Sunday, May 9, 2021
Home देश जीवन सेवा एप : दिल्ली में कोविड रोगियों के लिए एक 'मुक्तिदाता'

जीवन सेवा एप : दिल्ली में कोविड रोगियों के लिए एक ‘मुक्तिदाता’

जीवन सेवा एप- एक मोबाइल एप्लीकेशन--दिल्ली में कोविड-19 मरीजों के लिए मुक्तिदाता साबित हो रहा है| इसका मकसद लोगों के लिए मेडिकल ट्रैवल को आसान बनाना है|

जीवन सेवा एप- एक मोबाइल एप्लीकेशन–दिल्ली में कोविड-19 मरीजों के लिए मुक्तिदाता साबित हो रहा है, क्योंकि राष्ट्रीय राजधानी कोविड-19 महामारी की चौथी लहर से गुजर रही है। पिछले साल कोविड-19 के पीक के दौरान दिल्ली सरकार ने नवंबर में जीवन सेवा एप (Jeevan seva app) लॉन्च किया था। इसका मकसद होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों के लिए मेडिकल ट्रैवल को आसान बनाना hai । कई कोविड मरीजों को पहले ही इस सेवा से लाभ मिल चुका है। इस साल भी यह एप काम कर रहा है।

इस एप का उद्देश्य दिल्ली में कोविड-19 रोगियों और उनके परिवारों को होम आइसोलेशन के तहत स्वास्थ्य देखभाल सुविधा के लिए उनके सुरक्षित लघुकरण के लिए स्वच्छ इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) प्राप्त करने में मदद करना है। सड़कों पर इस समय चौबीसों घंटे 160 विश्वस्तरीय ईवी कैब चल रही हैं।

एप दिल्ली में किसी भी बिंदु से उपचार के लिए रोगियों को लघुकरण करने में मदद करने के लिए एक समर्पित ईवी कैब सेवा प्रदान करता है और यह बिल्कुल बिना किसी शुल्क के है।

तो, अब इस एप पर एक क्लिक के साथ रोगी एक परेशानी मुक्त सवारी बुक कर सकते हैं और एक पर्यावरण के अनुकूल तरीके से दूसरों के लिए वायरस के प्रसार को रोक सकते हैं।

Apps
मरीज गूगल प्ले स्टोर और आईओएस एप स्टोर के जरिए ‘जीवन सेवा एप’ डाउनलोड कर सकते हैं। (Pixabay)

मरीज गूगल प्ले स्टोर और आईओएस एप स्टोर के जरिए ‘जीवन सेवा एप’ डाउनलोड कर सकते हैं। वे ओटीपी के जरिए रजिस्ट्रेशन कराने के बाद एप से कैब भी बुक कर सकते हैं, अपनी पिकअप और ड्रॉप लोकेशन डालकर।

नजदीकी कैब को अपने आप सर्व करने के लिए भेजा जाएगा। यह सेवा 24 घंटे उपलब्ध है।

दिल्ली (Delhi) के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंदर जैन ने जरूरत पड़ने पर इस सेवा का इस्तेमाल करने की अपील की है। इस एप के साथ, किसी को ठीक से स्वच्छ ई-वाहन तक पहुंच मिलेगी जो आसपास के स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए मुफ्त परिवहन प्रदान करेगा। कोविड रोगियों के लिए परेशानी मुक्त स्थायी परिवहन समाधान केवल एक क्लिक दूर है।

प्रकृति ई-मोबिलिटी प्राइवेट लिमिटेड के सह-संस्थापक और सीईओ निमिष त्रिवेदी ने कहा, हम जीवन सेवा एप को विकसित करने में दिल्ली सरकार के साथ सहयोग करने में सम्मानित महसूस कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, हम अब तक 42,000 से अधिक गैर महत्वपूर्ण रोगियों की सेवा की है। एप ने दिल्ली की आपातकालीन लघुकरण सेवाओं में दक्षता जोड़ी है, जिससे एंबुलेंस समय पर गंभीर अनुरोधों को पूरा करने के लिए अधिक उपलब्ध हो सकती है। हम लोगों से जीवन सेवा एप डाउनलोड करने और इस संकट के दौरान लाभ उठाने का आग्रह करेंगे।”

यह भी पढ़ें :- 5जी नेटवर्क के लिए नया सिस्टम-ऑन-ए-चिप विकसित कर रहे सैमसंग और मार्वल

इस जीवन सेवा एप के माध्यम से त्रिवेदी ने कहा कि कोरोना रोगी को पिक-अप समय से अवगत कराया जाएगा और केवल एप के माध्यम से चालक से संपर्क कर सकते हैं, जिससे कैब एम्बुलेंस की उपलब्धता और पहुंचने के बारे में चिंता कम हो सकती है।

यह प्रक्रिया सभी डिजिटल है और यह रोगियों को टच-फ्री सुविधाजनक ड्राइव देगा। रोगी का नाम, संख्या और स्थान सहित यात्रा विवरण स्वचालित रूप से डेटाबेस में संग्रहीत हो जाएगा और दैनिक आधार पर स्वास्थ्य विभाग के साथ साझा किया जाएगा। (आईएएनएस-SM)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,640FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी