Finland का तटस्थ दर्जा छोड़ना होगी एक बड़ी भूल -पुतिन

Finland का तटस्थ दर्जा छोड़ना होगी एक बड़ी भूल -पुतिन
रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन । (Wikimedia Commons )

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने फिनलैंड के अपने समकक्ष को चेतावनी दी है कि नाटो(NATO) में शामिल होना और फिनलैंड(Finland) का तटस्थ दर्जा छोड़ना एक बड़ी 'भूल' होगी। उन्होंने शाऊली निनिस्टो से कहा कि Finland की सुरक्षा को कोई खतरा नहीं है।

एक औपचारिक अनुरोध से पहले फिनलैंड (Finland) के राष्ट्रपति द्वारा किए गए एक फोन कॉल के दौरान एक्सचेंज आया था, जिसे फिनलैंड द्वारा जल्द ही घोषित करने की उम्मीद है। बीबीसी ने बताया कि रूस के यूक्रेन पर आक्रमण के बाद स्वीडन ने पश्चिमी गठबंधन में शामिल होने के अपने इरादे का भी संकेत दिया है।

Finland PM (Twitter)
Finland PM (Twitter)

फिनलैंड रूस के साथ 1,300 किलोमीटर (810 मील) की सीमा साझा करता है। अब तक यह अपने पूर्वी पड़ोसी से दुश्मनी से बचने के लिए नाटो से बाहर रहा है। पुतिन ने फिनलैंड के इस कदम पर जवाबी कार्रवाई की कोई विशेष धमकी नहीं दी, लेकिन रूसी विदेश मंत्रालय ने संकेत दिया है कि जवाबी कार्रवाई होगी।

हालांकि फिनलैंड को बिजली आपूर्ति बंद करने के रूस के फैसले को शुरुआती संकेत के तौर पर देखा जा रहा है। रूसी ऊर्जा आपूर्तिकर्ता आरएओ नॉर्डिक ने अपने बयान में भुगतान के साथ समस्याओं का उल्लेख किया। फिनलैंड की राष्ट्रीय ग्रिड कार्यकारी रीमा पाइविनेन ने बीबीसी को बताया कि रूसी निलंबन से कोई समस्या नहीं हुई है।

उन्होंने कहा कि रूसी आयात राष्ट्रीय आपूर्ति का लगभग 10 प्रतिशत है, यह कहते हुए कि उन्हें वैकल्पिक स्रोतों से बदला जा सकता है। शनिवार को निनिस्टो और पुतिन के बीच फोन कॉल के बाद क्रेमलिन ने कहा कि रूसी नेता ने जोर देकर कहा था कि सैन्य तटस्थता की पारंपरिक नीति का अंत एक गलती होगी, क्योंकि फिनलैंड की सुरक्षा को कोई खतरा नहीं है।

इसमें कहा गया है : "देश के राजनीतिक अभिविन्यास (ओरिएंटेशन) में इस तरह के बदलाव से रूसी-फिनिश संबंधों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है जो वर्षो से अच्छे पड़ोसी और भागीदारों के बीच सहयोग की भावना से विकसित हुए हैं।" निनिस्टो ने कहा कि उन्होंने पुतिन को बताया था कि कैसे यूक्रेन पर आक्रमण के साथ रूस के हालिया कदमों ने फिनलैंड के सुरक्षा वातावरण को बदल दिया है।

आईएएनएस(LG)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com