Saturday, May 8, 2021
Home देश जयपुर में प्रवासियों ने कहा, महामारी के दौरान भारत में होना हमारी...

जयपुर में प्रवासियों ने कहा, महामारी के दौरान भारत में होना हमारी खुशकिस्मती

एक दशक से अधिक समय से गुलाबी नगरी में रह रही मैरी-ऐनी औदेजंस और बारबरा मिओलिनी को भारत से प्यार है और इस देश में होने को लेकर खुद को खुशकिस्मत मानती है, जब दुनिया में कोविड-19 महामारी के कारण उथल-पथल है।


By: अर्चना शर्मा

यह उन युवा प्रवासियों की कहानी है, जिन्होंने सालों पहले अपना देश छोड़ दिया और जयपुर को अपना नया घर बना लिया।

एक दशक से अधिक समय से गुलाबी नगरी में रह रही मैरी-ऐनी औदेजंस और बारबरा मिओलिनी को भारत से प्यार है और इस देश में होने को लेकर खुद को खुशकिस्मत मानती है, जब दुनिया में कोविड-19 महामारी के कारण उथल-पथल है।

कोविड की वजह से प्रतिबंधों के कारण दोनों एक वर्ष से अधिक समय तक यूरोप में अपने परिवारों से मिलने नहीं गईं हालांकि वे अब मिलने के लिए उत्सुक हैं।

स्विट्जरलैंड में जन्मीं बारबरा ने कहा, “यह काफी लंबा वक्त रहा है।”

उन्होंने कहा, “यूरोप और दुनिया के कई अन्य हिस्सों में लोग वहां लगाए गए सख्त प्रतिबंधों के कारण मानसिक रूप से प्रभावित हुए हैं। हालांकि, हम खुशकिस्मत हैं कि हम यहां हर गुजरते दिन के साथ आगे बढ़ रहे हैं। हम मानसिक रूप से उन लोगों के जैसे प्रभावित नहीं हुए हैं।”
 

pink city
पिंक सिटी जयपुर । ( social media )

उन्होंने कहा कि वह 14 साल पहले किसी काम के सिलसिले में जयपुर आई थीं, तब से यहीं रह रही हैं।

बारबरा ने मुस्कुराते हुए कहा, “यह बिल्कुल भी योजनाबद्ध नहीं था।”

अपनी पृष्ठभूमि पर प्रकाश डालते हुए, बारबरा ने कहा, “मैंने अपना होटल मैनेजमेंट स्विट्जरलैंड से किया था, तब एक फैक्ट्री बनाई जो अरमानी और अन्य इतालवी ब्रांडों के लिए प्रोडक्सन करती थी। फिर मैंने यहां एक होटल से शुरुआत की और अब मैं एक नई परियोजना पर काम कर रही हूं।”

स्विस और इतालवी मूल की बारबरा स्विट्जरलैंड में पली बढ़ी और पिछले 15 वर्षों से भारत में है। वर्तमान में, वह शहर के बेहतरीन रेस्तरां बार पल्लीदियो की मालकिन हैं।

इस बीच, बारबरा, ईस्टर के दौरान स्विट्जरलैंड में अपने परिवार से मिलने की योजना बना रही है।

अन्य प्रवासी, मैरी-ऐनी, एक इंटीरियर डिजाइनर है जो 10 साल पहले गुलाबी नगरी आई थीं।

उन्होंने कहा, “मैं दिल्ली में एक परियोजना पर काम करने के लिए भारत आई थी और फिर जयपुर आने का फैसला किया क्योंकि मेरे पास मेरा कुत्ता था और हमने जयपुर में अधिक सहज महसूस किया।”

उन्होंने आगे कहा, “जयपुर में, बारबरा ने मुझे अपना बार डिजाइन करने के लिए कहा और उसके बाद मैं यहां काफी समय से काम कर रही हूं। मैंने कुछ बड़े प्रोजेक्ट्स करते हुए अपनी खुद की कंपनी यहां बनाई है।”

यह भी पढ़ें: बंगाल में सियासी घमासान के बीच उठ रहे हैं कई नए मुद्दे

लॉकडाउन के बारे में उन्होंने कहा, “यूरोप और दुनिया के अन्य हिस्सों में हमारे कई दोस्त फंसे हुए हैं, क्योंकि अधिकांश स्थान अभी भी लॉकडाउन में हैं। जबकि हम जयपुर में बाहर जा सकते हैं, हमारे अधिकांश दोस्तों के लिए स्थिति अभी भी एक दुस्वप्न की तरह है। हम बहुत यात्रा करते थे, हमारे परिवार से साल में छह बार मिलते थे क्योंकि वे अक्सर यहां आते थे, हालांकि, अब कोई भी यहां नहीं आ रहा है और हम वहां नहीं जा सकते क्योंकि हमारे पास बिजनेस वीजा है। हमें चिंता है कि अगर हम जाते हैं, तो हम शायद वापस नहीं आ सकें क्योंकि चीजें तेजी से बदल रही हैं।”

मैरीव ने आगे कहा, “इसके अलावा, मेरे पास एक डच पासपोर्ट है लेकिन पिछले 17 वर्षों से नीदरलैंड्स में नहीं रही हूं। यह एक जटिल मामला है, इसलिए हमने यहां रहने का फैसला किया, अब हम सही समय का इंतजार कर रहे हैं जब हम जाकर अपने परिवार से मिल सकेंगे।”

मैरी-ऐनी फ्रांस में पली बढ़ीं हैं। वह इटली, स्पेन और न्यूयॉर्क में भी रही हैं।

उन्होंने कहा, “भारत मेर लिए काफी हद तक मेरे घर जैसा है। मैंने यहां अच्छे दोस्त बनाए हैं और कुछ शानदार काम किया है .. इसलिए यह मेरा घर बना हुआ है।”
(आईएएनएस)
 

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,640FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी