Saturday, May 15, 2021
Home दुनिया भारत में हाई टेक्नोलॉजी की आरटी-पीआर किट बनाई जा सकती है :...

भारत में हाई टेक्नोलॉजी की आरटी-पीआर किट बनाई जा सकती है : जीनस्टोर फ्रांस

देश में कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण लॉकडाउन कर दिया गया था, तब विश्व स्वास्थ्य संगठन ने यह दावा किया था कि कोरोना को फैलने से रोकने का एकमात्र उपाय केवल लोगों के ज्यादा से ज्यादा टेस्ट करना है।

बीते साल मार्च में पूरे जब देश में कोरोना महामारी (Coronavirus) के प्रकोप के कारण लॉकडाउन कर दिया गया था, तब विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) ने यह दावा किया था कि कोरोना को फैलने से रोकने का एकमात्र उपाय केवल लोगों के ज्यादा से ज्यादा टेस्ट करना है। इसी मोड़ पर भारतीय (Indian) संस्थापक अनुभव अनुषा (Anhbhav Anusha) के नेतृत्व में और उनके द्वारा स्थापित फ्रेंच मल्टी नेशनल कंपनी-जीनस्टोर फ्रांस (Jinstore France) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के टेस्ट के लिए सबसे किफायती कोरोना वायरस टेस्टिंग किट (Testing Kit) केवल 199 रुपये में लॉन्च की थी। सबसे खास बात यह है कि इस टेस्टिंग किट को फ्रांस (France) सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय और आईसीएमआर (ICMR) से हरी झंडी मिल चुकी है।

जीनस्टोर फ्रांस (Jinstore France) के एक अधिकारी ने बताया कि कंपनी ने किफायती टेस्टिंग किट बनाने का फैसला इसलिए किया क्योंकि ज्यादा से ज्यादा लोग कोरोना का अपना टेस्ट करा सकें और इस बीमारी के और फैलने से पहले इस पर कंट्रोल किया जा सके। इससे पहले की कोरोना टेस्टिंग किट काफी महंगी थी, जो आम लोगों की पहुंच से बाहर थी। इससे आम जनता के सभी वर्ग के लोग टेस्ट नहीं करवा सकते थे।

भारत (India) में कोरोना वायरस की टेस्टिंग के लिए जीनस्टोर फ्रांस (Jinstore France) की ‘डिटेक्टशन एक्सपर्ट आरटी-पीसीआर किट’ की लॉन्चिंग से पहले दुनिया भर में डायग्नोटिक्स इंडस्ट्री (Dignostic Industry) पर प्रमुख रूप से उत्तरी अमेरिका (North America) और यूरोप (Europe) की बड़ी कंपनियों का नियंत्रण था। इसके अलावा कोरोना महामारी फैलने के शुरूआती दिनों में भारत में आरटी-पीसीआर किट की रिटेल मार्केट में बिक्री 500 रुपये से 1000 रुपये तक की कीमत में की गई थी।

कोरोना को फैलने से रोकने का एकमात्र उपाय केवल लोगों के ज्यादा से ज्यादा टेस्ट करना है। (सांकेतिक चित्र , Unsplash) 

एक कंपनी के रूप में जीनस्टोर फ्रांस (Jinstore France) को एक प्रमुख चुनौती का सामना करना पड़ा। कंपनी को भारत (India) में बेहतरीन गुणवत्ता की टेस्टिंग किट सप्लाई करने वाली प्रमुख लैब्स के सामने अपनी टेस्टिंग किट का प्रदर्शन करना पड़ा और उन्हें यह बताना पड़ा कि बेहतरीन क्वॉलिटी की टेस्टिंग किट की आपूर्ति जीन स्टोर की किफायती दाम में मिल रही आरटी-पीसीआर किट से ही संभव है।

कंपनी की टेस्टिंग किट ने हालांकि इन लैब्स की कड़े गुणवत्ता मानकों का टेस्ट आसानी से पूरा कर लिया, जिसमें से बहुत सी लैब को सीएपी (कॉलेज ऑफ अमेरिकन पैथोलॉजी) से मान्यता मिली थी। जीन स्टोर के पास यूरोप (Europe) और भारत (India) में सभी कच्चे माल के लिए एक पूरा मैन्युफैक्च रिंग सेटअप था। इसी के चलते कंपनी को किफायती दाम की टेस्टिंग किट बनाने का पूरा फायदा उपभोक्ताओं को देने की इजाजत मिली।

भारत की सबसे बड़ी डायग्नोस्टिक टेस्टिंग कंपनी (dignostic Testing Company) के लिए मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (Moleculer Biology) और एचएलए के हेड ऑफ डिपार्टमेंट डॉ. वाई.पी. सिंह ने कहा, “मेरी लैब ने लॉन्चिंग के बाद कोरोना वायरस की टेस्टिंग के लिए जेनस्टोर की आरटी-पीसीआर किट का इस्तेमाल किया । मैं इस टेस्टिंग किट की बेहतरीन क्वॉलिटी और परफॉर्मेस से बेहद खुश हूं।”

यह भी पढ़े :- तंबाकू नियामक समिति द्वारा ओपन सिस्टम पर प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की गई है !

जीनस्टोर के आत्मनिर्भर (Atmanirbhar) और मेक इन इंडिया (Make In India) की पहल के बाद इस क्षेत्र में हुई व्यापक उन्नति से कंपनी को भारत में कोरोना टेस्टिंग किट के 40 फीसदी मार्केट पर 60 दिनों की अवधि में कब्जा करने में सफलता मिली। इसके अलावा जीनस्टोर को आत्मनिर्भर भारत और मेक इन इंडिया (Make In India) के परिपेक्ष्य में एक महत्वपूर्ण तथ्य को साबित करने में सफलता मिली कि यूरोपीय गुणवत्ता मानकों के साथ भारत में किफायती दाम पर हाई टेक्नोलॉजी की आरटी-पीआर किट बनाई जा सकती है, जिसे भारत में काफी कम दाम पर लोग खरीदकर उसका प्रयोग कर सकते हैं। (आईएएनएस-SM)
 

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,635FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी