ऑनलाइन सट्टेबाजी के विज्ञापन नही दिखाएंगे ओटीटी प्लेटफॉर्म और समाचार वेबसाइट्स: केंद्र सरकार

सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने पाया कि सट्टेबाजी प्लेटफार्मों की प्रचार सामग्री और विज्ञापन अभी भी कुछ समाचार प्लेटफार्मों और ओटीटी प्लेटफार्मों पर दिखाई दे रहे हैं।
ओटीटी प्लेटफॉर्म पर ऑनलाइन सट्टेबाजी के विज्ञापन नही
ओटीटी प्लेटफॉर्म पर ऑनलाइन सट्टेबाजी के विज्ञापन नही IANS

केंद्र सरकार ने सोमवार को ऑनलाइन समाचार वेबसाइटों और ओटीटी प्लेटफॉर्मों (OTT Platform) को ऑनलाइन सट्टेबाजी प्लेटफॉर्म के विज्ञापनों को प्रसारित करने से परहेज करने की सलाह दी। सरकार ने नोट किया है कि सट्टेबाजी एक अवैध गतिविधि है और इसके विज्ञापन भारत में डिजिटल समाचार प्लेटफार्मों पर नहीं दिखाए जाने चाहिए।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय (Ministry of Information and Broadcasting) ने पाया कि सट्टेबाजी प्लेटफार्मों की प्रचार सामग्री और विज्ञापन अभी भी कुछ समाचार प्लेटफार्मों और ओटीटी प्लेटफार्मों पर दिखाई दे रहे हैं।

मंत्रालय ने डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म के लिए एक एडवाइजरी में कहा, "इस मंत्रालय के संज्ञान में यह भी आया है कि कुछ ऑनलाइन ऑफशोर बेटिंग प्लेटफॉर्म (Online offshore betting platform) ने डिजिटल मीडिया पर सट्टेबाजी प्लेटफॉर्म का विज्ञापन करने के लिए समाचार वेबसाइटों का उपयोग सरोगेट उत्पाद के रूप में करना शुरू कर दिया है।"

ओटीटी प्लेटफॉर्म पर ऑनलाइन सट्टेबाजी के विज्ञापन नही
फ़िल्मों को 'OTT' पर रिलीज़ करना आसान नहीं : सेल्वाकुमार

मंत्रालय ने कहा कि ऑनलाइन विज्ञापन बिचौलियों को भी सलाह दी जाती है कि वे ऐसे विज्ञापनों को भारतीय दर्शकों के लिए लक्षित न करें।

मंत्रालय ने कहा, "यह देखा गया है कि चूंकि सट्टेबाजी और जुआ अवैध हैं, इसलिए ऑनलाइन अपतटीय सट्टेबाजी और जुआ प्लेटफार्मों के विज्ञापन प्रतिबंधित हैं। इस संबंध में, यह ध्यान दिया जा सकता है कि सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती दिशानिर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम 2021 के अनुसार, सट्टेबाजी प्लेटफार्मों के विज्ञापन, एक अवैध गतिविधि होने के कारण, डिजिटल मीडिया पर नहीं दिखाए जा सकते हैं।"

ऑनलाइन सट्टेबाजी प्लेटफार्मों द्वारा संचालित सरोगेट समाचार वेबसाइटों के विज्ञापनों के संबंध में, यह उल्लेख किया जा सकता है कि संबंधित समाचार वेबसाइटों के लोगो सट्टेबाजी मंच के समान ही हैं।

 सट्टेबाजी प्लेटफार्मों की प्रचार सामग्री अभी भी मौजूद
सट्टेबाजी प्लेटफार्मों की प्रचार सामग्री अभी भी मौजूदWikimedia commons

संबंधित सट्टेबाजी प्लेटफॉर्म और संबंधित समाचार वेबसाइटें भी भारतीय कानूनों के तहत किसी भी कानूनी प्राधिकरण के साथ पंजीकृत नहीं हैं।

तदानुसार, ऑनलाइन और अपतटीय सट्टेबाजी प्लेटफॉर्म समाचारों की आड़ में सरोगेट विज्ञापन के रूप में सट्टेबाजी और जुए को बढ़ावा दे रहे हैं।

इस संबंध में, उपभोक्ता मामलों के विभाग ने यह भी कहा है कि ऑनलाइन सट्टेबाजी प्लेटफॉर्म खुद को पेशेवर खेल ब्लॉग, खेल समाचार वेबसाइट आदि के रूप में विज्ञापन दे रहे हैं, जबकि ऑनलाइन सट्टेबाजी प्लेटफार्मों की एक संकेतक सूची प्रदान करते हैं जो सरोगेट विज्ञापन के लिए समाचार का उपयोग कर रहे हैं।

(आईएएनएस/PT)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com