Tuesday, December 1, 2020
Home देश बिजली से चलने वाले चाक से कुम्हारों की 3 से 4 गुना...

बिजली से चलने वाले चाक से कुम्हारों की 3 से 4 गुना बढ़ी कमाई

कुम्हार सशक्तिकरण योजना के तहत अब तक 18 हजार से अधिक कुम्हार परिवारों को बिजली चाक दिया जा चुका है। जिससे अब तक तीन से चार गुना ज्यादा कमाई बढ़ी है।

कुम्हारों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में खादी ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) की पहल के तहत केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से महाराष्ट्र के नांदेड़ और परभणी जिलों में 100 कुम्हार परिवारों को बिजली से चलने वाले चाक वितरित किए। जिससे वे मिट्टी के बर्तन बनाकर कमाई करेंगे। कुम्हार सशक्तिकरण योजना के तहत अब तक 18 हजार से अधिक कुम्हार परिवारों को बिजली चाक दिया जा चुका है। जिससे अब वे तीन से चार गुना ज्यादा, महीने में दस हजार रुपये तक कमाई करने में सफल हुए हैं। इन कुम्हारों को केवीआईसी ने बिजली से चलने वाले चाक से मिट्टी के बर्तन बनाने के लिए 10 दिनों का प्रशिक्षण भी दिया है।

जिन कुम्हारों को नितिन गडकरी ने बुधवार को चाक वितरित किए गए हैं, वह 15 गांवों के हैं, जिनमें से 10 गांव नांदेड़ से और 5 गांव परभणी जिले से हैं। बिजली चालित चाक वितरित किए जाने से कुम्हार समुदाय के कम से 400 सदस्य लाभान्वित होंगे, क्योंकि इससे ना सिर्फ कुम्हारों की उत्पादकता बढ़ेगी, बल्कि उनकी आय में भी वृद्धि होगी।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कुम्हार सशक्तिकरण योजना की प्रशंसा करते हुए कहा, “यह आजादी के बाद पहला अवसर है, जब देश के कुम्हारों की आजीविका को बेहतर करने और उन्हें सशक्त करने के लिए कोई विशेष पहल की गई है। उपेक्षित कुम्हार समुदाय को सशक्त कर मिट्टी के बर्तन बनाने की कला को लुप्त होने से बचाना प्रधानमंत्री मोदी का सपना है।”

भारत का कुम्हार_newsgram
बिजली से चलने वाली चाक से कुम्हारों की आमदनी बढ़ी है। (सांकेतिक चित्र, Wikimedia Commons)

गडकरी ने कहा, “कुम्हार सशक्तिकरण योजना के अंतर्गत उत्पादन से जुड़े आधुनिक उपकरण और इससे उत्पादन हेतु व्यवस्थित प्रशिक्षण से कुम्हारों की आय में कई गुना की वृद्धि हुई है। इस योजना को आने वाले समय में महाराष्ट्र के अन्य सुदूरवर्ती क्षेत्रों और अन्य राज्यों में भी लागू किया जाएगा। कारीगरों ने बताया कि बिजली चालित चाक की मदद से उनकी उत्पादकता बढ़ी है और आय में 3-4 गुना की वृद्धि हुई है।”

यह भी पढ़ें: गौ संरक्षण खोल रहा है रोजगार के नए दरवाज़े

केवीआईसी अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना ने कहा, “देश भर में अब तक 18,000 से अधिक बिजली चालित चाक वितरित किए जा चुके हैं, जिससे कुम्हार समुदाय के लगभग 80,000 लोग लाभान्वित हो रहे हैं। कुम्हार सशक्तिकरण योजना के चलते कुम्हारों की आय 3000 रुपये प्रति माह से बढ़कर लगभग 10,000 रुपये प्रति माह तक पहुंच गई है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य देश के प्रत्येक कुम्हार को सशक्त करना है और केवीआईसी इस लक्ष्य को हासिल करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।”(आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

6,018FansLike
0FollowersFollow
174FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

रियाज़ नाइकू को ‘शिक्षक’ बताने वाले मीडिया संस्थानो के ‘आतंकी सोच’ का पूरा सच

कौन है रियाज़ नायकू? कश्मीर के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमांडर बुरहान वाणी 2016 में ...

हाल की टिप्पणी