केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने खसरे के मामलों का जायज़ा लेने के लिए 3 उच्चस्तरीय 3 सदस्यीय टीम तैनात की

क्षेत्र में सक्रिय मामलों की खोज सुनिश्चित करने के लिए और पहचान किए गए मामलों के परीक्षण के लिए वीआरडीएल के साथ टीमें संबंधित राज्यों के साथ भी समन्वय करेंगी।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालयIANS

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि उसने खसरे के मामलों में वृद्धि का जायज़ा लेने के लिए रांची (Ranchi), अहमदाबाद (Ahmedabad) और मलप्पुरम (केरल) में तीन उच्चस्तरीय 3 सदस्यीय टीमों को तैनात करने का फैसला किया है। मंत्रालय ने कहा कि टीमें सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों को स्थापित करने में राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों की सहायता करेंगी और अपेक्षित नियंत्रण और नियंत्रण उपायों के संचालन की सुविधा प्रदान करेंगी।

रांची जाने वाली केंद्रीय टीम में राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी), नई दिल्ली (New Delhi) और राम मनोहर लोहिया अस्पताल (आरएमएलएच), नई दिल्ली के विशेषज्ञ शामिल हैं। पीएचओ, मुंबई (Mumbai), कलावती सरन चिल्ड्रेन्स हॉस्पिटल (केएससीएच), नई दिल्ली और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, अहमदाबाद के क्षेत्रीय कार्यालय के विशेषज्ञ अहमदाबाद जाने वाली केंद्रीय टीम में शामिल होंगे और मलप्पुरम जाने वाली टीम में मंत्रालय के तिरुवनंतपुरम स्थित क्षेत्रीय कार्यालय, जवाहरलाल इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (जेआईपीएमईआर), पुडुचेरी और लेडी हार्डिग मेडिकल कॉलेज (एलएचएमसी), नई दिल्ली के विशेषज्ञ शामिल होंगे।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय
शरीर में 'अच्छे' कोलेस्ट्रॉल ज्यादा मात्रा में होने के बाद भी रहता है हृदय रोग का खतरा

झारखंड (Jharkhand), गुजरात (Gujarat) और केरल (Keral) के वरिष्ठ क्षेत्रीय निदेशक अपने दौरे के संबंध में संबंधित टीमों के साथ समन्वय करेंगे। तीन शहरों में खसरे के बढ़ते मामलों के प्रबंधन के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों, प्रबंधन दिशानिर्देशों और प्रोटोकॉल के संदर्भ में प्रकोप की जांच करने और राज्य के स्वास्थ्य विभागों की सहायता करने के लिए टीमें क्षेत्र का दौरा भी करेंगी।

क्षेत्र में सक्रिय मामलों की खोज सुनिश्चित करने के लिए और पहचान किए गए मामलों के परीक्षण के लिए वीआरडीएल के साथ टीमें संबंधित राज्यों के साथ भी समन्वय करेंगी।

आईएएनएस/RS

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com