5जी तकनीक से भारत डिजिटल सशक्तिकरण के लक्ष्य को हासिल करने में सक्षम

5जी तकनीक नेटवर्क प्रदर्शन में महत्वपूर्ण सुधार पेश करेगा। इससे उद्योगों और समाज को बदलने की संभावना है
भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई)
भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई)IANS

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के अध्यक्ष डॉ. पी.डी. वाघेला ने शुक्रवार को कहा कि 5जी तकनीक (5G technology) के आने से भारत डिजिटल (digital) सशक्तिकरण के लक्ष्य को हासिल करने में सक्षम होगा और इससे लोगों को काफी फायदा होगा। उन्होंने एक कार्यशाला में कहा, 5जी तकनीक नेटवर्क प्रदर्शन में महत्वपूर्ण सुधार पेश करेगा। इससे उद्योगों और समाज को बदलने की संभावना है, जिससे देश एक अभूतपूर्व विकास पथ पर आ जाएगा। 5जी का विभिन्न उद्योगों और समग्र अर्थव्यवस्था पर व्यापक प्रभाव पड़ेगा। 117 करोड़ दूरसंचार ग्राहकों और 82.5 करोड़ ब्रॉडबैंड (broadband) ग्राहकों के साथ भारत अब दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा दूरसंचार बाजार है।

5जी
5जीWikimedia

उन्होंने कहा कि भारत (India) ने दो चीजों के लिए प्रौद्योगिकी को एक प्रमुख तत्व माना है, एक तीव्र आर्थिक विकास के लिए और दूसरा सामाजिक और डिजिटल समावेश के लिए। उनके अनुसार, डिजिटल इंडिया (Digital India) कार्यक्रम ने प्रौद्योगिकी के उपयोग को बढ़ाने में बहुत मदद की है और डिजिटल इंडिया से विभिन्न क्षेत्रों में भारी बदलाव देखा है।

ट्राई प्रमुख ने कहा- सरकार का मुख्य फोकस वंचित लोगों सहित सभी को इंटरनेट (internet) और डिजिटल पहुंच प्रदान करना है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि समाज के हर वर्ग को किसी भी कीमत पर कनेक्टिविटी मिले। सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए नई डिजिटल तकनीक को अपनाने की आवश्यकता के बारे में वाघेला ने कहा कि आज की दुनिया में अर्थव्यवस्था और सामाजिक जीवन का डिजिटलीकरण अत्यंत महत्वपूर्ण है।

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई)
वित्त मंत्रालय ने किया इंडिया इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट डेवलपमेंट फंड स्कीम अधिसूचित

डिजिटल साक्षरता और डिजिटल बुनियादी ढांचे की आवश्यकता पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि डिजिटल बुनियादी ढांचे का विकास और हर घर में कनेक्टिविटी जरूरी है और यही एकमात्र तरीका है जिससे एक आम नागरिक अर्थव्यवस्था (economy) में उपलब्ध अवसरों का पता लगाने में सक्षम हो जाता है।

आईएएनएस/RS

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com