जानिए धरती के सबसे पुराने रंग के बारे में

क्या आपने कभी रंगो के बिना अपनी जिंदगी की कल्पना भी की है? सोचिए अगर रंग ना होते तो हमारी जिंदगी कतई बेरंग होती।
जानिए धरती के सबसे पुराने रंग के बारे में
जानिए धरती के सबसे पुराने रंग के बारे मेंWikimedia

धरती पर कई तरह के रंग पाएं जाते हैं और इन रंगों के कारण ही हमारी धरती और हमारी जिंदगी दोनों रंगीन है। क्या आपने कभी रंगो के बिना अपनी जिंदगी की कल्पना भी की है? सोचिए अगर रंग ना होते तो हमारी जिंदगी कतई बेरंग होती। आज के इस लेख में हम आपको धरती के सबसे पुराने रंग का नाम और उसके विषय में बहुत सी रोचक बातें बताएंगे।

• वैज्ञानिकों (Scientist) द्वारा की गई खोज में उन्हें सहारा रेगिस्तान (Sahara Desert) के नीचे की चट्टानों में सरंक्षित करीब एक अरब साल पुराने बैक्टीरिया (Bacteria) के जीवाश्म मिले हैं।

• इस स्टडी में यह बात सामने आई है कि यह जीवाश्म चटक गुलाबी (Pink) रंग के थे और यह रंग किसी जीव के द्वारा बनाया गया है यह दुनिया का सबसे पुराना ज्ञात रंग है।

• वही देखा जाए तो एक कला में इस्तेमाल पहला रंग लाल (Red) था। इस रंग का इस्तेमाल गुफा में चित्रित चित्रों को गेरुआ रंग की लकीरों और त्रिकोण बनाने में हुआ था।

जानिए धरती के सबसे पुराने रंग के बारे में
Railway Facts: दुनिया के इन देशों में आज तक नहीं चली एक भी रेल

• मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के भीमबेटका रॉक शेल्टर्स में भी 30 हजार साल पुराने सभी चित्र गेरुआ रंग के ही हैं।

• वहीं स्पेन (Spain) की गुफा अल्टामिरा की दीवारों पर बने 13 हजार साल पुरानी पेंटिंग भी लाल रंग की ही है।

• करीब 17 हजार साल पुरानी गुफा के चित्रों में पीले (Yellow) रंग का इस्तेमाल किया गया है और यह प्राचीन रोम (Rome) और मिस्र (Egypt) में काफी प्रचलित था।

• करीब 6000 साल पहले मिस्र के लोगों ने नीले (Blue) रंग का इस्तेमाल शुरू किया था। उन्होंने कैल्शियम और चूना पत्थर में लैपिस पत्थर को मिलाकर नीला रंग बनाया था।

• इसके बाद मिस्र के निवासियों ने ही नीले रंग को रोम (Rome) और फारस तक पहुंचाया हालांकि यह रंग कई सदियों तक दुर्लभ रहा। यही कारण था कि यह सिर्फ अमीरों का ही रंग माना जाता था।

(PT)

Related Stories

No stories found.
logo
hindi.newsgram.com