Saturday, May 15, 2021
Home टेक्नोलॉजी हियरिंग प्राब्लम्स वाले लोगों के लिए भी प्रभावी हैं Galaxy Buds Pro

हियरिंग प्राब्लम्स वाले लोगों के लिए भी प्रभावी हैं Galaxy Buds Pro


 सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ( SAMSUNG ) ने सोमवार को कहा कि उनका गैलेक्सी बड्स प्रो (Galaxy buds pro ) वायरलेस ईयरबड्स उन लोगों के लिए भी कारगर है, जिन्हें सुनने में दिक्कत आती है। सैमसंग ( SAMSUNG ) के मुताबिक, कान, नाक और गले से संबंधित शोध के प्रति समर्पित एक जाने-माने साइंटिफिक जर्नल क्लिनिकल एंड एक्सपेरिमेंटल ओटोरिनोलैरिंगोलॉजी (सीईओ) में पिछले हफ्ते प्रकाशित एक शोध में सुझाया गया कि गैलेक्सी बड्स प्रो में शामिल एंबीयेंट साउंड फीचर उन लोगों के लिए मददगार है, जिनमें हल्के से मध्यम सुनने की कमी है।

इसका एंबीयेंट साउंड फीचर 20 डेसिबल तक आसपास की ध्वनि को एम्प्लीफाई करने की क्षमता रखता है। इनमें चार लेवल दिए गए हैं, जिनका चुनाव कर यूजर्स अपने आसपास की ध्वनि को अपने हिसाब से एडजस्ट कर सकता है।

कंपनी ने कहा कि सोल में सैमसंग मेडिकल सेंटर के साथ मिलकर इस शोध को अंजाम दिया गया।

योनहाप समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी पिछले दस सालों से सुनने की क्षमता पर मोबाइल डिवाइसों के प्रभाव का पता लगाने और यूजर्स के लिए साउंड एक्सपीरियंस को बेहतर बनाने की दिशा में काम कर रही है।

सैमसंग  ( SAMSUNG )  ने कहा, “शोध में सुनाई देने में सहायक संबंधी मशीन, एक पर्सनल साउंड एम्प्लीफिकेशन प्रोडक्ट और गैलेक्सी बड्स प्रो के प्रभाव का आकलन किया गया।”

शोध में पहले हल्के से मध्यम सुनने की कमी से ग्रस्त लोगों में ट्र वायरलेस ईयरबड्स के संभावित रूप से फायदेमंद होने का परीक्षण किया गया और इसके माध्यम से इस समस्या से परेशान दुनिया भर के 150 करोड़ लोगों की जिंदगी को संभावित रूप से सुधारने के बारे में सोचा गया।

गैलेक्सी बड्स प्रो (Galaxy buds pro ), पर्सनल साउंड एम्प्लीफिकेशन प्रोडक्ट और हियरिंग ऐड को तीन परीक्षणों में से होकर गुजरना पड़ा – इलेक्ट्रोएकॉस्टिक एसेस्मेंट, साउंड एम्प्लीफिकेशन इवैल्यूएशन और एक क्लिनिकल परफॉर्मेस इवैल्यूएशन।

कंपनी के मुताबिक, इलेक्ट्रोएकॉस्टिक एसेस्मेंट में गैलेक्सी बड्स प्रो साउंड प्रेशर लेवल, फ्रीक्वेंसी रेंज, इक्वीवैलेंट इनपुट नॉइज और टोटल हार्मोनिक डिस्टॉर्शन इन चारों परफॉर्मेस क्राइटीरिया पर खरा उतरा।
 

यह भी पढ़ें: “फेसबुक” वैक्सीन को लेकर गलत सूचनाओं से निपटने का विस्तार कर रही है।

बात जब साउंड एम्प्लीफिकेशन इवैल्यूएशन की आई, तो इसमें सात अलग-अलग फ्रीक्वेंसी का परीक्षण किया गया। इसमें सभी डिवाइसों में समान उचित स्तर का एम्प्लीफिकेशन दिखा।

इसी तरह से क्लिनिकल परफॉर्मेस इवैल्यूएशन में डिवाइस के साथ और इसके बिना लोगों के सुनने के स्तर के बारे में शोध किया गया और साथ ही साथ शब्दों और वाक्यों को पहचानने की इनकी क्षमता भी परखी गई। ये आंकड़े 1,000 हर्ट्ज, 2,000 हर्ट्ज और 6,000 हर्ट्ज के बीच रहे।

शोध में शामिल हुए लोगों की उम्र 63 साल की उम्र के आसापास रही। ( AK आईएएनएस )
  

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,635FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी