Saturday, September 26, 2020
Home देश स्वतंत्रता दिवस : कोरोना के कारण विशेष इंतजामों के साथ हुआ पीएम...

स्वतंत्रता दिवस : कोरोना के कारण विशेष इंतजामों के साथ हुआ पीएम मोदी का भाषण

सोशल डिस्टेंसिंग से साथ आज देश में 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले पर झंडा फहराया और सभी देशवासियों को संबोधित किया।

 By- नवनीत मिश्र

कोरोना वायरस की चुनौतियों के बीच शनिवार को देश का 74 वां स्वतंत्रता दिवस समारोह मना। पहले की तरह धूम-धाम से भले न आयोजन हुआ हो, लेकिन जोशो-खरोश में किसी तरह की कमी नहीं दिखी। लाल किले पर इस बार विशेष इंतजामों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण हुआ। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी सोशल डिस्टैंसिंग सहित स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर(एसओपी) के सभी दिशा निर्देशों का कड़ाई से पालन हुआ।

राजघाट में महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल किला पहुंचे। यहां 41 फिट ऊंचे और 24 फिट चौड़े लाहौरी गेट से होकर वह लाल किले की प्राचीर पर पहुंचे। प्राचीर पर तिरंगा फहराने के बाद सुबह साढ़े सात बजे से नौ बजे तक डेढ़ घंटे लंबा भाषण दिए।

यह भी पढ़ें- हिंद महासागर में भारतीय नौसेना के युद्धपोतों की तैनाती बढ़ी।

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले से भाषण देते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (Image: PIB)

प्रधानमंत्री मोदी ने स्वतंत्रता सेनानियों और वीर शहीदों को नमन करते हुए भाषण की शुरूआत की। आत्म निर्भर भारत, कोरोना वायरस की चुनौती और विकासीय योजनाओं पर उनका भाषण केंद्रित रहा। नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन, नई साइबर सिक्योरिटी नीति, आधारभूत संसाधनों के निर्माण पर सौ लाख करोड़ के खर्च सहित करीब दस बड़ी घोषणाएं प्रधानमंत्री मोदी ने कीं।

इस बार मेहमान सीमित संख्या में बुलाए गए थे। कोरोना के कारण पहली बार स्कूली बच्चे भी लाल किला परिसर में होने वाले इस राष्ट्रीय समारोह में नहीं बुलाए गए थे। इससे पूर्व के आयोजनों के दौरान प्रधानमंत्री भाषण खत्म कर बच्चों के बीच जाकर मिलते थे। लेकिन इस बार ऐसा नहीं हो सका।

यह भी पढ़ें- नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर किए गए संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने क्या कहा? पढ़ें

लाल किला परिसर में मेहमानों की कुर्सियों के बीच करीब छह-छह फिट की दूरी बनाई गई थी। हर कुर्सी पर सैनिटाइजर की व्यवस्था रही। मेहमानों के लिए मास्क अनिवार्य किया गया था। इस बार नेताओं ने एक दूसरे से हाथ मिलाने की जगह दूर से ही हाथ जोड़कर एक दूसरे का अभिवादन किया। सूत्रों ने बताया कि लाल किला परिसर की सुरक्षा में लगाए गए जवानों को पहले से क्वारंटाइन किया गया था। ताकि 15 अगस्त को तैनाती के समय तक वह पूरी तरह से स्वस्थ रहें।

नई दिल्ली में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। ( Image: PIB)

मेहमानों में वरिष्ठ केंद्रीय मंत्री पहली कतार में बैठे थे। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय सड़क परिवहन परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, विदेश मंत्री एस जयशंकर, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव प्रमुख रूप से मौजूद रहे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद भी इस समारोह में पहुंचे थे। (IANS)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

6,022FansLike
0FollowersFollow
164FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

रियाज़ नाइकू को ‘शिक्षक’ बताने वाले मीडिया संस्थानो के ‘आतंकी सोच’ का पूरा सच

कौन है रियाज़ नायकू? कश्मीर के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमांडर बुरहान वाणी 2016 में ...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

“कौन दिशा में लेके चला रे बटोहिया..” के सदाबहार गायक जसपाल सिंह की कहानी

“कौन दिशा में लेके चला रे बटोहिया” इस गाने को किसने नहीं सुना होगा। अगर आप 80’ के दशक से हैं...

हाल की टिप्पणी