गांधी परिवार से 2 करोड़ की पेंटिंग खरीदने के लिए मजबूर किया गया था : राणा कपूर

गांधी परिवार से 2 करोड़ की पेंटिंग खरीदने के लिए मजबूर किया गया था : राणा कपूर
कपूर ने कहा, "यह एक जबरदस्ती बिक्री थी जिसके लिए मैं कभी तैयार नहीं था।"(IANS)

यस बैंक (Yes Bank) के सह-संस्थापक राणा कपूर (Co-Founder Rana Kapoor) ने ईडी (Enforcement Directorate) के सामने स्वीकार किया कि, उन्हें प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) से एमएफ हुसैन (M.F. Husain) की एक पेंटिंग खरीदने के लिए मजबूर किया गया था। कपूर ने यह भी स्वीकार किया कि, बिक्री के पैसे का इस्तेमाल गांधी परिवार(Gandhi Family) ने न्यूयॉर्क शहर में सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के इलाज के लिए किया था।

कपूर ने अपने अपने बयान में कहा कि, "सबसे पहले मैं यह बताना चाहता हूं कि यह एक ज़बरदस्ती बिक्री थी, जिसके लिए मैं कभी तैयार नहीं था।"

एक विशेष अदालत में संघीय धन शोधन रोधी एजेंसी (Federal anti-money laundering agency) के द्वारा दायर आरोप पत्र (Charge sheet) के अनुसार, कपूर ने कहा कि तत्कालीन पेट्रोलियम मंत्री मुरली देवड़ा (Murli Deora) ने, उन्हें पेंटिंग नहीं खरीदने से होने वाले नुकसान के बारे में बताया। उन्हें धमकी दी गयी कि, अगर पेंटिंग नही खरीदी तो गांधी परिवार से संबंध नहीं रख पाएंगे और परिणामस्वरूप उन्हें पद्म भूषण पुरस्कार नहीं मिल पाएगा।
मुरली देवड़ा के बारे में कपूर ने आरोप पत्र में कहा कि,"उन्होंने मुझे इस बारे में कई मोबाइल नंबरों से कॉल और मैसेज भी किए थे। वास्तव में, मैं इस सौदे के लिए बहुत अनिच्छुक था और मैंने कई बार इस सौदे से बचने की भी कोशिश की थी। कई बार उनके कॉल्स/मैसेज और व्यक्तिगत मुलाकातों को भी नजरअंदाज किया था।"

कपूर और उनके साथ उनका परिवार, डीएचएफएल के प्रमोटर कपिल(Kapil) और धीरज वधावन(Dheeraj Wadhawan) के साथ कई अन्य लोग मनी लॉन्ड्रिंग (Money laundering) के मामले का सामना कर रहे हैं। मार्च 2020 में मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार होने के बाद से कपूर अभी न्यायिक हिरासत में हैं।

कपूर ने कहा कि, उन्होंने पेंटिंग के लिए 2 करोड़ रुपये का भुगतान चेक में किया था। उन्होंने यह भी कहा कि, बाद में उन्हें मिलिंद देवड़ा (मुरली देवड़ा के बेटे और कांग्रेस के पूर्व सांसद) द्वारा बताया गया था कि, पेंटिंग के लिए दी गई राशि का इस्तेमाल गांधी परिवार ने न्यूयॉर्क में सोनिया गांधी के इलाज के लिए किया था।

कपूर ने ईडी को अहमद पटेल के साथ हुई बातचीत के बारे में भी बताया। अहमद पटेल को सोनिया गांधी और गांधी परिवार का करीबी माना जाता है। कपूर ने बताया कि, पटेल ने उनसे कहा था कि वह सोनिया गांधी के इलाज के लिए सही समय में गांधी परिवार का साथ देकर एक अच्छा काम कर रहे हैं, और उन्हें पद्म भूषण पुरस्कार के लिए योग्य माना जाएगा।

(DS/PTI)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com