वैश्विक स्तर पर नए रंग में दिखेगी काशी की तस्वीर

0
73
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे। (IANS)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर(Kashi Vishwanath Corridor) का लोकार्पण करेंगे। इस मौके पर वे बाबा बाबा विश्वनाथ का अभिषेक भी करेंगे। इससे पहले पिछले साल 30 नवंबर 2020 को जब वे देव-दीपावली के मौके पर जब काशी आए थे तो देव-दीपावली की विहंगम छटा को देखने के लिए वे घाट तक कार से आए थे। अब 13 दिसंबर को होने वाले लोकार्पण समारोह के लिए पूरी काशी(Kashi) को किसी दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है। शहर का प्रशासन अब इस लोकार्पण समारोह(Inauguration Ceremony) को अकल्पनीय बनाने के लिए तैयारियों को मूर्त रूप देने में लगा है।

श्री काशी विश्वनाथ धाम(Shree Kashi Vishwanath Dham) में बाबा विश्वनाथ की आरती के समय घंटियों और डमरूओं की निनाद के साथ रोशनी का संयोजन किया गया है। धाम तक आने वाले रास्तों पर फ्लोर लाइटिंग लगाई गई है, जो श्रद्धालुओं को लाइटिंग के साथ बाबा के गर्भगृह तक लेकर जाएगी।

प्रशासन काशी को सवारने का काम तेज़ी से कर रहा है। साथ में काशीवासी लोकार्पण समारोह में आने वाले मेहमानो के लिए कुंडो और गंगा घाटों की सफाई में जुट गया है। लोकार्पण समारोह के बाद बाबा विश्वनाथ का प्रसाद घर-घर तक पहुंचाया जाएगा।

kashi vishwanath corridor, varanasi, narendra modi

नरेंद्र मोदी के आगमन और लोकार्पण समारोह को देखते काशी को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है। (IANS)

शहर के मंडलायुक्त और श्री काशी विश्वनाथ कार्यपालक समिति के अध्यक्ष दीपक अग्रवाल ने कहा की यह एक ऐतिहासिक पल है। सैंकड़ो साल बाद श्री काशी विश्वनाथ मंदिर का जीर्णोद्धार होने जा रहा है। इस मौके पर भव्य लोकार्पण की तैयारी की जा रही है देश और विश्व भर के लोग इस पल के साक्षी बने और अपनी आने वाली पीढ़ियों को काशी विश्वनाथ मंदिर के भव्य जीर्णोद्धार के बारे में बता सकें। लोग सैंकड़ो सालों तक इस पल को याद रखेंगे।

मंदिर कार्यपालक समिति के अध्यक्ष ने बताया कि लोकार्पण के लिए शहर में साफ-सफाई का अभियान चलाया जा रहा है। गंगा के घाटों और कुंडों की सफाई और साज-सज्जा किया जा रहा है। गंगा के दोनों किनारे करीब 11 लाख दीप रोशनी बिखेरेंगे। सरकारी भवनों को भी रोशनी से सजाया जा रहा है। मंदिरों को आकर्षक तरीके से सजाया जा रहा है। भजन संध्या का आयोजन हो रहा है। लोगों से अपने घरों पर लाइटिंग करने और लोकार्पण के दिन दीपों को जलाने की अपील की गई है।

भाजपा काशी क्षेत्र के अध्यक्ष महेश चंद श्रीवास्तव के अनुसार बाबा के भोग लगे प्रसाद को पहले सभी आठ विधानसभाओं में पहुंचाया जाएगा। वहां से पहले मंडल फिर सेक्टर इसके बाद बूथों पर प्रसाद पहुंचेगा। प्रत्येक पैकेट में दो लड्डू होंगे। प्रसाद के पैकेट को भाजपा की बूथ समिति के कार्यकर्ता सर्वप्रथम अपने बूथ अंतर्गत आने वाले मठों, मंदिरों में रहने वाले संत, महात्माओं के साथ ही हर वर्ग के लोगों को वितरित करेंगे।

काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के बाद मास पयर्ंत चलने वाले भव्य काशी दिव्य काशी अभियान में 17 दिसंबर को बड़ा लालपुर स्थित दीनदयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल (टीएफसी) में महापौर सम्मेलन होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोपहर एक बजे देशभर से आए महापौर को वर्चुअल संबोधित करेंगे।

यह भी पढ़ें- WWF ने तंज़ानिया में पर्यावरण संरक्षण के लिए अनुबंधों पर किये हस्ताक्षर

धाम के अलावा शहर के चैराहों पर भी फूलों से सजावट होगी। श्री काशी विश्वनाथ का आंगन 13 दिसंबर को ऑरेंज ग्लेडी, अस्टर, कुंद, रजनीगंधा, बनारसी गेंदा और गुलाब से महकेगा। शहर के फूल व्यापारियों को जो ऑर्डर मिले हैं, उसमें गेंदा और गुलाब के साथ चमेली, कुंद, स्टार, पॉम, लर, स्टीक, ग्लेडिया (ऑरेंज, रेड और येलो) शामिल हैं।

Input-IANS; Edited By- Saksham Nagar

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here