अब छात्र सीखेंगे Cloud Computing और Machine Learning

देशभर में एआईसीटीई से संबंद्ध हजारों कॉलेजो के छात्र क्लाउड कंप्यूटिंग (Cloud Computing) एवं मशीन लर्निंग (Machine Learning) जैसे पाठ्यक्रमों का हिस्सा बनेंगे।
अब छात्र सीखेंगे Cloud Computing और Machine Learning
अब छात्र सीखेंगे Cloud Computing और Machine LearningCloud Computing and Machine Learning (IANS)

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) ने उच्च शिक्षा से जुड़े छात्रों को क्लाउड कंप्यूटिंग (Cloud Computing) एवं मशीन लर्निंग (Machine Learning, ML) का प्रशिक्षण देने की योजना बनाई है। इसके लिए शिक्षा मंत्रालय और एमेजॉन वेब सर्विसेज (AWS) ने साथ काम करने का निर्णय किया हैं। क्लाउड कंप्यूटिंग एवं मशीन लर्निंग के लिए शिक्षा मंत्रालय के निकाय ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) और अमेजॉन इंटरनेट सर्विसेज प्राईवेट लिमिटेड (AISPL) के बीच एक समझौता भी किया गया है। इस नए गठबंधन से देशभर में एआईसीटीई से संबंद्ध हजारों कॉलेजो के छात्र क्लाउड कंप्यूटिंग (Cloud Computing) एवं मशीन लर्निंग (Machine Learning) जैसे पाठ्यक्रमों का हिस्सा बनेंगे। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक इससे छात्रों को विश्व स्तरीय टेक्नोलॉजी से जोड़ा जा सकेगा। साथ ही भारत में भविष्य के लिए तैयार डिजिटल कौशल वाले कार्यबल का निर्माण करने में मदद मिलेगी।

डॉ. बुद्ध चंद्रशेखर, चीफ को-ऑर्डिनेटिंग ऑफिसर, ने कहा, 'राष्ट्रीय स्तर पर भविष्य की टेक्नॉलॉजी में डिजिटल कौशल का विकास करना शिक्षा मंत्रालय की मुख्य प्राथमिकता है। हमारे विद्यार्थियों को क्लाउड कंप्यूटिंग और मशीन लर्निंग का ज्ञान देना न केवल उन्हें रोजगार योग्य बनाने के लिए जरूरी है, बल्कि इससे इन महत्वपूर्ण कलाओं के क्षेत्र में क्षमता निर्माण भी होगा, जिससे भविष्य के उद्योगों को मदद मिलेगी। हमें खुशी है कि आत्मनिर्भर भारत (Atmanirbhar Bharat) बनाने के लिए कौशल प्रदान करने के भारत सरकार के उद्देश्य में सहयोग करने के लिए AWS जैसा औद्योगिक दिग्गज एआईसीटीए के साथ मिलकर काम कर रहा है।

एडब्लूएस के सुनील पीपी ने कहा, महामारी के दौरान हमने देखा कि हर आकार के संगठन की डिजिटल परिवर्तन की योजनाओं में काफी तेजी आ गई। इसके कारण नियोक्ताओं और उनके कर्मचारियों के लिए क्लाउड कंप्यूटिंग, साइबर सिक्योरिटी, और मशीन लर्निंग में उन्नत कौशल का प्रशिक्षण प्राप्त करने की जरूरत बढ़ गई। एडब्लूएस को अहसास है कि यह एक राष्ट्रीय प्राथमिकता है, और शिक्षा मंत्रालय के साथ घोषित भारत में प्रौद्योगिकी की प्रतिभा का विकास करने और देश की डिजिटल अर्थव्यवस्था को मजबूत करना हमारी प्रतिबद्धता का हिस्सा है।

अब छात्र सीखेंगे Cloud Computing और Machine Learning
Labour Department ने UP Rojgar Mela के माध्यम से 39474 युवाओं को दिया काम

'एडब्लूएस एजुकेट' छात्रों को उनकी गति से क्लाउड का कौशल प्राप्त करने, सीखने, अभ्यास करने और आकलन करने में मदद करने के लिए डिजाइन किए गए लैब्स और ऑनलाइन लर्निंग संसाधन प्रदान करने वाला एक कार्यक्रम है। यह कार्यक्रम शिक्षार्थियों के ज्ञान, लक्ष्यों और रुचियों के आधार पर केंद्रित प्रशिक्षण सामग्री द्वारा छात्रों का मार्गदर्शन करता है। शिक्षार्थी केवल अपना ईमेल आईडी देकर 'एडब्लूएस एजुकेट' के लिए पंजीकरण करा सकते हैं।

इसके अलावा एडब्लूएस डीपरेसर स्टूडेंट लीग द्वारा विद्यार्थियों को Cloud Computing और Machine Learning में कौशल प्रदान करने के लक्ष्य में मदद करेगा। एडब्लूएस डीपरेसर स्टूडेंट लीग का उद्देश्य उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को मशीन लर्निंग का परिचय देना और उन्हें प्रौद्योगिकी की खोज करने के लिए प्रेरित करना है। यह प्रतियोगिता प्रतिभागियों को मशीन लर्निंग सीखने और स्वायत्त ड्राईविंग एप्लीकेशंस बनाकर इसके साथ प्रयोग करने का एक दिलचस्प और मनोरंजक तरीका प्रदान करती है। यह भी शिक्षा मंत्रालय के सहयोग से चलाया जा रहा है। यह प्रतियोगिता 18 साल से अधिक उम्र के हर उस विद्यार्थी के लिए खुली है, जो वर्तमान में भारत में किसी उच्च शैक्षणिक संस्थान में पंजीकृत है।
(आईएएनएस/PS)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com