Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
देश

यूपी के विकास की इबारत लिखेगा मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक्स हब

उत्तर प्रदेश का ग्रेटर नोएडा जल्द ही विश्व स्तरीय मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक्स का हब बनने वाला है। 7725 करोड़ के निवेश से बनने वाले मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक्स हब (एमएमएलएच) और मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब (एमएमटीएच) आने वाले समय में यूपी के विकास की नई इबारत लिखेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में बन रहे हब

उत्तर प्रदेश का ग्रेटर नोएडा जल्द ही विश्व स्तरीय मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक्स का हब बनने वाला है। 7725 करोड़ के निवेश से बनने वाले मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक्स हब (एमएमएलएच) और मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब (एमएमटीएच) आने वाले समय में यूपी के विकास की नई इबारत लिखेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में बन रहे हब में कई प्रकार की सुविधाएं होंगी। इस प्रोजेक्ट के लिए ग्रेटर नोएडा में एक नए प्राधिकरण इंटीग्रेटेड इंडस्ट्रियल टाउनशिप ऑफ ग्रेटर नोएडा लिमिटेड (आईआईटी जीएनएल) का गठन किया गया है। दादरी के पास 750 एकड़ भूमि में प्रोजेक्ट को पूरा करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और दोनों परियोजनाओं के लिए करीब 85 फीसदी भूमि का अधिग्रहण भी हो चुका है। उत्पादों को रखने के लिए वेयर हाउसिंग से लेकर कोल्ड स्टोरेज सहित अन्य सुविधाएं भी मिलेंगी। पूरे क्षेत्र को फ्रेट विलेज के रूप में विकसित किया जा रहा है।

आईआईटी जीएनएल के सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया कि ग्रेटर नोएडा अथारिटी दफ्तर से मात्र तीन किमी की दूरी पर बोड़ाकी रेलवे स्टेशन है और आने वाले समय में यहां से 15 ट्रेनें भी चलेंगी, जिससे यात्री देश में किसी भी स्थान पर जा सकेंगे।


मालूम हो कि बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ईस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (ईडीएफसी) के न्यू भाउपुर-न्यू खुर्जा खंड तथा ईडीएफसी के संचालन नियंत्रण केंद्र का उट्घाटन किया है। ईडीएफसी के तहत चलने वाली मालगाड़ियों का रेलवे स्टेशनों पर ठहराव नहीं किया जाएगा। इसके लिए पूरी तरह से अलग रेलवे ट्रैक पर चलने व जगह-जगह लॉजिस्टिक व वेयरहाउस पर ठहरने के लिए व्यवस्था की जा रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी । ( PIB )

बोड़ाकी रेलवे स्टेशन के पास स्थित एमएमटीएच परियोजना यात्रियों को रेल, सड़क और एमआरटीएस तक सुगम पहुंच के साथ एक परिवहन हब के रूप में काम करेगी। एमएमटीएच में अंतरराज्यीय बस टर्मिनल (आईएसबीटी), स्थानीय बस टर्मिनल (एलबीटी), मेट्रो, होटल और खुले हरियाली युक्त स्थलों के लिए स्थान उपलब्ध होगा।

एनसीआर का क्षेत्र

एनसीआर के उपक्षेत्र और भीड़भाड़ से युक्त दिल्ली को सेवाएं देने वाले इलाकों में तेजी से बढ़ती आबादी को विश्वस्तरीय यात्री परिवहन सुविधाएं मिलेंगी। इन परियोजनाओं से 1,00,000 लोगों के लिए रोजगार पैदा होने का अनुमान है और आसपास के इलाकों में विकास के अवसरों पर इसका सकारात्मक असर होगा। ग्रेटर नोएडा में एमएमएलएच और एमएमटीएच परियोजनाएं ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे, एनएच 91, नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे, यमुना एक्सप्रेस-वे, ईस्टर्न एंड वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर्स के नजदीक हैं।

यह भी पढ़ें : न्यूयॉर्क में 2020 में गोलीबारी की घटना में 97 प्रतिशत वृद्धि, 16 सालों में सर्वाधिक

दरअसल, लॉजिस्टिक हब के चयन के लिए सबसे जरूरी है कि ऐसी जगह हो जहां एक्सप्रेस-वे व हवाई मार्ग या बंदरगाह की व्यवस्था हो, ताकि वहां से खाद्यान व अन्य सामानों को लाने व ले जाने के लिए आसानी हो। केंद्र सरकार द्वारा ग्रेटर नोएडा में जहां यह मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब बनाया जा रहा है, वहां से लगभग 50 किलोमीटर की दूरी पर विश्वस्तरीय व भारत का सबसे बड़ा नोएडा अंतरराष्ट्रीय ग्रीनफील्ड हवाईअड्डा बनाया जा रहा है। इसके जरिए उत्पादित सामानों को तत्काल देश-विदेश भेजने की सुविधा होगी। यही नहीं, प्रदेश के भीतर सड़क मार्ग के जरिए यमुना एक्सप्रेस-वे से मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब तक पहुंचने में आसानी होगी। (आईएएनएस)

Popular

प्रमुख हिंदू नेता और श्री नारायण धर्म परिपालन योगम के महासचिव वेल्लापल्ली नतेसन (wikimedia commons)

हमारे देश में लव जिहाद के जब मामले आते है , तब इस मुद्दे पर चर्चा जोर पकड़ती है और देश कई नेता और जनता अपनी-अपनी राय को वयक्त करते है । एसे में एक प्रमुख हिंदू नेता और श्री नारायण धर्म परिपालन योगम के महासचिव वेल्लापल्ली नतेसन ने सोमवार को एक बयान दिया जिसमें उन्होनें कहा कि यह मुस्लिम समुदाय नहीं बल्कि ईसाई हैं जो देश में धर्मांतरण और लव जिहाद में सबसे आगे हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एनडीए के सहयोगी और भारत धर्म जन सेना के संरक्षक वेल्लापल्ली नतेसन नें एक कैथोलिक पादरी द्वारा लगाए गए आरोपों पर प्रतिक्रिया दी , जिसमे कहा गया था हिंदू पुरुषों द्वारा ईसाई धर्म महिलाओं को लालच दिया जा रहा है। नतेसन नें पाला बिशप जोसेफ कल्लारंगट की एक टिप्पणी जो कि विवादास्पद "लव जिहाद" और "मादक जिहाद" की भी जमकर आलोचना की और यह कहा कि इस मुद्दे पर "मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाना सही नहीं है"।

Keep Reading Show less

महंत नरेंद्र गिरि (Wikimedia Commons)

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की सोमवार को संदिग्ध हालात में मौत हो गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि को बाघंबरी मठ स्थित उनके आवास पर श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि दोषियों को जांच के बाद सजा दी जाएगी। उन्होंने कहा ''यह एक दुखद घटना है और इसी लिए अपने संत समाज की तरफ से, प्रदेश सरकार की ओर से उनके प्रति श्रद्धांजलि व्यक्त करने के लिए में स्वयं यहाँ उपस्थित हुआ हूँ। अखाड़ा परिषद और संत समाज की उन्होंने सेवा की है। नरेंद्र गिरि प्रयागराज के विकास को लेकर तत्पर रहते थे। साधु समाज, मठ-मंदिर की समस्याओं को लेकर उनका सहयोग प्राप्त होता था। उनके संकल्पों को पूरा करने की शक्ति उनके अनुयायियों को मिले''

योगी आदित्यनाथ ने कहा '' कुंभ के सफल आयोजन में नरेंद्र गिरि का बड़ा योगदान था। एक-एक घटना के पर्दाफाश होगा और दोषी अवश्य सजा पाएगा। मेरी अपील है सभी लोगों से की इस समय अनावश्यक बयानबाजी से बचे। जांच एजेंसी को निष्पक्ष रूप से कार्यक्रम को आगे बढ़ाने दे। और जो भी इसके लिए जिम्मेदार होगा उसको कानून की तहत कड़ी से कड़ी सजा भी दिलवाई जाएगी।

Keep Reading Show less

बसपा अध्यक्ष मायावती (Wikimedia Commons)

बहुजन समाज पार्टी(बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है। मायावती का कहना है कि कांग्रेस को अभी तक दलितों पर पूरा भरोसा नहीं है। मायावती ने सोमवार को कहा कि पंजाब के अगले मुख्यमंत्री के रूप में चरणजीत सिंह चन्नी की नियुक्ति एक चुनावी चाल है। मायावती ने कहा कि कांग्रेस ने समुदाय के वोट बटोरने की उम्मीद से एक दलित को पंजाब का सीएम बनाया। जब भी कांग्रेस मुसीबत में होती है तभी उसे दलितों की याद आती है।

मायावती ने चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनने की बधाई भी दी थी। पंजाब के दलितों को मायावती ने कांग्रेस से सावधान रहने को भी कहा है। मायावती ने कांग्रेस के साथ बीजेपी को भी लपेटे में ले लिया। उन्होंने कहा कि बीजेपी भी ऐसी ही है। वह भी ओबीसी समाज के लिए कुछ करना चाहती है तो करती क्यों नहीं है।

Keep reading... Show less