने बताया की इसकी कुछ विशेषतायें पार्टी सदस्यों को प्रेरित करती है।

Keep Reading Show less

हुदा मुथाना वर्ष 2014 में आतंकवादी समूह आईएस में शामिल हुई थी। घर वापसी की उसकी अपील पर यूएस कोर्ट ने सुनवाई से इनकार कर दिया (Wikimedia Commons )

2014 में अमेरिका के अपने घर से भाग कर सीरिया के अतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट (आईएस) में शामिल होने वाली 27 वर्षीय हुदा मुथाना वापस अपने घर लौटने की जद्दोजहद में लगी है। हुदा मुथाना वर्ष 2014 में आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट के साथ शामिल हुई साथ ही आईएस के साथ मिल कर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर आतंकवादी हमलों की सराहना की और अन्य अमेरिकियों को आईएस में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया था। हुदा मुथाना को अपने किये पर गहरा अफसोस है।

वर्ष 2019 में हुदा मुथाना के पिता ने संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) के सुप्रीम कोर्ट में अमेरिका वापस लौटने के मामले पर तत्कालीन ट्रंप प्रशासन के खिलाफ मुक़द्दमा दायर किया था। संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) के सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को बिना किसी टिप्पणी के हुदा मुथाना के इस मामले पर सुनवाई से इनकार कर दिया।

Keep Reading Show less

गूगल लॉन्च कर सकता है नया फोल्डेबल फोन जिसको कह सकते है "पिक्सल नोटपैड" (Pixabay)

सर्च ईंजन गूगल अपने पहले फ़ोल्डबल फ़ोन 'पिक्सल फोल्ड' को लॉन्च करने की योजना बना रही है। गूगल ने एक रिपोर्ट में दावा किया है कि इस फोल्डेबल फोन को पिक्सल नोटपैड कहा जा सकता है।
गिज्मोचाइना के रिपोर्ट के अनुसार, सिम सेटअप स्क्रीन के एनिमेशन में एक स्मार्टफोन दिखाया गया है जिसमें एक साधारण सिंगल-स्क्रीन डिजाइन नही बल्कि एक बड़ा फोल्डेबल डिस्प्ले है।

नाइन टू फाइव गूगल के अनुसार, यह डिवाइस गैलेक्सी जेड फोल्ड 3 से कम कीमत की हो सकती है। इस फोल्डेबल डिवाइस की कीमत 1,799 डॉलर हो सकती है।

Keep reading... Show less