Saturday, June 12, 2021
Home थोड़ा हट के कैंसर पीड़ित होने के बावजूद दिन-रात कर रही कोरोना मरीजों की सेवा

कैंसर पीड़ित होने के बावजूद दिन-रात कर रही कोरोना मरीजों की सेवा

देश की पहली महिला एम्बुलेंस चालक ट्विंकल कालिया खुद कैंसर पीड़ित होकर भी कोरोना मरीजों को मुफ्त में अस्पताल पहुंचा रहीं है।

कोरोना महामारी में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो सबकुछ भूलकर दिलो जान लगाकर अपना कर्तव्य निभा रहे हैं। इनमें एक ऐसी महिला भी है जिसे देश की पहली महिला एम्बुलेंस चालक का गौरव हासिल है। कैंसर से पीड़ित होने के बावजूद भी वो इस महामारी में अपना कर्तव्य निभा रही है। दिल्ली निवासी ट्विंकल कालिया खुद कैंसर पीड़ित होकर भी कोरोना मरीजों को मुफ्त में अस्पताल पहुंचा रहीं है। इसके अलावा जिन मरीजों की मृत्यु हो रही है, उनका पूरे रीति रिवाज के साथ अंतिम संस्कार भी करा रही हैं।

दरअसल एम्बुलेंस वुमन ट्विंकल कालिया ब्रेस्ट कैंसर से पीड़ित हैं। उनका फिलहाल इलाज चल रहा है लेकिन ये सब भूल वह कोरोना मरीजों की सेवा में लगी हुई हैं। उनके पति भी इस काम में पूरा साथ दे रहें हैं।

ट्विंकल ने आईएएनएस को बताया कि, उन्हें देश की पहली महिला ड्राइवर का खिताब मिला हुआ है। कोरोना की पहली लहर से ही वे इस सेवा में जुट गई थी और अब भी बिना झिझक लोगों की सेवा कर रही हैं।

हर दिन करीब 350 फोन आते हैं जो की मदद की गुहार लगाते हैं। हम हर किसी की मुफ्त मे सेवा करते है। कई परिवार अपनो के शवों को हाथ लगाने से डरते हैं, जिनका हम अंतिम संस्कार कराते हैं। हमारे पास 10 से अधिक एम्बुलेंस है, जिनका प्रयोग हम अलग अलग तरह से करते है। कुछ एम्बुलेंस को हमने शवों को लाने ले जाने में लगाया हुआ है तो वहीं कुछ एम्बुलेंस को साधरण मरीजों और अन्य सेवाओं में लगा दिया है।

The country's first 'ambulance woman', serving Corona patients throughout the day despite suffering from cancer.
ट्विंकल के काम से प्रभावित होकर महिला दिवस पर उन्हें राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित किया गया था।(आईएएनएस)

ट्विंकल के काम से प्रभावित होकर महिला दिवस पर उन्हें राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित किया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें लंच पर भी आमंत्रित किया हुआ है।

यह भी पढ़ें: किताबें देने की दीवानगी ऐसी कि प्रतिदिन 4 किमी पैदल चलती हैं 64 वर्ष की राधामणी

ट्विंकल के पति हिमांशु कालिया ने आईएएनएस को बताया, पिछले बार जब कोरोना फैला था, उस वक्त भी हम सेवा कर रहे रहे थे। इस बार भी हम सेवा कर रहे है। हम लोगो ने इस बार 50 से अधिक लोगों का अंतिम संस्कार कराया है। साल 2007 से मेरी पत्नी ने एम्बुलेंस चलाना शुरू किया था । पिछले साल ही उन्हें कैंसर हुआ, इसके बाद कीमो थैरेपी होने से हाथों की नसें काली पड़ गई है। अन्य इलाज से सर के बाल भी चले गए है। वो हर दिन ये सोच कर निकलती है कि ये उनका आखिरी दिन होगा।

ट्विंकल के परिवार में दो बेटियां है और दोनों अपनी माँ से काफी प्रभावित है। उनकी एक बेटी सिर्फ इस बात का इंतजार कर रही है कि कब वो 18 वर्ष की हो और वो भी अपनी माँ की तरह एम्बुलेंस चला लोगों की सेवा कर सके।(आईएएनएस-SHM)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,623FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी