Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
देश

यूपी के युवा जॉब क्रिएटर' बनेंगे : योगी

योगी ने गुरुवार को गोरखपुर को विश्व स्तरीय वाटर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स की सौगात दी, साथ ही 1305 करोड़ रुपये की लागत वाली 114 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया।

योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश(Image: Yogi Adityanath, Twitter)

यूपी (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि यूपी के युवा अब 'जॉब सीकर नहीं बल्कि जॉब क्रिएटर' बनेंगे। प्रदेश सरकार की तरफ से आईटीआई, पॉलिटेक्निक, मेडिकल-पैरा मेडिकल, प्रौद्योगिकी शिक्षा संस्थानों, विश्वविद्यालय व कॉलेजों के स्नातक-परास्नातक के विद्यार्थियों को दिए जा रहे टैबलेट और स्मार्ट फोन इसमें मददगार होंगे। मुख्यमंत्री योगी ने गुरुवार को गोरखपुर को विश्व स्तरीय वाटर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स की सौगात दी, साथ ही 1305 करोड़ रुपये की लागत वाली 114 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। रामगढ़ताल क्षेत्र के महंत दिग्विजयनाथ स्मृति पार्क में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने नववर्ष के दो दिन पूर्व जनपद को आईटीआई, पॉलिटेक्निक, गुरु गोरखनाथ शोधपीठ, राजकीय इंटर कॉलेज, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, अक्षयपात्रा केंद्रीयकृत एमडीएम रसोईघर, गोरखपुर विश्वविद्यालय में छात्रावास, ड्रग वेयरहाउस, ओवरब्रिज, फोरलेन, कई सड़कों-नालियों समेत हर विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्यों का उपहार दिया।

सीएम ने 1020 करोड़ रुपये की 102 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व 285 करोड़ रुपये की लागत वाली 12 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। समारोह में मुख्यमंत्री (Yogi Adityanath) की मौजूदगी में एक हजार विद्यार्थियों को स्मार्ट फोन व टैबलेट का वितरण किया गया। 24 युवाओं को मुख्यमंत्री ने मंच पर अपने हाथों से टैबलेट व स्मार्ट फोन प्रदान किए। इस दौरान उन्होंने इन विद्यार्थियों से आत्मीय संवाद कर उनकी पढ़ाई के बारे में पूछा और उन्हें आगे बढ़ने की प्रेरणा दी।

योगी ने कहा कि राज्य सरकार ने तय किया है कि स्नातक, परास्नातक, तकनीकी, मेडिकल आदि की शिक्षा से जुड़े छात्र -छात्राओं को निशुल्क टैबलेट व स्मार्ट फोन दिए जाएंगे । 25 दिसंबर को लखनऊ से इसका शुभारंभ किया गया है। लखनऊ में 60,000 युवाओं को टैबलेट व स्मार्ट फोन दिए गए। पंजीकृत शेष विद्यार्थियों को उनके संस्थाओं में टैबलेट व स्मार्ट फोन का वितरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह काम आगे भी जारी रहेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि 2022 के आगमन के पहले गोरखपुर को कल और आज मिलाकर करीब 1850 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का उपहार मिला है। इनमें सबसे खास है वाटर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स। इस कॉम्प्लेक्स के माध्यम से युवा वाटर स्पोर्ट्स के क्षेत्र में बेहतरीन तरीके से पारंगत होंगे। यह जल क्रीड़ा के लिए ट्रेनिंग का भी एक महत्वपूर्ण केंद्र बनेगा।


इससे पहले मुख्यमंत्री ने वाटर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स का विधि विधान से पूजन के बाद उद्घाटन किया। उन्होंने कॉम्प्लेक्स के मॉडल को देखा और कुछ कमरों का निरीक्षण भी किया। कॉम्प्लेक्स के उद्घाटन के पश्चात वह नौका विहार पहुंचे और रामगढ़ताल में बोटिंग की।

मुख्यमंत्री ने फिर दोहराया कि विकास का कोई विकल्प नहीं होता। विकास नागरिकों के जीवन में व्यापक परिवर्तन का कारक होता है। उन्होंने कहा कि गोरखपुर और प्रदेश के बारे में नकारात्मक धारणा बदलने में कामयाबी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'सबका साथ-सबका विकास' मंत्र से मिली। आज पूरे प्रदेश में इसका प्रभाव दिख रहा है। इंफ्रास्ट्रक्च र डेवलपमेंट के बड़े कार्य हुए हैं। कहीं खाद कारखाना खुला है, एम्स बना है, मेडिकल कॉलेज बने हैं, चीनी मिलें खुली हैं, नए एयरपोर्ट बने हैं।

योगी (Yogi Adityanath) ने कहा कि दिसंबर का माह गोरखपुर के लिए बहुत सौभाग्यशाली है। 7 दिसंबर को प्रधानमंत्री ने यहां खाद कारखाना, एम्स और इंसेफेलाइटिस, डेंगू, कालाजार, चिकनगुनिया आदि बीमारियों की जांच व अनुसन्धान के लिए रीजनल मेडिकल रिसर्च सेंटर का लोकार्पण किया। नगर निगम के भव्य सदन भवन का उद्घाटन हुआ जहां से महानगर के विकास की ठोस कार्य योजनाएं बनाई जाएंगी। गोरखपुर को वाटर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स की सौगात मिली है। गोरखपुर में रोशनी से जगमगाती चौड़ी सड़कें हैं, तो सबको अनवरत बिजली मिल रही है।

यह भी पढ़ें : बीजेपी ने सपा पर लगाया मोदी की कानपुर रैली के दौरान साजिश रचने का आरोप

समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्वागत करते हुए सांसद रवि किशन शुक्ल ने कहा कि वाटर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के रूप में मुख्यमंत्री ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के साथ ही बिहार और नेपाल के युवाओं के लिए भी एक बड़ी सौगात दी है। वाटर स्पोर्ट्स के रोमांच का आनंद लेने के लिए अब बैंकाक या गोवा जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। सांसद ने निषाद समाज के लिए योगी सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओं की भी विस्तार से जानकारी दी। साथ ही समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि जब भी भारत माता, प्रभु श्रीराम और बाबा विश्वनाथ के जयकारे लगते हैं तो सपा के लोगों की छाती पर सांप लोटने लगता है। (आईएएनएस)

Input: IANS

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

From Your Site Articles

Popular

अल फैज़ान मुस्लिम फंड के मालिक मोहम्मद फैज़ी ने की खाताधारकों के साथ धोखाधड़ी (wikimedia commons)

बिजनौर के नगीना शहर में मोहल्ला लुहारी सराय में स्थित 'अल फैजान मुस्लिम फंड लिमिटेड' का मालिक मोहम्मद फैज़ी खाताधारकों के साथ ठगी(Fraud) कर करोड़ो रुपए की नगदी के साथ सोने-चांदी जेवरात लेकर फरार हो गया है। पुलिस ने कई लोगों के शिकायत के बाद प्रबंधक मोहम्मद फ़ैज़ी और एक अन्य के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। तमाम लोगों के शिकायत के आधार पर पुलिस ने 'अल फैजान म्युचुअल बेनिफिट निधि लिमिटेड' मोहल्ला लाल सराय नगीना के का संचालन के रहे मोहम्मद फैजी पुत्र अहमदुल्ला निवासी शाहजीर नगीना 420 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर जाँच शुरू कर दी है। नगीना के मोहल्ला लाल सराय में स्थित 'अल फैज़ान मुस्लिम फंड लिमिटेड' का संचालन मोहम्मद फैज़ी बीते पांच साल से कर रहा था। खाताधारकों को बिना कोई सूचना दिए आरोपी मोहम्मद फैज़ी शाखा बन्द कर फरार हो गया।

Bijnor, bijnor police, Bank fraud अल फैज़ान मुस्लिम फंड लिमिटेड तले मोहम्मद फैज़ी ने खाताधारकों को लगाया चूना। करोड़ो ले कर फरार। ( Pixabay )

बता दें कि 'अल फैज़ान मुस्लिम फंड' की शाखा में लोग प्रतिदिन लाखों रुपये का लेनदेन करते थे। ख़बर है की अल फैजान की शाखा में नगीना व आसपास के लोग के करोड़ों रुपए की नकदी के साथ साथ सोने चांदी के जेवरात भी जमा करते थे। रोज की तरह जब लोग अल फैज़ान फंड लिमिटेड की शाखा में लेन देन के लिए पहुंचे तो उन्हें निर्धारित समय सीमा के बाद भी शाखा बंद मिली। इसके बाद खाताधारकों को शक हुआ तो पता चला कि अल फैजान मुस्लिम फंड शाखा का संचालक मोहम्मद फैज़ी करोड़ों रुपए की नकदी के साथ साथ खाताधारकों के शाखा में जमा सोने-चांदी के जेवरात भी लेकर फरार हो गया। पुलिस की माने तो अब तक 170 से भी अधिक तहरीर दर्ज की जा चुकी हैं और पुलिस खाताधारकों के हुए नुकसान की खोज बीन में जुट गई है ।

Keep Reading Show less

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Wikimedia Commons)

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी(Narendra Modi) के राष्ट्रीय स्टार्टअप दिवस(National Startup Day) की पहल की सराहना करते हुए कई भारतीय स्टार्टअप(Indian Startup) ने रविवार को कहा कि यह न केवल देश के नवाचारकर्ताओं और युवा उद्यमियों को प्रोत्साहित करेगा, बल्कि आर्थिक क्षेत्र में वैश्विक निवेशकों के विश्वास को भी बढ़ावा देगा।

मोदी ने शनिवार को 160 से अधिक प्रमुख स्टार्टअप्स के साथ वर्चुअल बैठक में कहा था कि भारत की अर्थव्यवस्था की रीढ़ माने छोटे व्यवसायों की तरह, स्टार्टअप्स भी एक अहम भूमिका अदा करने जा रहे हैं।

फिनटेक प्लेटफॉर्म रिफाइन के सीईओ और सह-संस्थापक चित्रेश शर्मा ने एक मीडिया एजेंसी को बताया हमने नए जमाने के संस्थापकों को मौजूदा श्रेणियों से परे सोचने और वास्तविक सामाजिक समस्याओं को हल करने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रेरित करने में एक छोटी भूमिका निभाई है। जरूरत पड़ने पर इसके लिए पूरी तरह से एक नई श्रेणी बनाने की आवश्यकता हो सकती है। 'किसी खास कारण के लिए व्यापार भारतीय भारतीय स्टार्टअप की बेहतरीन कहानी लिखने के लिए बहुत ही अहम है।

उन्होंने कहा कि भारतीय स्टार्टअप विकास की राह पर हैं और हम दुनिया भर में निवेशकों का विश्वास हासिल करना जारी रखेंगे। यह बात हाल ही निवेश की संख्या में बढ़ोत्तरी होने से साबित होती है। भारत में 2021 में 1 अरब डॉलर से अधिक कीमत वाली 46 कंपनियां अस्तित्व में आई हैं

Keep Reading Show less

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी SI ने चुनावों में गड़बड़ी के लिए अपनी आतंकी शाखाएं सक्रिय कर दी हैं।

पंजाब(Punjab) में चुनावी प्रक्रिया को पटरी से उतारने और पंजाब में खालिस्तानी पदचिन्हों को बढ़ाने के उद्देश्य से, पाकिस्तान की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) ने राज्य में और उत्तर के कुछ हिस्सों में और अधिक आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए अपने आतंकी संगठनों को सक्रिय कर दिया है। प्रदेश, खुफिया एजेंसियों ने चेतावनी दी है।

खुफिया जानकारी के हवाले से सुरक्षा व्यवस्था के सूत्रों ने कहा कि आईएसआई प्रायोजित सिख आतंकी संगठन चुनावी रैलियों(Election Rallies) को निशाना बना सकते हैं और पंजाब, यूपी(Uttar Pradesh) और उत्तराखंड(Uttarakhand) के कुछ हिस्सों में चुनावी प्रक्रिया के दौरान कुछ महत्वपूर्ण नेताओं या वीवीआईपी को मारने का प्रयास कर सकते हैं।

Keep reading... Show less