वामपंथियों ने सोने के चंद टुकड़ों के लिए केरल को धोखा दिया है : मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  केरल के मुख्यमंत्री पर प्रहार करते हुए कहा जैसे चांदी के चंद टुकड़ों के लिए यहूदियों ने प्रभु यीशू को धोखा दिया, उसी तरह एलडीएफ ने सोने के चंद टुकड़ों के लिए केरल को धोखा दिया।
 | 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी | (PIB)


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने मंगलवार को एक चुनावी रैली में केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन (Pinarayi Vijayan) पर सीधे प्रहार करते हुए कहा कि "एलडीएफ (लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट) के बारे में कहा जा सकता है कि जैसे चांदी के चंद टुकड़ों के लिए यहूदियों ने प्रभु यीशू को धोखा दिया, उसी तरह एलडीएफ (LDF) ने सोने के चंद टुकड़ों के लिए केरल को धोखा दिया।" सत्तारूढ़ वामदल और कांग्रेस (Congress) की अगुवाई वाली यूडीएफ दोनों को आड़े हाथों लेते हुए मोदी ने मतदाताओं से 'मेट्रोमैन' के रूप में विख्यात भारतीय जनता पार्टी के ई. श्रीधरन (Sreedharan) को चुनने का आग्रह किया जो "सबसे अच्छा विकल्प और विकास का चेहरा" हैं।

मोदी ने कहा कि केरल में इनका शासन एक मैच फिक्िंसग की तरह है जिसमें एक मोर्चा 5 साल तक प्रदेश को लूटता है तो इसके बाद दूसरा मोर्चा इसे अगले 5 वर्ष तक लूटता है। इन दोनों ने लोगों को गुमराह किया है। केंद्र में लेफ्ट यूपीए (UPA) का समर्थन करता है और चुनाव के दौरान वे एक-दूसरे पर आरोप लगाते हैं। और, जब वे यहां सत्ता में आते हैं तो वे कार्रवाई नहीं करते हैं।

ठेठ केरल (Kerala) शैली के परिधान में सजे मोदी सुबह 10.45 बजे पलक्कड़ पहुंचे और सीधे जनसभा स्थल गए जहां लोगों का हुजूम उमड़ा हुआ था। पार्टी कार्यकर्ताओं ने यहां उनका उत्साहपूर्वक स्वागत किया।

उन्होंने कहा कि पलक्कड़ के लोगों का भाजपा के साथ घनिष्ठ संबंध है और वह राज्य में मौजूदा स्थिति से अलग दृष्टिकोण के साथ आए हैं।

मोदी ने कहा "राज्य में स्थिति यह है कि यूडीएफ ने सूरज की किरणों (मतलब सौर घोटाला) को भी नहीं बख्शा है। वामपंथी यहूदियों (Yahudi) की तरह हैं जिन्होंने चांदी के चंद टुकड़ों के लिए प्रभु यीशू को धोखा दिया, उसी तरह (सोने की तस्करी घोटाले का जिक्र करते हुए) वामपंथियों ने सोने के चंद टुकड़ों के लिए केरल को धोखा दिया है।"


उन्होंने कहा कि इस सबका मूल कारण यह है कि केरल की जनता इन दो मोर्चो के हाथों में खेल रही है। वे अपनी जेबें भरने के लिए वोट बैंक की राजनीति करते हैं।

मोदी ने कहा, "भाजपा (BJP) अलग है। अब देश भर के युवा और पेशेवर लोग भाजपा में शामिल हो चुके हैं।"

मोदी के साथ मंच पर 88-वर्षीय श्रीधरन भी मौजूद थे, जो पलक्कड़ विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के उम्मीदवार हैं। मोदी ने कहा, "मेट्रोमैन एक ऐसे व्यक्ति हैं जिन्होंने अपने जीवन में बहुत कुछ हासिल किया है।"

मोदी ने कहा, "वह केरल के एक गर्वित पुत्र हैं और अगर उन्हें सत्ता चाहिए होती तो वह इसे 20 साल पहले पा सकते थे। उन्हें पता था कि जब वह भाजपा में शामिल होंगे तो उन पर प्रहार होगा।"

केरल (Kerala) में प्रतिद्वंद्वी मोचरें पर जमकर प्रहार करते हुए मोदी ने उन्हें सबसे अधिक बार सड़कें जाम करने के लिए दोषी ठहराया, जिसके परिणामस्वरूप केरल का विकास धीमा हो गया है।

मोदी ने कहा कि यही वजह है कि भाजपा को चुना जाना चाहिए क्योंकि हमने (फास्ट - एफ, ए, एस, टी) तेज विकास की नीति को अपनाया है। एफ - मत्स्य और उर्वरक; ए - कृषि और आयुर्वेद; एस - कौशल विकास और सामाजिक न्याय और टी - पर्यटन और प्रौद्योगिकी।

मोदी ने कहा, "हम आप सभी को विश्वास दिलाते हैं कि हम इन नीतियों के साथ चलेंगे और केरल तेजी से विकास करेगा।" सबरीमाला मंदिर के मुद्दे पर मोदी ने वाम और यूडीएफ दोनों को आड़े हाथों लिया।

यह भी पढ़ें :- इस बार बाबा साहेब आंबेडकर की जयंती को यादगार बनाएंगे : प्रधानमंत्री मोदी

उन्होंने कहा, "केरल की संस्कृति (Culture) और परंपराओं को वामपंथियों ने शर्मसार किया है। लेकिन मुझे बहुत गर्व है कि हमारी पार्टी इसके साथ खड़ी है और हम सरकार को बताना चाहते हैं कि हम डरेंगे नहीं।"

मोदी ने कहा, "जब लोगों ने विरोध किया तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। यहां तक कि संस्कृति और परंपराओं के बारे में बोलने के कारण हमारे प्रदेश अध्यक्ष के. सुरेंद्रन को भी गिरफ्तार कर लिया गया। जब यह सब हुआ तब कांग्रेस (Congress) के नेतृत्व वाला यूडीएफ चुप था।" (आईएएनएस-SM)