Saturday, May 15, 2021
Home संस्कृति Hanuman Jayanti 2021: हनुमान जयंती पर जानते हैं कि भक्ति का क्या...

Hanuman Jayanti 2021: हनुमान जयंती पर जानते हैं कि भक्ति का क्या महत्व है?

"हनुमान बिन राम सूने", इस हनुमान जयंती पर भगवान हनुमान के भक्ति भाव को जानेंगे और कोशिश करेंगे। साथ ही जानते हैं भक्ति का क्या है महत्व?

हर साल चैत्र मास के शुक्ल पक्ष पूर्णिमा को ‘हनुमान जयंती’ मनाई जाती है। पवन-पुत्र हनुमान को कई नामों से जाना जाता है। कोई उन्हें मारुति कहता है, कोई बजरंगबली के नाम से पुकारता है, तो कई अंजनीपुत्र के नाम से भी सम्बोधित करते हैं। भगवान हनुमान के कई नाम और रूप दिखाई देते हैं। कभी संत के रूप में, एक ब्रह्मचारी के रूप में, कभी मित्र के रूप में, तो कभी पुत्र के रूप में, किन्तु जिस रूप में और नाम से वह विश्वभर में जाने जाते हैं वह है रामभक्त के रूप में।

भक्ति और पूजा दोनों ही अलग प्रकार के आराधना के रूप हैं। यदि भक्त किसी को अपना आराध्य मान ले तब वह अंतिम स्वांस तक उस नाम को जपता रहेगा। केसरी-नंदन को श्री राम के प्रति ऐसा ही भक्ति प्रेम है। आज भी उन्हें हनुमान के बाद रामभक्त ही पुकारा जाता है।

hanuman jayanti 2021 maruti rambhakt hanuman chalisa
NewsGram Hindi

यदि राम नहीं तो हनुमान नहीं ऐसा कई पौराणिक कथाओं में सुना और देखा गया है। भगवान हनुमान को बल का ज्ञान तभी हुआ था जब वह माता जानकी को खोजने निकले थे। रामदूत हनुमान की वजह से माता जानकी किस हाल में हैं और कहाँ इस बात का ज्ञान हुआ था। लंकापति रावण के अहंकार को चूर करने के लिए ही चिरंजीवी ने अशोक वाटिका को नष्ट किया और साथ ही लंका में आग लगाकर रावण पर गहरा चोट किया था। भगवान हनुमान वह भक्त हैं जिन्हे अपने स्वामी की पल-पल चिंता रहती है।

यह भी पढ़ें: क्या भगवान हनुमान जी का जन्म तिरूमला के पर्वतों में हुआ था?

संत तुलसीदास द्वारा लिखित हनुमान चालीसा को भक्तों द्वारा पवनपुत्र को प्रसन्न करने के लिए पढ़ा जाता है। उनमे भी भगवान हनुमान को श्री राम का दूत, लक्ष्मण के प्राण-दाता, श्री राम-जानकी के अनंत भक्त के रूप में दर्शाया गया है। हनुमान जैसा भक्त आज के कलयुग में ढूंढने पर भी नहीं मिलेगा। स्वयं के पास असीम शक्ति और पराक्रम होते हुए कई भक्त उन्हें संत भी कहते हैं। क्योंकि “जो राम जपे कण-कण में, हनुमान मिले हैं संग में।।”

POST AUTHOR

Shantanoo Mishra
Poet, Writer, Hindi Sahitya Lover, Story Teller

जुड़े रहें

7,635FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी