Tuesday, May 11, 2021
Home मनोरंजन 'मैं आसानी से ऊब जाता हूं, इसलिए अलग-अलग किरदार करना मुझे पसंद...

‘मैं आसानी से ऊब जाता हूं, इसलिए अलग-अलग किरदार करना मुझे पसंद हैं’ – ताहिर राज भसीन

अभिनेता ताहिर राज भसीन का कहना है कि उन्होंने हमेशा किरदारों में विविधता लाने की कोशिश की है, लेकिन बॉलीवुड में एक ही तरह की भूमिकाएं मिलना बहुत सामान्य है।

अभिनेता ताहिर राज भसीन का कहना है कि उन्होंने हमेशा किरदारों में विविधता लाने की कोशिश की है, लेकिन बॉलीवुड में एक ही तरह की भूमिकाएं मिलना बहुत सामान्य है। उन्होंने आईएएनएस को बताया, “यह बहुत आम बात है कि जब कोई एक रोल काम कर जाता है (तो तुम्हें वापस वही पुराने किरदार मिलते हैं) जैसे कि ‘मर्दानी’ के चलने के बाद मुझे दुश्मनी के किरदार मिलने लगे। ‘छीछोरे’ के बाद, कॉलेज, हॉस्टल लाइफ के किरदार मिलने लगे। ऐसा नहीं है कि मैं ऐसे किरदार खराब स्क्रिप्ट के कारण मना कर देता हूं। बस वो चीज उस समय नहीं करना चाहता।”

अभिनेता का कहना है कि फिल्म निर्माता उन किरदारों में कास्टिंग कलाकारों को पसंद करते हैं जो पहले उनके लिए काम कर चुके हैं।

उन्होंने कहा, “यह हर अभिनेता के साथ होता है। एक फिल्म निर्माता के लिए ट्राई और टेस्ट जोन में जाना सामान्य है। मुझे जोखिम लेने और विभिन्न पहलुओं और अपनी खुद की अभिनय प्रतिभा की खोज करने में मजा आता है। यही मेरी दिलचस्पी है।”

उन्होंने आगे कहा, “यदि कोई एक पीरियड फिल्म देख रहा है, तो वे मंटो को देखेंगे, यदि यह एक कॉलेज फिल्म है, तो वे छीछोरे को देखेंगे। बहुत सारे नए अभिनेताओं के लिए पहली चीज दृश्य है। हालांकि, वह उनसे सोशल मीडिया पर अपनी अभिनय क्षमता दिखाने का आग्रह करते हैं।”

Tahir Raj Bhasin chichore actor bollywood
अभिनेता ताहिर राज भसीन।(सोशल मीडिया, Tahir Raj Bhasin)

उन्होंने आगे कहा, “आप इसे तोड़ सकते हैं, अपने कंफर्ट जोन से बाहर जा सकते हैं। उपकरण आपके हाथ में हैं। इंस्टाग्राम पर सेल्फी वीडियो बनाएं या अपने फोन पर एक छोटी सी फिल्म शूट करें और धारणा को तोड़ें। यह एक अभिनेता के रूप में आप पर निर्भर करता है।”

यह भी पढ़े : जब लोगों को लगा कि बिग बी की आंखों की रोशनी चली गई!.

साथ ही उन्होंने यह भी कहा, “मैं आसानी से ऊब जाता हूं, इसलिए मैं अलग-अलग किरदारों में काम करता हूं। यह कुछ ऐसा करने का सख्त फैसला है जो कुछ अलग करने के लिए है, ताकि मुझे यह महसूस न हो कि मैंने यह किया है।”

ताहिर अगले कुछ महीनों में ‘लूप लेपेटा’ और ’83’ फिल्मों के साथ-साथ वेब सीरीज ‘ये काली काली आंखें’ में नजर आएंगे।(आईएएनएस-PK)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,639FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी