Monday, January 18, 2021
Home मनोरंजन आसिफ अपनी कलाकारी से दर्शकों को पर्दे से जोड़कर रखते थे -...

आसिफ अपनी कलाकारी से दर्शकों को पर्दे से जोड़कर रखते थे – इम्तियाज

खबर है कि अभिनेता आसिफ बसरा ने गुरुवार को हिमाचल प्रदेश में अपने एक किराए के मकान में आत्महत्या कर ली है, जहां वह पिछले करीब चार साल से रह रहे थे।

दिवंगत अभिनेता आसिफ बसरा साल 2007 में आई इम्तियाज अली की फिल्म ‘जब वी मेट’ में एक छोटी, लेकिन महत्वपूर्ण भूमिका में नजर आए थे। फिल्मकार इम्तियाज ने पुरानी बातों को याद करते हुए कहा कि फिल्म में शामिल किरदार को निभाने के बारे में उन्हें आसिफ का ख्याल एक ऐसे अभिनेता के तौर पर आया, जो एक छोटी सी भूमिका को भी बेहतरी से निभाकर उसमें जान फूंक सकने की काबिलियत रखते हैं। आसिफ फिल्म में स्टेशन पर मौजूद एक वेंडर के किरदार में नजर आए थे।

इम्तियाज कहते हैं, “मेरे लिए आसिफ एक विशेष फिल्म का विशेष हिस्सा हैं। वह एक शानदार अभिनेता हैं। उनके निधन की खबर ने मुझे अंदर से हिलाकर रख दिया है। वह एक निपुण कलाकार थे। उनके साथ काम करना आसान था। उनका जाना वास्तव में एक क्षति है।”

यह भी पढ़ें – बॉन्ड, जेम्स बॉन्ड – कहने वाले को आखिरी सलाम

उन्होंने आगे कहा, “मुझे याद है, ‘जब वी मेट’ बनाने के दौरान मैं एक कुशल अभिनेता चाह रहा था, जो समझ सके कि मैं क्या कहना चाह रहा हूं और उसे उस अनुरूप पर्दे पर उतार सके। मैं उस किरदार के माध्यम से एक साथ दो बातें दिखाना चाहता था – एक दुष्ट आदमी और साथ में मसखरी। मैं चाहता था कि किरदार के माध्यम से वह घबराहट भी पैदा करे और देखने में मजेदार भी लगे। इस किरदार को निभाने के लिए मैं एक कुशाग्र अभिनेता को चाह रहा था, जिसमें दिमाग हो और किरदार को सही से निभाने की काबिलियत भी हो।”

उन्होंने अपनी बात को जारी रखते हुए यह कहा, “मैं आसिफ को मुंबई में थिएटर के माध्यम से जानता हूं। हमारी मुलाकात इसी के चलते हुई है। ‘जब वी मेट’ के बाद हमने साथ में काम नहीं किया है। कुछ ऐसा मौका नहीं मिला है, लेकिन मैंने उनकी बाकी फिल्में देखी हैं। वह एक ऐसे अभिनेता थे, जो अपनी कलाकारी से दर्शकों को पर्दे से जोड़कर रखते थे। मैं फिल्मों में उन्हें मिस करूंगा।” (आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

6,018FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

रियाज़ नाइकू को ‘शिक्षक’ बताने वाले मीडिया संस्थानो के ‘आतंकी सोच’ का पूरा सच

कौन है रियाज़ नायकू? कश्मीर के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमांडर बुरहान वाणी 2016 में ...

हाल की टिप्पणी