आखिर क्यों छोड़ा बीना राय ने 1960 में बनी फिल्म 'मुगल-ए- आज़म' में काम करने का मौका

बहुचर्चित फिल्म 'अनारकली' में बीना के किरदार को देख कर आसिम ने अपनी अगली फिल्म 'मुगल-ए-आज़म' में लेने का फैसला किया।लेकिन बात नही बनी ,जानिए क्यों छोड़ा बीना राय ने सदी की सबसे बड़ी फिल्म में काम करने का मौका।
 फिल्म 'अनारकली' की अदाकारा बीना  राय

 फिल्म 'अनारकली' की अदाकारा बीना  राय

बीना राय (Wikimedia Commons)

न्यूज़ग्राम हिंदी : बीना राय ब्लैक एंड व्हाइट फिल्मों के दौर में अपनी अदाएं और खूबसूरती से फिल्मों में रंग भरने वाली मशहूर अदाकारा थीं। कई दशकों तक उन्होंने अपनी अदायगी से दर्शकों के दिलों में राज किया।उनकी बहुचर्चित फिल्म 'अनारकली' में उनके किरदार को देख के आसिम ने अपनी अगली फिल्म 'मुगल-ए-आज़म' में लेने का फैसला किया।लेकिन बात नही बनी ,जानिए क्यों छोड़ा बीना राय ने सदी की सबसे बड़ी फिल्म में काम करने का मौका।

बीना राय का जन्म 4 जून 1931 को पाकिस्तान के लाहौर में हुआ लेकिन बंटवारे के बाद वह अपने परिवार के साथ कानपुर आ गईं। इसके बाद लखनऊ जाकर उन्होंने अपने आगे की शिक्षा पूरी की जहां पढ़ते-पढ़ते उन्हें नाटक करने का शौक चढ़ा।इसी दौरान उन्होंने फिल्मों में एक्टिंग करने का फैसला किया और टैलेंट कॉन्टेस्ट में भाग लिया। यहां से शुरुआत हुई उनके फिल्मी सफ़र की। बीना राय की पहली फिल्म थी 'काली घटा'। इस फिल्म में उनकी खूबसूरती और अदाकारी की बहुत तारीफ़ की गई ।

अपने छोटे से फिल्मी सफ़र में उनकी मुलाकात 'औरत' फिल्म के सेट पर प्रेमनाथ से हुई।फिल्म में नाटक करते करते दोनों को असल में प्यार हो गया और साल 1952 तक इन्होंने शादी रचा ली। कामयाब होने के बावजूद बीना ने शादी करने का फैसला किया और घर संभालने के साथ ही फिल्मों में काम करना जारी रखा।

<div class="paragraphs"><p>बीना राय फिल्म 'औरत' में&nbsp;</p></div>

बीना राय फिल्म 'औरत' में 

बीना राय (Wikipedia)

आपको बता दें कि प्रेमनाथ बीना से पहले मधुबाला से प्रेम करते थे, शादी तक भी बात पहुंची थी लेकिन बात आगे नहीं बढ़ी। बीना राय ने अपने पति के इस प्रेम का ज़िक्र भी किया था और बताया कि प्रेम को यकीन नहीं हो रहा था कि मधुबाला बीमार हैं।

शादी के बाद अपने काम को जारी रखते हुए उन्होंने 'अनारकली' जैसी हिट फिल्म में काम किया।इस फिल्म के गाने भी खूब चले। बीना राय को दर्शक बेहद पसंद करते थे इस बात का प्रमाण था कि जहां एक तरफ़ सिनेमा हॉल में 'मुगल-ए-आज़म' लगती थी वही दूसरी तरफ़ 'अनारकली' ।7 साल बाद भी सिनेमा के परदे पर चल रही थी।

<div class="paragraphs"><p>&nbsp;फिल्म 'अनारकली' की अदाकारा बीना&nbsp; राय </p></div>
फिल्म 'गांधी गोडसे एक युद्ध' का पहला लुक सामने आया

'मुगल-ए-आज़म' जैसी बड़ी फिल्म में काम करने के लिए निर्देशक के आसिम ने बीना राय को लेने का फैसला किया हालांकि उन्होंने इसमें काम करने से मना कर दिया । कई लोगों का मानना है कि ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि बीना राय मुस्लिम कलाकारों के साथ काम नहीं करना चाहती थी लेकिन यह दावा गलत था।

इसके बाद बीना ने फिल्मों से दूरी बना ली और पूरी तरह से घर संभालने लगी। भले ही उनका सफर छोटा था लेकिन कई दशकों तक लोग उनकी अदाकारी के दीवाने थे |

VS

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com