स्टार्टअप की बहार लाने के लिए तैयार है मध्य प्रदेश की Startup Policy!

स्टार्टअप की बहार लाने के लिए तैयार है मध्य प्रदेश की Startup Policy!
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान [IANS]

मध्य प्रदेश में नए उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के मकसद से राज्य सरकार ने स्टार्टअप नीति(startup policy) बनाई है। इसका वर्चुअली शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करने वाले हैं। इस दौरान सफल उद्यमियों की कहानियां लोगों के सामने होंगी तो वहीं सफलता के गुर भी बनाए जाएंगे।

मध्यप्रदेश स्टार्टअप कॉन्क्लेव-2022(Startup Conclave-2022) इंदौर के ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में 13 मई को होगा। तीन सत्रों में होने वाले कॉन्क्लेव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अंतिम सत्र में वर्चुअली जुड़ेंगे और मध्यप्रदेश की स्टार्टअप नीति(startup policy) एवं पोर्टल का शुभारंभ कर सम्बोधित भी करेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा मध्यप्रदेश के चुनिंदा स्टार्टअप्स की सफलता की कहानियों का संग्रह जारी किया जाएगा।

PM नरेन्द्र मोदी अंतिम सत्र में वर्चुअली जुड़ेंगे और मध्यप्रदेश की स्टार्टअप नीति(startup policy) एवं पोर्टल का शुभारंभ कर सम्बोधित भी करेंगे
PM नरेन्द्र मोदी अंतिम सत्र में वर्चुअली जुड़ेंगे और मध्यप्रदेश की स्टार्टअप नीति(startup policy) एवं पोर्टल का शुभारंभ कर सम्बोधित भी करेंगे

एमएसएमई के सचिव पी. नरहरि ने बताया कि कॉन्क्लेव की शुरूआत में जन-प्रतिनिधि, नीति निर्माता, इनोवेटर्स, केंद्र और राज्य के प्रशासक, स्टार्टअप्स, संभावित उद्यमी, स्टार्टअप इको-सिस्टम की अनेक हस्तियां शामिल होंगी। इन प्रमुख व्यक्तियों में शिक्षाविद, निवेशक, मेंटर्स और देश के स्टार्टअप इको-सिस्टम के अन्य हितधारक भी शामिल होंगे। सत्र में तीन घटक सम्मिलित रहेंगे, जिसमें सेक्टोरल सेशन, स्टार्टअप एक्सपो और प्रधानमंत्री की वर्चुअल उपस्थिति में स्टार्टअप नीति का शुभारंभ होगा।

नरहरि ने बताया कि प्रमुख सत्रों में अनेक गतिविधियां होंगी। एमपीटीआईई के सहयोग से स्पीड मेंटरिंग सत्र में स्टार्टअप्स, शैक्षणिक संस्थानों तथा स्टार्टअप स्पेस के प्रमुख लीडर्स मिलेंगे और संवाद करेंगे। स्टार्ट-अप कैसे शुरू करें पर सत्र होगा, जिसमें प्रतिभागियों को नीति-निमार्ताओं और निर्णयकर्ता बतायेंगे कि स्टार्टअप कैसे शुरू किया जाए और आने वाली चुनौतियों का सामना कैसे किया जाए।

फंडिंग-सत्र में स्टार्टअप और संभावित उद्यमी टियर-एक और टियर-दो शहरों में फंडिंग के विभिन्न तरीकों पर संवाद करेंगे। पिचिंग-सत्र में स्टार्टअप निवेशकों के साथ सहयोग के अवसरों पर चर्चा और फंडिंग के लिए अपने आइडिया को प्रस्तुत करेंगे। स्टार्टअप के इकोसिस्टम सपोर्ट-सत्र में प्रतिभागी यह जानेंगे कि उनकी ब्रांड वैल्यू कैसे बढ़ाई जाए और एमपी स्टार्टअप इकोसिस्टम को कैसे बढ़ावा दिया जाए।

आईएएनएस(LG)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com