पुतिन से बोले मोदी,रूस और नाटो के बीच मतभेदों को केवल बातचीत से सुलझाया जा सकता है

0
14
रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Twitter)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) ने गुरुवार को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन(Vladimir Putin) से कहा कि उन्होंने यूक्रेन(Ukraine) में चल रहे संकट पर चर्चा की। राष्ट्रपति पुतिन ने मोदी को यूक्रेन के संबंध में हाल के घटनाक्रम के बारे में जानकारी दी। अपने लंबे समय से दृढ़ विश्वास को दोहराते हुए कि रूस और नाटो के बीच मतभेदों को केवल ईमानदार बातचीत के माध्यम से हल किया जा सकता है, प्रधानमंत्री ने हिंसा को तत्काल समाप्त करने की अपील की और राजनयिक के रास्ते पर लौटने के लिए सभी पक्षों से वार्ता और संवाद में ठोस प्रयास करने का आह्वान किया।

उन्होंने(Narendra Modi) यूक्रेन में भारतीय नागरिकों, विशेषकर छात्रों की सुरक्षा के संबंध में भारत की चिंताओं के बारे में रूसी राष्ट्रपति को भी अवगत कराया और बताया कि भारत उनके सुरक्षित निकास और भारत लौटने को सर्वोच्च प्राथमिकता देता है। दोनों नेताओं ने सहमति व्यक्त की कि उनके अधिकारी और राजनयिक दल सामयिक हित के मुद्दों पर नियमित संपर्क बनाए रखेंगे।

मोदी के पुतिन से बात करने से पहले विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला(Harsh Vardhan Shringla) ने भारत को ‘हितधारक’ और संघर्ष में एक ‘संबंधित पक्ष’ बताया। उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी(Narendra Modi) मौजूदा संकट पर रूसी राष्ट्रपति से बात करेंगे। श्रृंगला ने यह भी कहा था कि विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने यूरोपीय संघ और पड़ोसी देशों के कई मंत्रियों से बात की थी, जो फंसे हुए भारतीय नागरिकों को निकालने में मदद करेंगे।


यह भी पढ़ें-Russia-Ukraine Conflict: आखिर क्या कारण है रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध का?

एक हितधारक होने के बारे में, विदेश सचिव ने कहा, “हम सभी के संपर्क में हैं। हम जो कुछ भी करेंगे, वह हमारे लोगों के हित में होगा। हम संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्य के रूप में, उस क्षेत्र में दांव वाले देश के रूप में, फंसे हुए नागरिकों के साथ और सभी दलों के साथ संपर्क में हैं।” इसके अलावा उन्होंने यह भी बताया कि 4,000 भारतीय नागरिक यूक्रेन छोड़कर जा चुके हैं।

input : आईएएनएस ; Edited by Lakshya Gupta
न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here