आधार कार्ड का इस्तेमाल आत्मविश्वास के साथ करें नागरिक: यूआईडीएआई

आधार- एक निवासी की डिजिटल आईडी- देश भर में ऑनलाइन और ऑफलाइन पहचान सत्यापन के एकल स्रोत के रूप में काम करता है।
आधार कार्ड का इस्तेमाल आत्मविश्वास के साथ करें नागरिक (IANS)

आधार कार्ड का इस्तेमाल आत्मविश्वास के साथ करें नागरिक (IANS)

यूआईडीएआई

लाभ और सेवाओं का लाभ उठाने के लिए लोग आत्मविश्वास के साथ अपने आधार कार्ड (Aadhar Card) का उपयोग कर सकते हैं, लेकिन बैंक खाते, स्थायी खाता संख्या (पैन), या पासपोर्ट सहित किसी भी अन्य पहचान दस्तावेज की तरह ही इसे भी सुरक्षित रखें, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने शुक्रवार को यह बात कही। आधार- एक निवासी की डिजिटल आईडी- देश भर में ऑनलाइन और ऑफलाइन पहचान सत्यापन के एकल स्रोत के रूप में काम करता है।

यूआईडीएआई ने एक एडवाइजरी में कहा- आधार को किसी भी विश्वसनीय संस्था के साथ साझा करते समय, उसी स्तर की सावधानी बरती जाए, जो एक मोबाइल नंबर, बैंक खाता संख्या या पासपोर्ट, वोटर आईडी, पैन, राशन कार्ड, आदि जैसे किसी अन्य पहचान दस्तावेज को साझा करते समय किया जाता है।

<div class="paragraphs"><p>आधार कार्ड का इस्तेमाल आत्मविश्वास के साथ करें नागरिक (IANS)</p></div>
Success Tips: अपने रूटीन में शामिल करें ये आदतें, सफलता आपके कदमों में होगी

यदि कोई निवासी अपना आधार नंबर साझा करने में सहज नहीं है तो यूआईडीएआई वर्चुअल पहचानकर्ता (वीआईडी) की सुविधा भी प्रदान करता है। वीआईडी को दो तरह से जनरेट किया जा सकता है- आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर माईआधार पोर्टल के माध्यम से। इसे कैलेंडर दिवस की समाप्ति के बाद बदला जा सकता है। अतिरिक्त सुरक्षित रहने के लिए आधार लॉकिंग के साथ-साथ बायोमेट्रिक लॉकिंग की सुविधा भी उपलब्ध है।

यूआईडीएआई ने कहा, यदि किसी निवासी के कुछ समय के लिए आधार का उपयोग करने की संभावना नहीं है, तो वह ऐसी समयावधि के लिए आधार या बायोमेट्रिक्स को लॉक कर सकता है। इसे आसानी से और तुरंत अनलॉक किया जा सकता है। यूआईडीएआई, जिसके पास तकनीकी रूप से उन्नत पारिस्थितिकी तंत्र है, एक निवासी को अपनी वेबसाइट या एम-आधार ऐप पर पिछले छह महीनों के लिए अपने प्रमाणीकरण इतिहास पर नजर रखने में मदद करता है। इसके अलावा, यह अपने निवासियों को ईमेल पर हर प्रमाणीकरण के बारे में सूचित करता है।

<div class="paragraphs"><p>आधार कार्ड</p></div>

आधार कार्ड

Wikimedia

इसमें कहा गया है, ईमेल आईडी (E-mail Id) को आधार से लिंक करने से यह सुनिश्चित होगा कि निवासी को हर बार उसकी आधार संख्या प्रमाणित होने की सूचना मिलती है। यूआईडीएआई के अनुसार, ओटीपी-आधारित आधार प्रमाणीकरण के साथ विभिन्न सेवाओं का लाभ उठाने के लिए आधार के साथ अपने मोबाइल नंबर को अपडेट करना एक स्मार्ट कदम होगा। यूआईडीएआई ने निवासियों से यह भी अनुरोध किया है कि वह आधार पत्र/पीवीसी कार्ड या उसकी प्रति को बिना निगरानी के न छोड़ें। अपने आधार को सार्वजनिक रूप से सार्वजनिक रूप से साझा न करें, विशेष रूप से सोशल मीडिया और अन्य सार्वजनिक प्लेटफार्मों पर। आधार धारकों को किसी भी अनधिकृत संस्था को आधार ओटीपी का खुलासा नहीं करना चाहिए और किसी के साथ एम-आहार पिन साझा करने से बचना चाहिए।

आधार धारक आधार के किसी भी अनधिकृत उपयोग के संदेह या आधार से संबंधित किसी अन्य मामले में 24*7 उपलब्ध टोल-फ्री हेल्पलाइन 1947 पर यूआईडीएआई से संपर्क कर सकते हैं।

आईएएनएस/PT

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com