Sunday, May 16, 2021
Home देश पहले आसिफ पर रोना अब मंदिर की आरती में रोड़ा, आखिर कब...

पहले आसिफ पर रोना अब मंदिर की आरती में रोड़ा, आखिर कब तक?

'शांतिप्रिय' समुदाय आरती के समय मंदिर में हंगामा करने चले आए। उन्होंने 'अल्लाह-हु-अकबर' चिल्लाने के साथ-साथ वहां चल रहे अनुष्ठानों को भी रोकने का भी प्रयास किया। 

  • 28 मार्च 2021 को महाराष्ट्र में मच्छिंद्रनाथ के प्राचीन मंदिर में 50 से 60 मुस्लिम समुदाय के लोग ‘अल्लाह-हु-अकबर’ चिल्लाते हुए मंदिर में हंगामा करने लगे। यह घटना तब हुई जब वहां पर भक्त पारम्परिक संध्या आरती कर रहे थे। यह 28 मार्च की घटना थी, किन्तु इस घटना को जनता के बीच आने में इसलिए समय लगा क्योंकि लिब्रलधारी मीडिया ने इस घटना को बताने की रत्ती-भर भी रुचि दिखाई। इस घटना के सबूत के तौर पर एक वीडियो भी वायरल हो रहा है जिसमें शांतिप्रिय समुदाय के लोग मंदिर में धर्म-विशेष नारे लगा रहे हैं और भक्तों के साथ हाथापाई पर उतर आएं हैं।

प्रथा अनुसार हर वर्ष मछिंद्रनाथ के सम्मान में भक्त श्रीमालंग यात्रा करते हैं, जिनमे उनकी आस्था अधिक है। किन्तु कोरोना महामारी की वजह से इसे स्थगित करना पड़ा और मंदिर में ही अनुष्ठान को करने की अनुमति दी गई। इस बीच कम लोगों को ही उपस्थित रहने की अनुमति दी गई थी,  जिनमे से केवल सात लोग ही आरती में शामिल हुए थे। किन्तु उन शांतिप्रिय लोगों को यह आज़ादी भी रास नहीं आई और मंदिर में हंगामा करने चले आए। उन्होंने ‘अल्लाह-हु-अकबर’ चिल्लाने के साथ-साथ वहां चल रहे अनुष्ठानों को भी रोकने का भी प्रयास किया।

इस वीडियो के वायरल होने के बाद कुछ मीडिया संगठनों ने भी मोर्चा संभाला। किन्तु लिब्रलधारी मीडिया जैसे The Wire या अन्य संगठनों ने इस पर चर्चा भी नहीं की है। यही नहीं महाराष्ट्र के ही अकोला जिले में 28 मार्च को ही इन शांतिप्रिय समुदाय के लगभग 300 लोगों ने जलती होलिका पर पानी डाल दिया और पैरों से मार-मारकर बुझा दिया था । यह घटना वहां हुई है जहाँ मुस्लिम समुदाय के अधिकांश लोग रहते हैं। जिस मंदिर में यह घटना हुई उसे उदासी मठ के नाम से जाना जाता है जो कि काफी प्राचीन मंदिरों में से एक है। इस घटना का सबूत देते हुए ‘स्वानंद कोंडीलकर’ ने एक वीडियो साझा किया जिसमे मुस्लिम लोग होलिका को पानी से बुझाते दिखाई दे रहे हैं। वह मराठी में ट्वीट करते हैं जिसका हिंदी अनुवाद है कि “पोला चौक, अकोला में एक प्राचीन हनुमान मंदिर (उदासी मठ) है। मंदिर मुस्लिम बहुल इलाके में है। यह मंदिर पिछले कई वर्षों से उपेक्षित है। लेकिन पिछले कुछ महीनों से इलाके के हिंदू युवाओं ने हर शनिवार हनुमान चालीसा और आरती करना शुरू कर दिया है।”

अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा कि “कल, इलाके के युवाओं ने मंदिर के सामने होलिका जलाने का फैसला किया। स्थानीय मुसलमानों ने होलिका जलाने का विरोध किया। विरोध में होलिका जलाई गई। इसके तुरंत बाद, 200 से 300 मुस्लिम भीड़ इकट्ठा हुई और होलिका पर पानी डाला गया। अकोला में यही स्थिति …”

यह भी पढ़ें: Dasna Temple: वह मंदिर पर थूकते रहें और हम ‘सॉरी’-‘सॉरी’ कहें!

विचार करने की बात यह है कि यदि भारत सांप्रदायिक सद्भाव के लिए विश्वभर में प्रसिद्द है, तो हमले और आलोचनाओं के कटाक्ष हिन्दू ही क्यों सहते हैं? आखिर एक सनातनी कितना सहनशील रहेगा? हिन्दू बहुल राष्ट्र में यदि मुस्लिम समुदाय होलिका जलाने पर विरोध कर सकते हैं, तो यह एकता और भाईचारे का ढोंग क्यों? इन दोनों घटनाओं के बाद हिन्दू समाज में गुस्से का माहौल है और वह सभी पुलिस से उन उपद्रवियों पर करवाई करने का 4 दिन का अल्टीमेटम भी दे चुके हैं।

POST AUTHOR

Shantanoo Mishra
Poet, Writer, Hindi Sahitya Lover, Story Teller

जुड़े रहें

7,635FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी