Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
देश

बिजली से चलने वाले चाक से कुम्हारों की 3 से 4 गुना बढ़ी कमाई

कुम्हार सशक्तिकरण योजना के तहत अब तक 18 हजार से अधिक कुम्हार परिवारों को बिजली चाक दिया जा चुका है। जिससे अब तक तीन से चार गुना ज्यादा कमाई बढ़ी है।

खादी ग्रामोद्योग आयोग ने बांटे बिजली से चलने वाले 18 हजार चाक। (सांकेतिक चित्र, Wikimedia Commons)

कुम्हारों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में खादी ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) की पहल के तहत केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से महाराष्ट्र के नांदेड़ और परभणी जिलों में 100 कुम्हार परिवारों को बिजली से चलने वाले चाक वितरित किए। जिससे वे मिट्टी के बर्तन बनाकर कमाई करेंगे। कुम्हार सशक्तिकरण योजना के तहत अब तक 18 हजार से अधिक कुम्हार परिवारों को बिजली चाक दिया जा चुका है। जिससे अब वे तीन से चार गुना ज्यादा, महीने में दस हजार रुपये तक कमाई करने में सफल हुए हैं। इन कुम्हारों को केवीआईसी ने बिजली से चलने वाले चाक से मिट्टी के बर्तन बनाने के लिए 10 दिनों का प्रशिक्षण भी दिया है।

जिन कुम्हारों को नितिन गडकरी ने बुधवार को चाक वितरित किए गए हैं, वह 15 गांवों के हैं, जिनमें से 10 गांव नांदेड़ से और 5 गांव परभणी जिले से हैं। बिजली चालित चाक वितरित किए जाने से कुम्हार समुदाय के कम से 400 सदस्य लाभान्वित होंगे, क्योंकि इससे ना सिर्फ कुम्हारों की उत्पादकता बढ़ेगी, बल्कि उनकी आय में भी वृद्धि होगी।


केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कुम्हार सशक्तिकरण योजना की प्रशंसा करते हुए कहा, “यह आजादी के बाद पहला अवसर है, जब देश के कुम्हारों की आजीविका को बेहतर करने और उन्हें सशक्त करने के लिए कोई विशेष पहल की गई है। उपेक्षित कुम्हार समुदाय को सशक्त कर मिट्टी के बर्तन बनाने की कला को लुप्त होने से बचाना प्रधानमंत्री मोदी का सपना है।”

बिजली से चलने वाली चाक से कुम्हारों की आमदनी बढ़ी है। (सांकेतिक चित्र, Wikimedia Commons)

गडकरी ने कहा, “कुम्हार सशक्तिकरण योजना के अंतर्गत उत्पादन से जुड़े आधुनिक उपकरण और इससे उत्पादन हेतु व्यवस्थित प्रशिक्षण से कुम्हारों की आय में कई गुना की वृद्धि हुई है। इस योजना को आने वाले समय में महाराष्ट्र के अन्य सुदूरवर्ती क्षेत्रों और अन्य राज्यों में भी लागू किया जाएगा। कारीगरों ने बताया कि बिजली चालित चाक की मदद से उनकी उत्पादकता बढ़ी है और आय में 3-4 गुना की वृद्धि हुई है।”

यह भी पढ़ें: गौ संरक्षण खोल रहा है रोजगार के नए दरवाज़े

केवीआईसी अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना ने कहा, “देश भर में अब तक 18,000 से अधिक बिजली चालित चाक वितरित किए जा चुके हैं, जिससे कुम्हार समुदाय के लगभग 80,000 लोग लाभान्वित हो रहे हैं। कुम्हार सशक्तिकरण योजना के चलते कुम्हारों की आय 3000 रुपये प्रति माह से बढ़कर लगभग 10,000 रुपये प्रति माह तक पहुंच गई है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य देश के प्रत्येक कुम्हार को सशक्त करना है और केवीआईसी इस लक्ष्य को हासिल करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।”(आईएएनएस)

Popular

माइक्रोसॉफ्ट गेमिंग के सीईओ फिल स्पेंसर ने एक ट्वीट में कहा कि सोनी प्लेटफॉर्म पर सीओडी का भविष्य है। ( Pixabay )

माइक्रोसॉफ्ट ने आखिरकार शुक्रवार को पुष्टि की कि वह लोकप्रिय गेम कॉल ऑफ ड्यूटी (सीओडी) को सोनी प्लेस्टेशन पर बने रहने की अनुमति देगा, क्योंकि अमेरिकी टेक दिग्गज ने सीओडी निर्माता एक्टिविजन ब्लिजार्ड को 69 बिलियन डॉलर में खरीद लिया था। माइक्रोसॉफ्ट गेमिंग के सीईओ फिल स्पेंसर ने एक ट्वीट में कहा कि सोनी प्लेटफॉर्म पर सीओडी का भविष्य है।

स्पेंसर ने कहा, "सोनी में नेताओं के साथ इस सप्ताह अच्छी बातचीत हुई। मैंने एक्टिविजन ब्लिजार्ड के अधिग्रहण पर सभी मौजूदा समझौतों का सम्मान करने और सोनी प्लेस्टेशन पर कॉल ऑफ ड्यूटी रखने की हमारी इच्छा की पुष्टि की।" उन्होंने कहा, "सोनी हमारे उद्योग का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और हम अपने रिश्ते को महत्व देते हैं।"
ऐसी चिंताएं थीं कि सीओडी माइक्रोसॉफ्ट एक्सबॉक्स एक्सक्लूसिव फ्रैंचाइजी बन सकता है।

Microsoft, game, technology, soni PlayStation, \u092e\u093e\u0907\u0915\u094d\u0930\u094b\u0938\u0949\u092b\u094d\u091f, \u0938\u094b\u0928\u0940, माइक्रोसॉफ्ट एक्सबॉक्स और सोनी प्लेस्टेशन गेमिंग कंसोल में बेहद लोकप्रिय है। ( Wikimedia Commons )

Keep Reading Show less

उत्तर प्रदेश में ठाकुरों ने योगी आदित्यनाथ के भाजपा सरकार की बागडोर संभालने के साथ जाति के गौरव का अनुभव किया है। ( wikimedia Commons )

लगभग तीन दशकों के बाद, उत्तर प्रदेश में ठाकुरों ने योगी आदित्यनाथ के भाजपा सरकार की बागडोर संभालने के साथ जाति के गौरव का अनुभव किया है। योगी आदित्यनाथ गोरक्ष पीठ के प्रमुख भी हैं, जो एक क्षत्रिय पीठ है, इसका एक अतिरिक्त फायदा है। उत्तर प्रदेश में ठाकुर, एक शक्तिशाली समुदाय होने के बावजूद, जिसका शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में प्रभाव है, 1988 में वीर बहादुर सिंह के शासन के अंत के बाद सत्ता के गलियारों में अपनी आवाज खोजने में विफल रहे हैं। हालांकि राजनाथ सिंह 2000-2002 में मुख्यमंत्री थे, लेकिन उन्होंने अपने कार्यकाल में जानबूझकर जाति के कोण को कम करके आंका था। ठाकुर राज्य की आबादी का केवल 8 प्रतिशत हैं, लेकिन वे लगभग 50 प्रतिशत भूमि के मालिक हैं।

2017 में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने पर वह बहुत खुश थे। इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि ठाकुर समुदाय के अधिकारियों को अच्छी पोस्टिंग दी गई है, भले ही ब्राह्मण ही मुख्य सचिव जैसे उच्च पदों पर बने हुए हैं। विपक्ष ने योगी सरकार पर ठाकुर के हितों की रक्षा करने और ठाकुर अपराधियों को बचाने का आरोप लगाया है, लेकिन मुख्यमंत्री इसके बारे में अडिग हैं। योगी आदित्यनाथ, जिन्हें अधिकांश ठाकुर सम्मानपूर्वक महाराज के रूप में संबोधित करते हैं, उनको ठाकुर अधिकारों के संरक्षक के रूप में देखा जाता है।

Keep Reading Show less

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी है दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता ( wikimedia Commons )

अमेरिकी डेटा इंटेलिजेंस फर्म ‘द मॉर्निंग कंसल्ट’ की एक सर्वे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अप्रूवल रेटिंग 71% दर्ज की गई है यह जानकारी 'द मॉर्निंग कंसल्ट' ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए साझा की है। 'द मॉर्निंग कंसल्ट' के सर्वे के मुताबिक अप्रूवल रेटिंग में प्रधानमंत्री मोदी ने अमरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन समेत दुनिया भर के 13 राष्ट्र प्रमुखों को पीछे छोड़ दिया है।

मॉर्निंग कंसल्ट’ दुनिया भर के टॉप लीडर्स की अप्रूवल रेटिंग ट्रैक करता है। मॉर्निंग कंसल्ट पॉलिटिकल इंटेलिजेंस वर्तमान में ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इटली, जापान, मैक्सिको, दक्षिण कोरिया, स्पेन, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका में नेताओं की रेटिंग पर नज़र रख रही है। रेटिंग पेज को सभी 13 देशों के नवीनतम डेटा के साथ साप्ताहिक रूप से अपडेट किया जाता है।

Keep reading... Show less