दक्षिण कोरिया में 'Brain-eating amoeba' से पहला संक्रमण आया सामने

यह देश में इस बीमारी से होने वाला पहला मामला है, जिसे पहली बार 1937 में संयुक्त राज्य अमेरिका में दर्ज किया गया था।
दक्षिण कोरिया में 'Brain-eating amoeba से पहला संक्रमण आया सामने

दक्षिण कोरिया में 'Brain-eating amoeba से पहला संक्रमण आया सामने

IANS

दक्षिण कोरिया (South Korea) में नेगलेरिया फाउलेरी या 'ब्रेन-ईटिंग अमीबा' ('Brain-eating amoeba') से पहला संक्रमण सामने आया है। कोरिया रोग नियंत्रण और रोकथाम एजेंसी (केडीसीए) ने पुष्टि की है कि एक कोरियाई नागरिक, जिसकी थाईलैंड (Thailand) से लौटने के बाद मृत्यु हो गई थी, वह नेगलेरिया फाउलेरी से संक्रमित था। यह एक ऐसी बीमारी है, जो मानव मस्तिष्क को नष्ट कर देता है।

दक्षिणपूर्व एशियाई देश में चार महीने रहने के बाद 50 वर्षीय व्यक्ति 10 दिसंबर को कोरिया वापस आया और अगले दिन अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पिछले सप्ताह मंगलवार को उसका निधन हो गया।

यह देश में इस बीमारी से होने वाला पहला मामला है, जिसे पहली बार 1937 में संयुक्त राज्य अमेरिका (United States of America) में दर्ज किया गया था।

बता दें, नेगलेरिया फॉवलेरिया एक अमीबा है, जो आमतौर पर दुनिया भर में गर्म मीठे पानी की झीलों, नदियों, नहरों और तालाबों में पाया जाता है। अमीबा नाक के माध्यम से सांस में जाता है और फिर मस्तिष्क में समा जाता है।

<div class="paragraphs"><p>दक्षिण कोरिया में 'Brain-eating amoeba से पहला संक्रमण आया सामने </p></div>
इन 7 सुपरफूड्स को खाकर बढ़ सकता है स्टेमिना, आज ही करें इस्तेमाल

केडीसीए ने कहा कि नेगलेरिया फाउलेरी के मानव-से-मानव में फैलने की संभावनाएं कम हैं, लेकिन स्थानीय निवासियों को उन क्षेत्रों में जाने से परहेज करने के लिए कहा है, जहां बीमारी फैल गई हैं।

अमेरिका, भारत (India) और थाईलैंड सहित दुनिया में 2018 तक नेगलेरिया फाउलेरी के कुल 381 मामले दर्ज किए गए हैं।

आईएएनएस/RS

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com