इस गांव में 12 साल की उम्र के बाद लड़कियां बदल जाती हैं लड़को में

इस गांव में पैदा होने वाली लड़कियां 12 साल की उम्र तक पहुंचते-पहुंचते लड़का बन जाती हैं। उनका लिंग अपने आप बदल जाता है और यहां तक कि उनकी आवाज मर्दों की तरह भारी हो जाती है।
Unique village : इस गांव के लोग बेटी पैदा तो करना चाहते हैं, लेकिन अपने आप लिंग परिवर्तन हो जाने की वजह से लड़कियों के पैदा होने पर निराश हो जाते हैं। (Wikimedia Commons)
Unique village : इस गांव के लोग बेटी पैदा तो करना चाहते हैं, लेकिन अपने आप लिंग परिवर्तन हो जाने की वजह से लड़कियों के पैदा होने पर निराश हो जाते हैं। (Wikimedia Commons)

Unique village : दुनिया में कई ऐसी अचंभित कर देने वाली जगहें हैं, जिनके रहस्य आज भी अनसुलझे हैं। इनमें से किसी जगह पर ज्यादातर जुड़वां बच्चे पैदा होते हैं, तो कोई बौनों का गांव है। इसमें से ही कुछ जगहें ऐसी भी हैं, जहां के लोग दिन रात सोते रहते हैं। लेकिन क्या आप ने किसी ऐसी जगह के बारे में सुना है, जहां पर महिलाओं के गर्भ से पैदा तो लड़कियां होती हैं, लेकिन बढ़ती उम्र के साथ वो लड़का बन जाती हैं? ये हैरान कर देने वाली बात को सही बताया जा रहा है। लेकिन आपको बता दें कि इस गांव ने केवल हम सभी को ही नहीं बल्कि शोधकर्ताओं से लेकर वैज्ञानिकों को भी हैरान कर रखा है। पिछले कई सालों से गांव को लेकर तरह - तरह के शोध किए जा रहे हैं, लेकिन लिंग परिवर्तन की असली वजह अब भी सामने नहीं आ पाई है।

मर्दों की तरह हो जाता है आवाज

इस गांव का नाम ला सेलिनास है, जो उत्तरी अमेरिकी देश डोमिनिकन रिपब्लिक में है। आपको जानकर आश्चर्य होगा, लेकिन बता दें कि इस गांव में पैदा होने वाली लड़कियां 12 साल की उम्र तक पहुंचते-पहुंचते लड़का बन जाती हैं। उनका लिंग अपने आप बदल जाता है और यहां तक कि उनकी आवाज मर्दों की तरह भारी हो जाती है। उनके पूरे शरीर में बाल उगने लगते हैं। इस गांव के लोग बेटी पैदा तो करना चाहते हैं, लेकिन अपने आप लिंग परिवर्तन हो जाने की वजह से लड़कियों के पैदा होने पर निराश हो जाते हैं। उनके घरों में उदासी छा जाती है। कई सालों से रिसर्चर्स शोध कर रहे हैं, लेकिन इसके बाद भी इसका कोई परिणाम सामने नहीं आया है।

यहां लिंग परिर्वतन का कारण एक अनुवांशिक बीमारी हो सकता है, जिसका नाम ‘सूडोहर्माफ्रडाइट’ है। (Wikimedia Commons)
यहां लिंग परिर्वतन का कारण एक अनुवांशिक बीमारी हो सकता है, जिसका नाम ‘सूडोहर्माफ्रडाइट’ है। (Wikimedia Commons)

अब तक नहीं पता लग पाया असली वजह

मेडिकल साइंस में जेंडर चेंज कराने के लिए सर्जरी का सहारा लिया जाता है, लेकिन इस गांव में लड़कियां अपने आप ही लड़का बन जाती हैं। कई रिसर्चर्स इसका जवाब ढूंढने की कोशिश कर चुके हैं। लेकिन किसी को अभी तक नहीं पता चला कि आखिर ऐसा कैसे हो जाता है। हालांकि, ज्यादातर लोग इस गांव को शापित मानते हैं।

कुछ जानकार का कहना है कि यहां लिंग परिर्वतन का कारण एक अनुवांशिक बीमारी हो सकता है, जिसका नाम ‘सूडोहर्माफ्रडाइट’ है। साइंटिस्ट्स का कहना है कि इस अनुवांशिक दोष की वजह से लड़की के तौर पर पैदा हुए बच्चों के अंग धीरे-धीरे पुरुष में बदलने लग जाते हैं। यानी कि लड़की अपने आप बिना सर्जरी के लड़का बन जाती है। अभी भी कई रिसर्चर्स इसकी जांच में लगे हैं, ताकि इसे रोका जा सके।

Related Stories

No stories found.
logo
hindi.newsgram.com