Friday, May 7, 2021
Home दुनिया कोविड महामारी से नहीं बच सकी दक्षिण अफ़्रीका की अर्थव्यवस्था !

कोविड महामारी से नहीं बच सकी दक्षिण अफ़्रीका की अर्थव्यवस्था !


कोविड महामारी के कारण बुरी तरह चरमराई दक्षिण अफ्रीका की अर्थव्यवस्था को तत्काल पटरी पर लाने के लिए राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने प्रभावी कार्रवाई का आह्वान किया है। सिन्हुआ न्यूज एजेंसी के मुताबिक, गुरुवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में रामफोसा ने कहा कि पिछले एक साल में दक्षिण अफ्रीका में विकास में तेज गिरावट और बेरोजगारी में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।

उन्होंने कहा कि देश की जीडीपी 2019 की तीसरी तिमाही और 2020 के बीच 6 फीसदी कम हो गई है, जबकि बेरोजगारी “अब 30.8 फीसदी पर पहुंच गई है।” पिछले साल 10.7 लाख लोगों को नौकरी गंवानी पड़ी।

राष्ट्रपति ने कहा कि 2021 की प्रमुख प्राथमिकताओं में महामारी को हराना, देश की आर्थिक सुधार में तेजी लाना, आर्थिक सुधारों को लागू करना और भ्रष्टाचार से लड़ना शामिल है।

उन्होंने कहा कि हमने जिन राहत के उपायों को लागू किया और अर्थव्यवस्था को चरणबद्ध तरीके से खोल दिया, उसके परिणामस्वरूप हमें उम्मीद है कि रोजगार में जोरदार सुधार होगा।

रामफोसा ने कहा कि संकट से जूझ रहे कारोबार के लिए 70 बिलियन से अधिक रैंड (4 बिलियन डॉलर) की कर में राहत दी गई है। कोविड-19 ऋण-गारंटी योजना के माध्यम से 13,000 व्यवसायों के लिए 18.9 बिलियन रैंड (1 बिलियन डॉलर) के ऋण स्वीकृत किए गए हैं।

कोविड महामारी के कारण बुरी तरह चरमराई दक्षिण अफ्रीका की अर्थव्यवस्था | (सांकेतिक चित्र , Unsplash) 

प्रशासन ने बड़े पैमाने पर बुनियादी ढांचा तैयार करने, उत्पादन बढ़ाने और ऊर्जा उत्पादन क्षमता बढ़ाने जैसे उपायों पर भी ध्यान केंद्रित किया है।

राष्ट्रपति के अनुसार, देश की प्रमुख बिजली प्रदाता सरकारी विद्युत कंपनी एस्कोम, जो कर्ज में डूबी हुई है, की उत्पादन क्षमता बढ़ाने के उद्देश्य से इसका पुनर्गठन किया गया है।

रामफोसा ने कहा कि 2021 की शुरुआत में मौसम की अनुकूल स्थिति का मतलब है कि निकट अवधि में कृषि क्षेत्र में व्यापक सुधार व वृद्धि की संभावना है।

यह भी पढ़े :- बाइडेन ने चीन पर पेंटागन टास्क फोर्स की घोषणा की, शी को कार्रवाई की चेतावनी

रामफोसा ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका अफ्रीकी महाद्वीपीय मुक्त व्यापार क्षेत्र (एएफसीएफटीए) द्वारा प्रदत्त अवसरों का भरपूर लाभ उठाएगा। उन्होंने कहा कि दक्षिण अफ्रीकी व्यवसायों के लिए एएफसीएफटीए पूरे महाद्वीप में बाजारों में विस्तार करने के लिए एक मंच प्रदान करता है, और साथ ही दक्षिण अफ्रीका को महाद्वीप के प्रवेश द्वार के रूप में स्थापित करने के लिए भी मंच प्रदान करता है। (आईएएनएस)
 

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,638FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी