चीन में गर्मी के कहर से सूख रही यांग्त्जी नदी

यांग्त्जी दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी नदी है, जो 400 मिलियन से अधिक चीनी लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराती है और चीन की अर्थव्यवस्था के लिए सबसे महत्वपूर्ण जलमार्ग है।
चीन में गर्मी के कहर से सूख रही यांग्त्जी नदी
चीन में गर्मी के कहर से सूख रही यांग्त्जी नदीIANS

चीन में रिकॉर्ड तोड़ गर्मी पड़ रही है। तेजी से बढ़ रहे तापमान की वजह से यांग्त्जी समेत कई नदियां भी सूख रही हैं, जलविद्युत प्रभावित हो रहा है, शिपिंग रोक दी गई है और प्रमुख कंपनियों का परिचालन स्थगित करने के लिए मजबूर होना पड़ा है। द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, चीन के भारी आबादी वाले दक्षिण-पश्चिम में हीटबेव जारी है। वहां के मौसम विभाग ने सितंबर में भी भीषण गर्मी जारी रहने की भविष्यवाणी की है। जिसके चलते 19 अगस्त को चीनी सरकार ने एक राष्ट्रव्यापी सूखे की चेतावनी जारी की।

स्थानीय मीडिया ने बताया, रविवार को प्रांतीय सरकार ने बताया कि सिचुआन के जलविद्युत जलाशयों में पानी का प्रवाह आधा हो गया है। वहीं, इस गर्मी में बिजली की मांग में 25 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

पिछले सप्ताह प्रांत ने हजारों फैक्ट्री की बिजली की आपूर्ति को निलंबित कर दिया था या फिर सीमित कर दिया था। उत्पादन की कमी के कारण सार्वजनिक बिजली को जरुरत के अनुसार उपयोग करने का आह्वान किया था।

टोयोटा, फॉक्सकॉन और टेस्ला उन कंपनियों में शामिल हैं, जिन्होंने संयंत्रों में अस्थायी रूप से परिचालन को निलंबित कर दिया है।

रविवार को साउथ चाइना मॉनिर्ंग पोस्ट (एससीएमपी) ने बताया कि इस हफ्ते उत्पादन शुरू करने की योजना को फिर से स्थगित कर दिया गया है।

चीन में गर्मी के कहर से सूख रही यांग्त्जी नदी
Heat Wave से भारत त्रस्त

द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, यांग्त्जी दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी नदी है, जो 400 मिलियन से अधिक चीनी लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराती है और चीन की अर्थव्यवस्था के लिए सबसे महत्वपूर्ण जलमार्ग है।

यह ग्लोबल सप्लाई चेन के लिए भी महत्वपूर्ण है, लेकिन इस गर्मी में इसका जल रिकॉर्ड निम्न स्तर तक पहुंच गया है। दर्जनों सहायक नदियां सूख रही हैं।

यांग्त्जी के मुख्य ट्रंक पर पानी का प्रवाह पिछले पांच वर्षों के औसत से 50 प्रतिशत से भी कम है।

एससीएमपी की रिपोर्ट के अनुसार, नदी के मध्य और निचले हिस्से में शिपिंग रूट्स भी बंद हो गए हैं।
(आईएएनएस/PS)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com