बेहद रोचक है ये "शिक्षा" से "अच्छी शिक्षा" तक का सफर

तिब्बत की शिक्षा ने पूरे चीन के साथ उच्च गुणवत्ता वाले विकास के नये चरण में प्रवेश किया है।
"शिक्षा" से "अच्छी शिक्षा" तक का सफर
"शिक्षा" से "अच्छी शिक्षा" तक का सफरIANS

"शिक्षा" से "अच्छी शिक्षा" तक का सफर: हाल ही में चीन (China) के तिब्बत (Tibet) स्वायत्त प्रदेश की स्थानीय सरकार के प्रेस कार्यालय द्वारा आयोजित चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 18वीं राष्ट्रीय कांग्रेस के बाद तिब्बत में शिक्षा के विकास में प्राप्त उपलब्धियों से जुड़ी न्यूज ब्रीफिंग आयोजित हुई। इसके मुताबिक दस वर्षों में पूरे प्रदेश में व्यापक रूप से चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के शिक्षा से जुड़े नीति-नियमों को लागू किया गया। शिक्षा की गुणवत्ता को उन्नत करने के साथ-साथ शिक्षा की निष्पक्षता और आधुनिकीकरण को भी तेजी से मजबूत किया गया है। जिससे तिब्बत के शिक्षा कार्य में व्यापक प्रगति और ऐतिहासिक उपलब्धियां हासिल हुई हैं। तिब्बत की शिक्षा ने पूरे चीन के साथ उच्च गुणवत्ता वाले विकास के नये चरण में प्रवेश किया है।

"शिक्षा" से "अच्छी शिक्षा" तक का सफर
China की एक परियोजना ने Bangkok के कूड़ा संबंधित मुसीबत को किया दूर

बताया जाता है कि वर्तमान में पूरे तिब्बत में विभिन्न स्तर और विभिन्न प्रकार वाले स्कूलों की कुल संख्या 3,339 हो चुकी है। स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों की कुल संख्या 9 लाख 22 हजार तक पहुंच चुकी है, जो पूरे तिब्बत की कुल जनसंख्या की एक चौथाई है। पूर्व-स्कूली शिक्षा की सकल नामांकन दर, नौ वर्षीय अनिवार्य शिक्षा की समेकन दर, वरिष्ठ माध्यमिक शिक्षा की सकल नामांकन दर, और उच्च शिक्षा की सकल नामांकन दर क्रमश: 87.71 प्रतिशत, 96.94 प्रतिशत, 90.25 प्रतिशत और 56.31 प्रतिशत तक हो गयी है। कामकाजी उम्र की आबादी की शिक्षा का औसत वर्ष 10.2 वर्ष तक पहुंच गया है।

सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्रWikimedia

उनके अलावा पूरे चीन के 22 प्रांतों या केंद्र शासित शहरों में स्थित 111 स्कूलों में तिब्बत क्लास की स्थापना भी की गयी। 37 वर्षों में तिब्बत क्लास ने समाज के विभिन्न क्षेत्रों के लिये 50 हजार से अधिक विशेष प्रतिभाओं को तैयार किया है। साथ ही तिब्बत के लिए शैक्षिक प्रतिभा समूह-शैली सहायता तंत्र को भी गहरा किया गया है। 17 प्रांतों व शहरों के स्कूलों ने तिब्बत के 21 स्कूलों को सहायता दी। जिससे तिब्बत में शिक्षा की गुणवत्ता और प्रबंध काफी हद तक उन्नत हो गया है।

आईएएनएस/PT

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com