Friday, May 7, 2021
Home देश भारत विश्वगुरु था, विश्वगुरु है और विश्वगुरु रहेगा : निशंक

भारत विश्वगुरु था, विश्वगुरु है और विश्वगुरु रहेगा : निशंक

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि, "विश्व स्तरीय रैंकिंग को देखकर लगता है कि अभी हमारे देश में शोध एवं रिसर्च के क्षेत्र में सुधार की गुंजाइश है।

भारत सरकार (Indian government) रिसर्च के क्षेत्र में भारतीय संस्थानों की अंतर्राष्ट्रीय रैंकिंग (International ranking) में सुधार चाहती है। इसी के मद्देनजर केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय भारतीय शिक्षण संस्थानों में अनुसंधान और पेटेंट पर विशेष महत्व देगा। विशेषज्ञों के अनुसार समग्र रैंकिंग (Ranking) में सुधार के बावजूद भारतीय संस्थानों का शोध कार्य अभी भी अंतर्राष्ट्रीय रैंकिंग (International ranking) में पीछे है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (ramesh pokhriyal nishank) ने कहा कि, “विश्व स्तरीय रैंकिंग को देखकर लगता है कि अभी हमारे देश में शोध एवं रिसर्च के क्षेत्र में सुधार की गुंजाइश है। हालांकि सारी दुनिया में हमारे युवा (Youth) छाए हुए हैं। आईआईटी (IIt) से निकले छात्र दुनिया में हर जगह फैले हुए हैं। चाहे फिर वह गूगल (Google) हो या फिर अमेरिका (America) की कोई बड़ी कंपनी। यह भारतीय युवा न केवल विदेशों में नौकरी कर रहे हैं, बल्कि विश्व भर की अग्रणी कंपनियों को नेतृत्व भी प्रदान कर रहे हैं।”

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक | (PIB)

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (ramesh pokhriyal nishank) ने संसद में दिए अपने वक्तव्य में यह बातें कहीं। उन्होंने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (New education policy) को नये भारत के निर्माण के लिए सशक्त और श्रेष्ठ आधार शिला करार देते हुए कहा कि भारत विश्वगुरु था, विश्वगुरु है और विश्वगुरु रहेगा। निशंक ने कहा कि 21वीं सदी के स्वर्णिम भारत के निर्माण के लिए नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (New education policy) लायी गयी है, जो सशक्त, श्रेष्ठ और आत्मनिर्भर भारत (Aatam nirbhar bharat) की आधरशिला बनेगी।

निशंक ने कहा कि हमने विश्व को बाजार नहीं बल्कि परिवार माना है। शिक्षा की अलग-अलग योजनाओं के तहत पर्याप्त धनराशि आवंटन की गई है। 15 हजार आदर्श स्कूलों (Schools) और सैनिक स्कूलों का विकास किया जा रहा है।

केंद्रीय मंत्री ने शिक्षा क्षेत्र में बजट (Budget) में कटौती किए जाने के आरोपों को भी खारिज किया है। निशंक (Nishank) ने कहा कि वह स्पष्ट करना चाहते हैं कि शिक्षा के बजट में कोई कटौती नहीं हुई।

यह भी पढ़े :-  दिल्ली विश्व स्तर पर सबसे प्रदूषित राजधानी : रिपोर्ट

निशंक (Nishank) ने कहा कि 43 लाख 72 हजार गरीब बच्चों की शिक्षा की व्यवस्था सरकार कर रही है। इसके लिए 1000 करोड़ रुपए से अधिक राशि खर्च की जा रही है। इग्नू (Ignuo) जैसा संस्थान दूरस्थ क्षेत्रों में इस समय 8 लाख 19 हजार से अधिक छात्रों को शिक्षा दे रहा है। (आईएएनएस-SM)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,639FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी