Tuesday, October 20, 2020
Home खेल धोनी के नंबर-7 पर खेलने से खुश नहीं हैं गंभीर

धोनी के नंबर-7 पर खेलने से खुश नहीं हैं गंभीर

आखिरी ओवर में लगाए गए तीन छक्के वह सिर्फ उनके रन थे। अगर कोई और कप्तान यह करता, नंबर-7 पर आकर बल्लेबाजी करता तो उनकी काफी आलोचना होती- गौतम गंभीर

 भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर को लगता है कि चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेले गए मैच में ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी करनी चाहिए थी। राजस्थान ने मंगलवार को खेले गए मैच में चेन्नई को 16 रनों से हरा दिया।

राजस्थान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 216 रन बनाए थे। चेन्नई 20 ओवरों में 200 रनों पर ही ढेर हो गई थी।

यह भी पढ़ें: मुंबई के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगा केकेआर

ईएसपीएनक्रिकइंफो ने गंभीर के हवाले से लिखा, “ईमानदारी से कहूं तो मैं हैरान था। धोनी नंबर-7 पर? और गायकवाड़ को उनसे पहले भेजा जा रहा है, सैम कुरैन को उनसे पहले भेजा जा रहा है। मुझे यह समझ में नहीं आया। आपको तो आगे से टीम का नेतृत्व करना चाहिए। यह वो नहीं है जिसे आप कह सकें की वह आगे रहकर टीम की कप्तानी कर रहे हैं। 217 रनों का पीछा करते हुए नंबर-7 पर खेलना? मैच खत्म हो गया था। फाफ डु प्लेसिस शायद अकले लड़ रहे थे।”

धोनी
महेंद्र सिंह धोनी, चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान (CSK, Twitter)

डु प्लेसिस और धोनी ने अंत में कोशिश की, लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके।

गंभीर ने कहा, “हां, आप धोनी द्वारा आखिरी ओवर में लगाए गए तीन छक्कों की बात कर सकते हैं, लेकिन ईमानदारी से कहूं तो इसका कोई मतलब नहीं था। वह सिर्फ उनके रन थे। अगर कोई और कप्तान यह करता, नंबर-7 पर आकर बल्लेबाजी करता तो उनकी काफी आलोचना होती।”

गंभीर ने कहा, “वो धोनी हैं। शायद इसलिए लोग उनके बारे में बात नहीं कर रहे हैं। जब आपके पास सुरेश रैना नहीं हैं तो आप सैम कुरैन को बेहतर बताना चाहते हैं। आप यह बताना चाहता हैं, मुरली विजय, ऋतुराज गायकवाड़, कुरैन, केदार जाधव, फाफ डु प्लेसिस, आपसे बेहतर हैं।”(आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

6,018FansLike
0FollowersFollow
167FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

रियाज़ नाइकू को ‘शिक्षक’ बताने वाले मीडिया संस्थानो के ‘आतंकी सोच’ का पूरा सच

कौन है रियाज़ नायकू? कश्मीर के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमांडर बुरहान वाणी 2016 में ...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

“कौन दिशा में लेके चला रे बटोहिया..” के सदाबहार गायक जसपाल सिंह की कहानी

“कौन दिशा में लेके चला रे बटोहिया” इस गाने को किसने नहीं सुना होगा। अगर आप 80’ के दशक से हैं...

हाल की टिप्पणी