आखिर क्यों इस शहर में जिंदा दफन हो रहे हैं लोग?

"डेलीस्टार (Dailystar)" की माने तो इस थेरेपी का ऑनलाइन वर्जन भी उपलब्ध है और इसके लिए लोगों को 12 लाख रुपए का भुगतान करना पड़ेगा।
इस शहर में जिंदा दफन हो रहे हैं लोग
इस शहर में जिंदा दफन हो रहे हैं लोगWikimedia

एक कंपनी ने दावा करते हुए एक अजीबोगरीब थेरेपी (Therapy) की शुरुआत की है। कंपनी का दावा है कि इस थेरेपी से एंजाइटी समेत कई मनोविकारों से छुटकारा मिल सकता है। इस प्रक्रिया से गुजर रहे व्यक्ति को 20 मिनट से 60 मिनट तक जमीन के अंदर दफनाया जाता है कंपनी का कहना है कि यह प्रोसीजर पूरी तरह सुरक्षित है। इस थेरेपी के लिए 47 लाख रुपए चार्ज किए जा रहे हैं।

"डेलीस्टार (Dailystar)" की माने तो इस थेरेपी का ऑनलाइन वर्जन भी उपलब्ध है और इसके लिए लोगों को 12 लाख रुपए का भुगतान करना पड़ेगा। इस थेरेपी के तहत मोमबत्ती (Candle) जलाकर लोगों को संगीत सुनने का मौका मिलता है।

इस अजीबोगरीब थेरेपी की शुरुआत रूस (Russia) में हुई हैं और इसे शुरू करने वाली कंपनी का नाम प्रीकेटेड (Prekated) एकेडमी है। इस कंपनी की स्थापना Yakaterina Preobrazhenskaya ने की है। कंपनी के मालिक ने बताया कि फ्यूनरल (Funeral) पैकेज के तहत लोग अपने डर और एंजाइटी से छुटकारा पा सकते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि खुद से लड़ने को लेकर यह अनुभव ऐसा है जिससे व्यक्ति अपने जीवन में खुश रह सकता है।

इस शहर में जिंदा दफन हो रहे हैं लोग
अभिनेता G.V.Prakash नहीं करेंगे Online Gaming का विज्ञापन

ऑनलाइन पैकेज में लोगों को एंजाइटी और डर से निपटान के लिए स्ट्रेस (Stress) थेरेपी दी जाती है। लेकिन यदि आप अपने पैसे का पूरा मूल्य पाना चाहते हैं तो फुल इमर्सन पैकेज (Immersion Package) का विकल्प ही चुने।

Yakaterina Preobrazhenskaya ने इस प्रोसीजर के बारे में अपने इंस्टाग्राम पर विस्तार से बताया है साथ ही उन्होंने कहा कि यह प्रोसीजर पूरी तरह सुरक्षित है और हम बिना किसी कारण के अपने क्लाइंट्स को रिस्क में नहीं डालते।

आगे उन्होंने बताया कि इस थैरेपी के लिए उनसे कई लोग संपर्क करते हैं लेकिन वह हर किसी को यह थैरेपी नहीं देते और ऐसे लोगों के लिए दूसरा विकल्प चुनने के अवसर प्रदान करते हैं।

जब यह प्रोसीजर पूरा हो जाता है तो ताबूत भी कस्टमर को ही दे दिया जाता है।

(PT)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com