25 अक्टूबर 2022: साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, जाने समय और बुरे प्रभाव से बचने के उपाय

ग्रहण शुरू होने से पहले ही उसके सूतक काल की शुरुआत हो जाती है सूतक काल उस समय अवधि को कहते हैं जिस दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किए जाने चाहिए।
सूर्य ग्रहण
सूर्य ग्रहणWikimedia

साल 2022 में साल का आखिरी सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) दिवाली (Diwali) से ठीक अगले दिन यानी कि 25 अक्टूबर को लगेगा। यह ग्रहण भारत में भी दिखाई देगा आज के लेख में हम आपको इसके समय के बारे में बताएंगे।

इस वर्ष का आखिरी सूर्य ग्रहण 25 अक्टूबर को भारत के अलावा विश्व के अलग-अलग हिस्सों में दिखाई देगा। धार्मिक मान्यताओं की माने तो ग्रहण लगना अशुभ होता है। यही कारण है कि ग्रहण काल में कुछ सावधानियां बरतने की सलाह दी जाती है। ग्रहण शुरू होने से पहले ही उसके सूतक काल की शुरुआत हो जाती है सूतक काल उस समय अवधि को कहते हैं जिस दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किए जाने चाहिए। आइए हम आपको सूर्य ग्रहण का सूतक और समय दोनों के बारे में बताते हैं।

सूर्य ग्रहण
Diwali 2022: जानिए दिवाली से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

सूर्य ग्रहण की शुरुआत 25 अक्टूबर यानी कि मंगलवार को शाम 4:28 से होगी और इसकी समाप्ति का समय शाम 5:30 है। यह सूर्य ग्रहण बहुत आंशिक समय के लिए होगा जिसकी अवधि कुल 1 घंटा 13 मिनट है। यह विशेष रूप से यूरोप, भारत, उत्तरी पूर्वी अफ्रीका और पश्चिम एशिया के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अपने क्षेत्र में लगने वाले ग्रहण को सूतक काल माना जाता है। 25 अक्टूबर का ग्रहण भारत में भी दिखाई देगा इसीलिए इसे भी इसका सूतक माना जाएगा। सूर्य ग्रहण लगने से ठीक 12 घंटे पहले सूतक ग्रहण शुरू हो जाता है। 25 अक्टूबर को लगने वाले ग्रहण का सूतक सुबह 3:17 से शुरू होगा और शाम 5:42 पर खत्म होगा।

साल का यह आखिरी सूर्य ग्रहण तुला राशि में लगेगा। ग्रहण के दौरान तुला राशि में कुल 4 ग्रह केतु, चंद्रमा, सूर्य और शुक्र रहेंगे। इसके साथ ही तुला राशि में लगने वाले सूर्य ग्रहण में तुला राशि में बृहस्पति षडाष्टक योग भी बनाएंगे। ज्योतिष के अनुसार हमें साल के आखिरी ग्रहण में सर्तक रहना चाहिए और दुष्प्रभाव से बचने के लिए जरूरतमंद लोगों को दान करें।

(PT)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com