असम के सांसद ने की चाय को राष्ट्रीय पेय घोषित करने की मांग

राज्यसभा सांसद पबित्रा मार्गेरिटा ने सोमवार को केंद्र सरकार से चाय (Tea) को भारत का 'राष्ट्रीय ड्रिंक (National Drink)' घोषित करने की अपील की है।
चाय को राष्ट्रीय पेय घोषित करने की मांग (IANS)
चाय को राष्ट्रीय पेय घोषित करने की मांग (IANS)असम

flipkartअसम (Assam) से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राज्यसभा सांसद पबित्रा मार्गेरिटा ने सोमवार को केंद्र सरकार से चाय (Tea) को भारत का 'राष्ट्रीय ड्रिंक (National Drink)' घोषित करने की अपील की है। भाजपा सांसद पबित्रा मार्गेरिटा ने राज्यसभा के शून्यकाल के दौरान कहा कि चाय कई लोगों के दैनिक जीवन का एक अभिन्न अंग है, देश के नागरिक अपने दिन की शुरुआत एक कप चाय के साथ से करते हैं। कश्मीर (Kashmir) से लेकर कन्याकुमारी (Kanyakumari) तक और गुजरात (Gujrat) से पूर्वोत्तर तक हर घर में चाय उपलब्ध है। इसलिए चाय को हमारे देश का राष्ट्रीय पेय (राष्ट्रीय ड्रिंक) घोषित किया जाना चाहिए।

चाय को राष्ट्रीय पेय घोषित करने की मांग (IANS)
National Education Day 2022: इतिहास और महत्व

मार्गेरिटा ने चाय बागान श्रमिकों के समग्र विकास के लिए विशेष पैकेज की भी मांग की। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में करीब 50 लाख चाय मजदूर काम कर रहे हैं। असम की चाय साल 2023 में 200 साल पूरे कर लेगी। भाजपा सांसद ने आगे कहा कि असम के लोग इस अवसर को उत्साह के साथ मनाएंगे।

उन्होंने कहा, "मैं केंद्र सरकार से असम के चाय उद्योग को बढ़ावा देने के लिए सहयोग देने की अपील करता हूं।" उन्होंने सदन को अवगत कराया कि चाय के नाम पर विभिन्न प्रकार के चाय पेय बाजार में उपलब्ध हैं, जिससे चाय उद्योग पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है।

आईएएनएस/PT

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com