इस साल ग्रैमी अवार्ड में भारत की हुई बड़ी जीत, जानिए किसे मिला ये अवार्ड

बैंड 'शक्ति' जिसमें शंकर महादेवन, जॉन मैकलॉलिन जाकिर हुसैन, वी सेल्वागणेश और गणेश राजगोपालन जैसे टैलेंटेड कलाकार हैं, इन्हें 'बेस्ट ग्लोबल म्यूजिक एल्बम' का अवार्ड मिला है।
Grammy Awards 2024 : 'शक्ति' को उनके लेटेस्ट म्यूजिक एल्बम 'दिस मोमेंट' के लिए 66वें ग्रैमी अवार्ड्स में, 'बेस्ट ग्लोबल म्यूजिक एल्बम' कैटगरी में विनर घोषित किया गया। (Wikimedia Commons)
Grammy Awards 2024 : 'शक्ति' को उनके लेटेस्ट म्यूजिक एल्बम 'दिस मोमेंट' के लिए 66वें ग्रैमी अवार्ड्स में, 'बेस्ट ग्लोबल म्यूजिक एल्बम' कैटगरी में विनर घोषित किया गया। (Wikimedia Commons)

Grammy Awards 2024 : दुनिया में आयोजित होने वाले तीन सबसे बड़े वार्षिक संगीत पुरस्कार समारोह जिसमें अमेरिकन म्यूज़िक अवार्ड्स, ग्रैमी अवार्ड और बिलबोर्ड म्यूज़िक अवार्ड्स शामिल हैं। इसमें से ग्रैमी अवार्ड्स क्रिप्टो डॉट कॉम एरीना, लॉस एंजेलिस में 5 फरवरी सोमवार को हुआ। इस बार के ग्रैमी अवॉर्ड्स 2024 में भारत की बड़ी जीत हुई है। भारत के फ्यूजन बैंड 'शक्ति' जिसमें शंकर महादेवन, जॉन मैकलॉलिन जाकिर हुसैन, वी सेल्वागणेश और गणेश राजगोपालन जैसे टैलेंटेड कलाकार हैं, इन्हें 'बेस्ट ग्लोबल म्यूजिक एल्बम' का अवार्ड मिला है। इस बैंड के अलावा बांसुरी वादक राकेश चौरसिया ने भी ग्रैमी अवार्ड जीता है।

आपको बता दें कि भारत के लिए मशहूर सितार वादक एवं संगीतकार स्वर्गीय पंडित रवि शंकर ने पहली बार 1968में ग्रैमी अवार्ड जीता था। पंडित रविशंकर के साथ, वेस्टर्न क्लासिकल म्यूजिक के कंडक्टर, जुबिन मेहता ने भी 5 बार भारत के लिए ग्रैमी अवार्ड जीता है।

भारत के फ्यूजन बैंड 'शक्ति' जिसमें शंकर महादेवन, जॉन मैकलॉलिन जाकिर हुसैन, वी सेल्वागणेश और गणेश राजगोपालन जैसे टैलेंटेड कलाकार हैं (Wikimedia Commons)
भारत के फ्यूजन बैंड 'शक्ति' जिसमें शंकर महादेवन, जॉन मैकलॉलिन जाकिर हुसैन, वी सेल्वागणेश और गणेश राजगोपालन जैसे टैलेंटेड कलाकार हैं (Wikimedia Commons)

भारतीय फ्यूजन बैंड को मिला अवार्ड

'शक्ति' को उनके लेटेस्ट म्यूजिक एल्बम 'दिस मोमेंट' के लिए 66वें ग्रैमी अवार्ड्स में, 'बेस्ट ग्लोबल म्यूजिक एल्बम' कैटगरी में विनर घोषित किया गया। 45 साल बाद बैंड ने अपना पहला एल्बम रिलीज किया था, जिसे सीधा ग्रैमी अवार्ड मिला है। इंग्लिश गिटारिस्ट जॉन मैकलॉलिन ने 1973 में भारतीय वायलिन प्लेयर एल. शंकर, तबला वादक जाकिर हुसैन और टी.एच. 'विक्कू' विनायकराम के साथ फ्यूजन बैंड 'शक्ति' की शुरुआत की थी लेकिन 1977 के बाद ये बैंड बहुत एक्टिव नहीं रहा।

1997 में जॉन मैकलॉलिन ने फिर से इसी कॉन्सेप्ट पर 'रिमेम्बर शक्ति' नाम से बैंड बनाया और इसमें वी. सेल्वागणेश, मैन्डलिन प्लेयर यू. श्रीनिवास और शंकर महादेवन को शामिल किया। 2020 में ये बैंड फिर से साथ आकार इन्होने 46 साल बाद अपना पहला एल्बम 'दिस मोमेंट' रिलीज किया।

जाकिर हुसैन को मिला तीसरी बार ग्रैमी अवार्ड

भारत के मशहूर तबला वादक जिन्हें पूरा भारत जानता है जाकिर हुसैन जी ने तीसरी बार ग्रैमी अवार्ड जीता हैं। इससे पहले उन्होंने एल्बम 'प्लेनेट ड्रम्स' के लिए टी.एच. 'विक्कू' विनायकराम के साथ ग्रैमी जीता था। 2008 में उन्हें 'ग्लोबल ड्रम प्रोजेक्ट' के लिए भी ये अवार्ड मिल चुका है।

Related Stories

No stories found.
logo
hindi.newsgram.com