राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने धर्म संसद के भाषण मामले में लिया संज्ञान

0
14
हरिद्वार में धर्म संसद के दौरान भाषण देती हुईं साध्वी अन्नपूर्णा भारती।

हरिद्वार में धर्म संसद में अल्पसंख्यकों के खिलाफ नफरत भरे भाषण (Hate Speech in Haridwar) देने वाले मामले के तूल पकड़ने पर राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग (National Commission For Minorities) ने संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है। आयोग के अध्यक्ष इकबाल सिंह लालपुरा ने कहा कि, यह देश सबका है, कोई भी आदमी बाहर का नहीं है। हमें सबके लिए बराबरी का माहौल पैदा करना है। देश की सुरक्षा व विकास की बात आती है तो अल्पसंख्यकों ने भी इसमें योगदान दिया है।

दरअसल हरिद्वार में धर्म संसद के दौरान दिए एक भाषण का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ। इसमें समाज को लेकर नफरत फैलाने वाले भाषण दिए गए थे।


Mahamandaleshwar Yati Narsinghanand Giri | Sadhvi Annapurna bharti | Dharm Sansad | Vishalviews

youtu.be

आयोग (NCM) अध्यक्ष ने आगे कहा कि, यह देश संविधान के अनुरूप चल रहा है, हमारे पास कानून व्यवस्था और जस्टिस सिस्टम दोनों हैं और जिधर भी इनका उल्लंघन होता है हम कार्यवाही करते हैं। हमारा आयोग भी अच्छा काम कर रहा है, देश की सुरक्षा व विकास की बात आती है तो अल्पसंख्यकों का भी इसमें योगदान रहा है।

आयोग (NCM) ने बताया कि, हमने कई मामलों पर राज्य सरकारों को नोटिस जारी किया है, जिसमें लखीमपुर खीरी, धर्म संसद, पंजाब के दीनानगर में कब्रिस्तान में मिट्टी की खुदाई आदि मामले शामिल हैं।

यह भी पढ़ें : अफ्रीकी देशों को खूब रास आ रहा झारखंड का चावल

वहीं राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष आतिफ रशीद ने कहा कि, देश नफरत से नहीं चलेगा, देश के कानून के खिलाफ जो व्यक्ति काम करेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। किसी भी व्यक्ति को किसी के जज्बातों से खेलने की इजाजत नहीं है। हमारे लिए हर जिंदगी महत्वपूर्ण है चाहे वो हिन्दू हो या मुसलमान। आयोग कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं करेगा यदि कोई करेगा तो हम कानूनी कार्यवाही करेंगे। (आईएएनएस)

Input: IANS ; Edited By: Manisha Singh

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here