बलिया के अस्पताल में मोबाइल टॉर्च की रोशनी में डॉक्टर ने किया मरीजों का इलाज : यूपी

जनरेटर के लिए बैटरियां मिलने में कुछ देरी: मोबाइल टॉर्च की रोशनी में किया इलाज।
मोबाइल टॉर्च की रोशनी में मरीजों का इलाज
मोबाइल टॉर्च की रोशनी में मरीजों का इलाज IANS

उत्तर प्रदेश के बलिया के सरकारी अस्पताल में लंबे समय तक बिजली कटौती के चलते डॉक्टरों ने मोबाइल टॉर्च की रोशनी में मरीजों का इलाज किया। सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें एक डॉक्टर स्ट्रेचर पर महिला मरीज की मोबाइल टॉर्च की रोशनी में जांच करता हुआ दिखाई दे रहा है।

जिला अस्पताल के ऑथोर्पेडिक सर्जन और चीफ इंचार्ज डॉ. आर.डी. राम ने कहा, "जनरेटर के लिए बैटरियां मिलने में कुछ देरी हुई, तब तक अंधेरा रहा और सबको परेशानी हुई।"

उन्होंने दावा किया कि अस्पताल में बैकअप के लिए जनरेटर है, लेकिन बैटरी मिलने में कुछ ज्यादा समय लगा।

मोबाइल टॉर्च की रोशनी में मरीजों का इलाज
World Health Organization ने विश्व भर से Cancer पीड़ितों के उपचार की असमानताओं को दूर करने का आह्वान किया

यह पूछे जाने पर कि जनरेटर में बैटरी क्यों नहीं थी, उन्होंने कहा, "बैटरी चोरी होने का हमेशा डर रहता है। इसलिए उपयोग में नहीं होने पर उन्हें हटा दिया जाता है।"

कई मरीजों का कहना है कि यहां बार-बार बिजली कटना आम बात हो गई है और अस्पताल प्रशासन आमतौर पर जनरेटर का इस्तेमाल नहीं करता है।

बलिया में पिछले दिनों भारी बारिश हुई थी, जिससे बिजली आपूर्ति बाधित हुई थी।

(आईएएनएस/PT)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com