कनाडा की संसद पहुंची श्रीमद्भगवद्गीता

पवित्र ग्रंथ श्रीमद्भगवद्गीता को कनाडा की संसद के पुस्तकालय में रखा गया।
कनाडा की संसद पहुंची श्रीमद्भगवद्गीता
कनाडा की संसद पहुंची श्रीमद्भगवद्गीताIANS

कनाडा की राजधानी ओटावा के संसद भवन में तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का भव्य तरीके से शुभारंभ हुआ। इस अवसर पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के संदेश को पढ़कर सुनाया गया।

इस अवसर पर, पवित्र ग्रंथ भगवद गीता को कनाडा की संसद के पुस्तकालय में रखा गया। पुस्तकालय की प्रमुख सोन्या ने गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद और भारतीय मूल के कनाडाई सांसद चंद्र आर्य से संसद पुस्तकालय के लिए गीता प्राप्त की।

बाद में इस अवसर पर बोलते हुए स्वामी श्री ज्ञानानंद ने कहा कि वर्तमान समय में भगवद गीता की प्रासंगिकता अधिक प्रासंगिक हो गई है। प्रत्येक व्यक्ति को जीवन में इसकी शिक्षाओं को आत्मसात करना चाहिए।

स्वामी श्री ज्ञानानंद ने कहा, हमें भगवद गीता के संदेश को दुनिया के कोने-कोने में फैलाना है। इसके लिए अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव (आईजीएम) कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

कार्यक्रम में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो का एक संदेश भी पढ़ा गया, जिसमें पार्लियामेंट हिल में सभी का स्वागत किया गया था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस तरह के आयोजन न केवल कनाडाई लोगों को एक साथ लाते हैं बल्कि उन्हें अपनी विविधता का जश्न मनाने के लिए भी प्रोत्साहित करते हैं।

उन्होंने कहा कि भगवद गीता में सिखाया गया शांति, सद्भाव और भाईचारे का संदेश सर्वव्यापक है, और उन्होंने इस विशेष दिन का हिस्सा बनने के लिए वहां मौजूद सभी लोगों को धन्यवाद दिया।

इस अवसर पर चिन्मय मिशन के बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम व गीता श्लोक पाठ किया गया, इसके बाद शास्त्रीय नृत्य की प्रस्तुति दी गई।

(आईएएनएस/HS)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com