Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
देश

वेतन के लिए MCD कर रही है त्राहिमाम, केजरीवाल हैं उड़ा रहे विज्ञापनों के जाम!

दिल्ली हाई कोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली सरकार को विज्ञापनों पर करोड़ों खर्च करने पर और विपदा के समय में MCD के कर्मचारियों को वेतन न देने पर फटकार लगाई है।

सोमवार को दिल्ली हाई कोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली सरकार को विज्ञापनों पर करोड़ों खर्च करने पर और विपदा के समय में MCD के कर्मचारियों को वेतन न देने पर फटकार लगाई है। हाई कोर्ट ने यह साफ और कड़े लहजे में कहा कि “हम देख सकते हैं कि किस तरह से सरकार राजनेताओं की तस्वीरों के साथ अखबारों में पूरे पन्ने का विज्ञापन देने पर खर्च कर रही है। लेकिन कर्मचारियों की सैलरी तक नहीं दी जाती है।” 


इसी के साथ कोर्ट ने यह भी सवाल किया कि, विपदा की घड़ी में कर्मचारियों का वेतन रोकना क्या अपराध नहीं है? और ‘आप’ विज्ञापनों पर इतना पैसा खर्च कर रहे हैं। हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार पर तंज कसते हुए यह कहा की आप नगर निगम के पैसा देने पर आभाव या वित्तीय संकट की बात करते हैं, किन्तु आपको उस समय कोई समस्या नहीं होती है जब विज्ञापनों पर करोड़ों खर्च किए जाते हैं। साथ ही, हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार को बिना कोई मोहलत देते हुए यह आदेश दिया है की वह सभी निगमों को बकाया धन किसी भी हाल में दें। 

ऑप इंडिया के न्यूज़ रिपोर्ट के अनुसार, तेजपाल सिंह द्वारा दायर आरटीआई से यह ज्ञात हुआ है कि दिल्ली सरकार ने पिछले 4 सालों में यानि 2015-19 में एक भी फ्लाईओवर या हस्पताल का निर्माण नहीं करवाया है। इसका मतलब यह है कि जिस विश्वस्तरीय दिल्ली का वादा किया गया था उस दिल्ली में तो काम का चक्का ही जाम है। न तो किसी अस्पताल को इस बीच अनुदान दिया गया और न ही निर्माण कार्यों में पैसा खर्च हुआ, तब सवाल यह कि पैसा गया कहाँ? इसका जवाब दिया है नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) के दिल्ली इकाई के अध्यक्ष अक्षय लाकड़ा ने, उन्होंने आरटीआई में पूछे गए सवालों के जवाब को ट्विटर पर पोस्ट करके यह लिखा कि “RTI से खुलासा हुआ कि 1 अप्रैल 2015 से लेकर 31 मार्च 2019 के बीच दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार ने ना ही किसी हॉस्पिटल को अनुदान दिया और न ही किसी नए फ्लाईओवर का निर्माण करवाया। बस झूठे विज्ञापन दे-दे कर जनता को मूर्ख बना लिया और जनता भी इसकी बातों में आ गई।”

पिछले वर्ष भी दिल्ली सरकार पर डॉक्टरों के वेतन न देने के आरोप लगे थे, वह भी तब जब कोरोना महामारी दिल्ली को अपने चपेट में ले चुकी थी और ‘कोरोना वारियर्स’ इस आपदा से निपटने के लिए जी-जान से मेहनत कर रहे थे। कांग्रेस नेता हारून युसूफ ने तो दिल्ली सरकार पर यह आरोप लगाया है कि उसने विज्ञापनों पर 611 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। 

यह भी पढ़ें: भाजपा ने केजरीवाल सरकार को बताया सपनों का सौदागर

केजरीवाल सरकार पर पहले भी विज्ञापनों पर अंधाधुंध पैसे खर्च करने के आरोप लग चुके हैं और इस समय यह दिल्ली हाई कोर्ट की सुनवाई और यह RTI दिल्ली सरकार के लिए नई मुसीबत बनकर आई है।(SHM)

Popular

कोहली ने आज ट्विटर के जरिए एक बयान में इसकी घोषणा की। (IANS)

वर्तमान में भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे बड़े खिलाड़ी और कप्तान विराट कोहली ने गुरूवार को घोषणा की कि वह इस साल अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 विश्व कप के बाद टी20 प्रारूप की कप्तानी छोड़ेंगे। उनका ये एलान करोड़ो दिलो को धक्का देने वाला था क्योंकि कोहली को हर कोई कप्तान के रूप में देखना चाहता है । कई दिनों से चल रहे संशय पर विराम लगाते हुए कोहली ने आज ट्विटर के जरिए एक बयान में इसकी घोषणा की। कोहली ने बताया कि वह इस साल अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 विश्व कप के बाद टी20 के कप्तानी पद को छोड़ देंगे।

ट्वीट के जरिए उन्होंने इस यात्रा के दौरान उनका साथ देने के लिए सभी का धन्यवाद दिया। कोहली ने बताया कि उन्होंने यह फैसला अपने वर्कलोड को मैनेज करने के लिए लिया है। उनका वर्कलोड बढ़ गया था ।

Keep Reading Show less

मंगल ग्रह की सतह (Wikimedia Commons)

मंगल ग्रह पर घर बनाने का सपना हकीकत में बदल सकता हैं। वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष यात्रियों के खून, पसीने और आँसुओ की मदद से कंक्रीट जैसी सामग्री बनाई है, जिसकी वजह से यह संभव हो सकता है। मंगल ग्रह पर छोटी सी निर्माण सामग्री लेकर जाना भी काफी महंगा साबित हो सकता है। इसलिए उन संसाधनों का उपयोग करना होगा जो कि साइट पर प्राप्त कर सकते हैं।

मैनचेस्टर विश्वविद्यालय के अध्ययन में यह पता लगा है कि मानव रक्त से एक प्रोटीन, मूत्र, पसीने या आँसू से एक यौगिक के साथ संयुक्त, नकली चंद्रमा या मंगल की मिट्टी को एक साथ चिपका सकता है ताकि साधारण कंक्रीट की तुलना में मजबूत सामग्री का उत्पादन किया जा सके, जो अतिरिक्त-स्थलीय वातावरण में निर्माण कार्य के लिए पूरी तरह से अनुकूल हो।

Keep Reading Show less

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (instagram , virat kohali)

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री का लोहा इन दिनों हर जगह माना जा रहा है । इसी क्रम में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान मार्क टेलर ने कहा है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री हाल के दिनों में टेस्ट क्रिकेट के महान समर्थक और प्रमोटर हैं। साथ ही उन्होंने कोहली की तारीफ भी की खेल को प्राथमिकता देते हुए वो वास्तव में टेस्ट क्रिकेट खेलना चाहते हैं।"
ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान मार्क टेलर ने इस बात पर अपनी चिंता व्यक्त की ,कि भविष्य में टेस्ट क्रिकेट कब तक प्राथमिकता में रहेगा। उन्होंने कहा, "चिंता यह है कि यह कब तक जारी रहेगा। उनका यह भी कहना है किइसमें कोई संदेह नहीं है कि जैसे-जैसे हम बड़े होते जाते हैं और नई पीढ़ी आती है, मेरे जैसे लोगों को जिस तरह टेस्ट क्रिकेट से प्यार है यह कम हो सकता है और यह हमारी पुरानी पीढ़ी के लिए चिंता का विषय है।"

\u0930\u0935\u093f \u0936\u093e\u0938\u094d\u0924\u094d\u0930\u0940 भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी और वर्तमान कोच रवि शास्त्री (wikimedia commons)

Keep reading... Show less