भारत की पहली Bullet Crushing मशीन भोपाल में हुई स्थापित

राज्य शूटिंग अकादमी में 50 मीटर फायनल शूटिंग रेंज का कार्य प्रगति पर है। इसके पूर्ण होने पर एशिया कप और अन्य अंतर्राष्ट्रीय शूटिंग प्रतियोगिताएँ आयोजित की जा सकेंगी।
भारत की पहली Bullet Crushing मशीन भोपाल में हुई स्थापित
भारत की पहली Bullet Crusher मशीन भोपाल में हुई स्थापितWikimedia Commons

भोपाल (Bhopal) में देश की पहली बुलेट क्रशर मशीन (Bullet Crushing) स्थापित की गई है। इस मशीन के चलते कारतूस का दोबारा उपयोग नहीं किया जा सकेगा। आधिकारिक तौर पर दी गई जानकारी के अनुसार, यह Bullet Crushing मशीन की स्थापना राज्य शूटिंग अकादमी में की गई। इस मशीन के द्वारा इस्तेमाल किये गये कारतूस के शेल को नष्ट किया जाता है। इस व्यवस्था से कारतूस का दुरूपयोग नहीं होगा।

खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा मध्यप्रदेश राज्य शूटिंग अकादमी में शूटिंग की शॉटगन, पिस्टल और रायफल विधाओं में लगभग 100 से अधिक खिलाड़ी प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। इन खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय प्रशिक्षक मनशेर सिंह, जसपाल राणा तथा सुमा शिरूर प्रषिक्षण दे रहे हैं। इसके अतिरिक्त खिलाड़ियों के लिए न्यूट्रीशियन, सायकोलॉजिस्ट, स्पोटर्स साइंस डॉक्टर, स्ट्रेन्थ एण्ड कंडीशनिंग प्रशिक्षक भी उपलब्ध हैं।

भारत की पहली Bullet Crusher मशीन भोपाल में हुई स्थापित
Bhopal Gas Tragedy : आज भी कहीं अपाहिज नजर आते हैं तो कहीं हांफते, घिसते लोग

बताया गया है कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं के लिए पृथक से फायनल शूटिंग रेंज की आवश्यकता होती है। इसके लिए राज्य शूटिंग अकादमी में 50 मीटर फायनल शूटिंग रेंज का कार्य प्रगति पर है। इसके पूर्ण होने पर एशिया कप और अन्य अंतर्राष्ट्रीय शूटिंग प्रतियोगिताएँ आयोजित की जा सकेंगी।
(आईएएनएस/PS)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com