Wednesday, May 12, 2021
Home थोड़ा हट के आईएएस अधिकारी छात्रों, अभिभावकों में जगा रहे शिक्षा की ललक

आईएएस अधिकारी छात्रों, अभिभावकों में जगा रहे शिक्षा की ललक

झारखंड में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के एक अधिकारी इन दिनों अभिभावकों और छात्रों के बीच शिक्षा की ललक जगाने के लिए अनोखी पहल की है।

By: मनोज पाठक

आमतौर पर सरकारी अधिकारियों को अपने सरकारी कार्यो से ही फुर्सत नहीं मिलती, लेकिन झारखंड में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के एक अधिकारी इन दिनों अभिभावकों और छात्रों के बीच शिक्षा की ललक जगाने के लिए अनोखी पहल की है। ये अधिकारी स्वयं न केवल सुदूरवर्ती क्षेत्रों के स्कूलों में जाकर कुछ घंटे छात्रों को पढ़ाते हैं, बल्कि गांवों में पहुंचकर अभिभावकों को शिक्षा की महत्ता को बताते हुए उनसे अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित भी करते हैं। लातेहार के उपायुक्त (डीसी) और 2010 बैच के आईएएस अधिकारी अबू इमरान इस जिले के उपायुक्त का पदभार ग्रहण करने के पहले यहां के अनुमंडल अधिकारी (एसडीओ) भी रह चुके हैं। ऐस में वे लातेहार से पूर्व परिचित थे। युवा अधिकारी इमरान जब यहां उपायुक्त बनकर आए तब उनकी नजर यहां के सुदूरवर्ती क्षेत्रों की शिक्षा व्यवस्था पर पड़ी।

अबू इमरान आईएएनएस से कहते हैं, “प्रारंभ से ही मुझे स्कूल, कॉलेजों में बच्चों को पढ़ाने की आदत रही है। आमतौर पर सुदूरवर्ती क्षेत्रों में शिक्षा को लेकर जागरूकता की कमी है, लेकिन जब कोई अधिकारी इन गांवों के स्कूलों में स्वयं पढ़ाने जाता है तथा उन बच्चों के अभिभावकों से मिलता है, तो उनमें भी शिक्षा के प्रति ललक बढ़ती है और वे शिक्षा को लेकर जागरूक होते हैं।” कभी नक्सलियों का गढ़ समझा जाने वाला नावागढ़ में उपायुक्त अबू इमरान अपनी पत्नी जबीन फातिमा के साथ पहुंचकर उत्क्रमित प्लस टू उच्च विद्यालय में शिक्षा का अलख जगा चुके हैं।

उपायुक्त अपनी पत्नी के साथ इंटर व मैट्रिक के बच्चों की क्लास ली एवं जीवन में सफलता के मूलमंत्र दिए। कहा जाता है कि कभी इन इलाकों में बंदूकें गरजा करती थीं, लेकिन उपायुक्त व उनकी पत्नी ने विद्यालय पहुंच कर बच्चों का उत्साह बढ़ाने के लिए कलम एवं डायरी दी एवं जीवन में कभी पढ़ाई या रोजगार में शार्टकट नहीं अपनाने की बात कही। उपायुक्त मानते हैं कि यहां के स्कूलों में कई समस्याएं हैं, लेकिन बच्चों के बेंच पर बैठकर उनसे समस्याओं की जानकारी लेकर छोटी-छोटी समस्याओं का पता चल जाता है, जिसे आम लोगों की पहल से सुलझाया जा सकता है।

jharkhand school ias officer
बच्चों के साथ उनको अभिभावकों को भी शिक्षा की महत्ता बताने में जुटे हैं इमरान।(Unsplash)

इमरान ने आईएएनएस को बताया कि कोरोना के दौर में जब स्कूलों में ताले लगे थे, तब यूट्यूब ‘ज्ञान कोरा लातेहार’ प्रारंभ करवाया गया था। इस चैनल पर अनुभवी और योग्य शिक्षकों से पाठ्यक्रमों के हल करवाकर विषयों को डाला गया, जिसका लाभ यहां के छात्रों को खूब हुआ। उन्होंने कहा कि कई स्कूलों में छात्र विषयों के शिक्षक नहीं होने का भी रोना रोते हैं, लेकिन आज सोशल साइटों से कई विषयों को पढा जा सकता है, इसकी जानकारी छात्रों को देने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि समस्याएं हैं, लेकिन इसे कहकर तो छोड़ा नहीं जा सकता। इसके समाधान के लिए हम सब भी तो कोशिश कर सकते हैं। हो सकता है समस्याओं का पूरा समाधान न हो, लेकिन कुछ तो सफलता मिलेगी।

यह भी पढ़ें: रूढ़िवादी सोच पीछे छोड़ मेहरूनिसा बनी महिला बाउंसर

उपायुक्त अबू इमरान गांवों में पहुंचकर सामाजिक कुरीतियों को भी दूर करने के लिए लोगों को जागरूक करते हैं। शुक्रवार को राष्ट्रीय राजमार्ग 39 के किनारे स्थित चंदवा प्रखंड के सासंग स्थित प्रोजेक्ट उच्च विद्यालय में बच्चों को पाठ्यक्रम आधारित ज्ञान देने के साथ डायन-बिसाही जैसी कुरीतियों की जानकारी देते उसे खत्म करने के लिए जागरूक किया। इसके बाद वे कस्तुरबा गांधी आवासीय विद्यालय चंदवा पहुंचे। बहरहाल, ग्रामीण भी उपायुक्त की इस पहल की सराहना करते हैं। नवागढ़ के मदन प्रसाद कहते हैं कि उपायुक्त की इस अनोखी पहल का परिणाम है कि स्कूलों में शिक्षक समय पर आने लगे हैं और बच्चे भी स्कूल जा रहे हैं।(आईएएनएस-SHM)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,638FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी