अन्ना विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग छात्रों को तमिल संस्कृति जानना जरूरी

तमिलनाडु में अन्ना विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग छात्रों को अब अपने इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम में राज्य की विरासत और संस्कृति को जानना-समझना होगा।
अन्ना विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग छात्रों को तमिल संस्कृति जानना जरूरी
अन्ना विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग छात्रों को तमिल संस्कृति जानना जरूरीIANS

तमिलनाडु में अन्ना विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग छात्रों को अब अपने इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम में राज्य की विरासत और संस्कृति को जानना-समझना होगा। विश्वविद्यालय ने इसके लिए दो अनूठे पाठ्यक्रम तैयार किए हैं। यह पाठ्यक्रम इस तरह से है-पहला, अरिवियाल तमिल (तमिल में वैज्ञानिक विचार और अध्ययन) है और दूसरा, तमिलार मारबू (तमिलों की विरासत) है।

विश्वविद्यालय ने इन दोनों पाठ्यक्रमों को सभी इंजीनियरिंग छात्रों के लिए अनिवार्य कर दिया है, जिसमें पहले सेमेस्टर के लिए अरिवियाल तमिल और दूसरे सेमेस्टर के लिए तमिलार मारबू पढ़ाया जा रहा है।

राज्य की समृद्ध संस्कृति और विरासत में छात्रों को अंतर्दृष्टि प्रदान करने के लिए पाठ्यक्रम पढ़ाए जाते हैं। पाठ्यक्रम छात्रों को इंजीनियरिंग तकनीकों के बारे में विस्तृत जानकारी भी प्रदान करेंगे जो कि तमिलनाडु में वास्तुशिल्प चमत्कारों के निर्माण के लिए प्रचलित थे।

अन्ना विश्वविद्यालय के कुलपति, आर.वेलराज ने IANS को बताया कि पाठ्यक्रमों के लिए पाठ्यक्रम तैयार किया जा रहा है और पहले सेमेस्टर की कक्षाएं शुरू होने से पहले जारी किया जाएगा।

उन्होंने यह भी कहा कि विश्वविद्यालय ने इन दोनों विषयों को इंजीनियरिंग अध्ययन के हिस्से के रूप में शामिल करने का फैसला किया है, ताकि छात्रों को समृद्ध तमिल सांस्कृतिक विरासत को समझा जा सके और छात्रों को अपनी जड़ों से जोड़ा जा सके, इसकी सराहना की जा सके और इसे संरक्षित किया जा सके।

कुलपति ने यह भी कहा कि पाठ्यक्रम सामग्री तमिल और अंग्रेजी दोनों में छपी होगी। उन्होंने कहा कि प्राथमिकता केवल तमिल भाषा में सामग्री तैयार करने की थी, क्योंकि इससे छात्रों को मातृभाषा पर बेहतर पकड़ बनाने में मदद मिलेगी।

हालांकि, राज्य के बाहर के कई छात्रों के साथ-साथ CBSE स्ट्रीम के तहत उत्तीर्ण होने वाले छात्रों को भी तमिल में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है, सामग्री अंग्रेजी में भी तैयार की जा रही है।

अन्ना विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग छात्रों को तमिल संस्कृति जानना जरूरी
इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने ज्योतिषशास्त्र और अनुष्ठानों के पाठ्यक्रम किए शुरू

अन्ना विश्वविद्यालय ने छात्रों की अंग्रेजी भाषा दक्षता में सुधार के लिए पहले सेमेस्टर के लिए एक अंग्रेजी व्यावहारिक प्रयोगशाला को एक पेपर के रूप में भी शामिल किया है।

संचार प्रयोगशाला में दूसरे सेमेस्टर के दौरान छात्रों को दूसरी विदेशी भाषा भी सिखाई जाएगी। अन्ना विश्वविद्यालय के अधिकारियों के अनुसार, छात्रों को उनके मुख्य सेमेस्टर पाठ्यक्रमों के अलावा फिनटेक और ब्लॉकचेन में विषय पढ़ाए जाएंगे।

(आईएएनएस/AV)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com